निजी स्कूल पहली से आठवी तक ऑनलाइन परीक्षा, 9वीं और 11वीं के छात्र इम्तिहान दे सकेंगे ऑनलाइन-ऑफलाइन

 

- स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने स्कूल प्रबंधन पर परीक्षा लेने का निर्णय छोड़ा
- कोविड गाइड लाइन का पालन करते हुए परीक्षा लेने का दिया निर्देश

By: Bhupesh Tripathi

Published: 05 Mar 2021, 12:43 AM IST

रायपुर। कोरोना संक्रमण काल में छात्रहित के मद्देनजर स्कूलों की परीक्षाएं ऑनलाइन और ऑफलाइन तरीके से आयोजित कराई जाएगी। स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने प्रदेश के स्कूल प्रबंधकों को स्वयं निर्णय लेने का निर्देश जारी किया है।

स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों से निर्देश मिलने के बाद छत्तीसगढ़ प्रायवेट स्कूल एसोसिएशन के बैनर तले स्कूल का संचालन करने वाले संचालकों ने कक्षा पहली से कक्षा आठवी तक की परीक्षा ऑनलाइन कराने का निर्णय लिया है। कक्षा-9वीं और 11वीं की परीक्षाएं स्कूल के जिम्मेदार ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से आयोजित कराएंगे। परीक्षा देने के पैटर्न पर निर्णय छात्र ले सकेंगे, लेकिन उत्तर पुस्तिका किस तरह से चेक की जाएंगी, यह निर्णय प्रबंधन लेगा।

कोविड गाइड लाइन का करना होगा स्कूल
प्रदेश के स्कूल संचालकों को परीक्षा के दौरान कोविड गाइड लाइन का पालन करना होगा। जिस स्कूल में गाइड लाइन का उल्लंघन होगा, वहां की शिकायत मिलने पर स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों द्वारा प्रबंधन पर कार्रवाई की जाएगी। फीस ना मिलने के एवज में स्कूल प्रबंधक छात्रों को परीक्षा से वंचित नहीं कर सकते है। जो स्कूल प्रबंधक स्कूल शिक्षा विभाग के निर्देशों का उल्लंघन करेंगे, उनके खिलाफ मान्यता रद्द करने की कार्रवाई की जाएगी।

शासकीय स्कूल में आकलन से होंगे पास
निजी स्कूलों के साथ ही शासकीय स्कूलों को परीक्षा के संबंध में पूर्व में निर्देश जारी किया गया है। शासकीय स्कूल में पढऩे वाले कक्षा-1 से कक्षा-8वीं तक के छात्रों को आकलन के आधार पर पास किया जाएगा। कक्षा-9वीं और 11वीं के इम्तहान स्कूल प्रबंधन अपने स्तर पर लेगा। प्रदेश के शासकीय स्कूल के जिम्मेदार परीक्षाएं ऑफलाइन व ऑनलाइन दोनों तरीकों से कराने के लिए तैयार है, लेकिन शासन से स्पष्ट निर्देश मिलने के बाद परीक्षा के संबंध में जवाब देने की बात विभागीय अधिकारी कर रहे है।

छात्रहित में पत्रिका ने उठाया था मुद्दा
कोरोना संक्रमण काल में नौनिहालों को राहत मिले, इसलिए पत्रिका ने ऑनलाइन परीक्षा आयोजित कराने का मुद्दा उठाया था। पत्रिका की इस मुहिम को पालको व एनएसयूआई का साथ मिला। पत्रिका टीम ने निजी स्कूलों के प्रबंधकों के अलावा, शासकीय अधिकारियों से चर्चा की और परीक्षा ऑनलाइन आयोजित कराने का आग्रह किया। विभगीय अधिकारियों और निजी स्कूल के संचालको ने बात को समझा और छात्रहित में परीक्षाएं ऑनलाइन व ऑफलाइन दोनों तरीको से कराने का निर्णय लिया है।

एसोसिएशन के बैनर तले संचालित स्कूलों ने कक्षा पहली से लेकर कक्षा आठवी तक की परीक्षाएं ऑनलाइन कराने एवं कक्षा 9वीं व 11वीं की परीक्षा दोनो तरीकों से कराने का निर्णय लिया है। छात्र परीक्षा का पैटर्न चुन सकेंगे, लेकिन इससे पूर्व उन्हें आवेदन देना होगा। छात्रहित पर यह निर्णय लिया गया है।
राजीव गुप्ता, अध्यक्ष
- छत्तीसगढ़ प्रायवेट स्कूल एसोसिएशन
-----

परीक्षा आयोजित कराने का निर्णय स्कूल ले सकते है। कोविड गाइड लाइन का पालन कराते हुए स्कूलों में परीक्षाओं का आयोजन कराने का निर्देश दिया गया है। गाइड लाइन का उल्लंघन करने वालों पर जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी।
- जितेंद्र शुक्ला, संचालक, स्कूल शिक्षा विभाग

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned