100 टन बिकने वाला आलू-प्याज एक ही दिन में 400 टन बिका, रिटेल में जमकर मुनाफाखोरी, सब्जियां महंगी

लॉकडाउन के एक दिन पहले राजधानी के प्रमुख बाजारों में चिल्हर की महंगाई ने आसमान छू लिया। आलू-प्याज से लेकर किराना सामानों में जमकर मुनाफाखोरी हुई।

By: Ashish Gupta

Updated: 09 Apr 2021, 11:18 AM IST

रायपुर. लॉकडाउन (Lockdown) के एक दिन पहले राजधानी के प्रमुख बाजारों में चिल्हर की महंगाई ने आसमान छू लिया। आलू-प्याज से लेकर किराना सामानों में जमकर मुनाफाखोरी हुई। थोक में आलू-प्याज से लेकर सब्जियां सस्ती रही, लेकिन चिल्हर बाजार में महंगाई की वजह से आम ग्राहकों को काफी तकलीफों का सामना करना पड़ा। कई ग्राहक चिल्हर सामान लेने के लिए थोक बाजार पहुंच गए। यहां डूमरतराई थोक सब्जी और किराना बाजार में भी लोगों की लाइन लगी रही, वहीं भनपुरी स्थित थोक आलू-प्याज बाजार में भी ग्राहकों की भीड़ लगी रही।

दोनों बाजारों ने खाद्य विभाग के अधिकारियों ने दौरा किया। कई जगह जांच-पड़ताल भी हुई। राजधानी में आलू-प्याज की खपत कोरोनाकाल में 100 से 150 टन हैं, लेकिन गुरूवार को 400 टन तक की बिक्री हो गई। 5 किलो की जगह कई ग्राहकों ने 50 किलो तक की खरीदारी की। ये नजारा अन्य सामानों में भी रहा। गोलबाजार, शास्त्री बाजार, गुढिय़ारी थोक किराना व अन्य बाजारों में ग्राहकों ने खरीदारी करते समय सोशल डिस्टेसिंग और अन्य नियमों को भी दरकिनार कर दिया।

यह भी पढ़ें: लॉकडाउन के लिए नई गाइडलाइन: अब विवाह, अंत्येष्टि में शामिल होने केवल इतने लोगों को मिलेगी अनुमति

आलू-प्याज 15 रुपए से नीचे, चिल्हर में 50 तक बिका
राजधानी के कई बाजारों में आलू-प्याज 40 से 50 रुपए तक पहुंच गई, जबकि भनपुरी थोक बाजार में आलू 11 रुपए व प्याज प्रति किलो 13 से 14 रुपए में बिका। चिल्हर बाजार में कई स्थानों पर आलू प्याज वाजिब की कीमत पर यानि 20 रुपए किलो पर भी बिकने की जानकारी मिली। भनपुरी थोक आलू-प्याज व्यापारी संघ के अध्यक्ष अजय अग्रवाल ने बताया कि हमने खाद्य विभाग से मांग की है कि मुनाफाखोरी करने वाले रिटेल दुकानदारों पर कड़ी कार्यवाही हो।

सब्जियों की महंगाई मेंं आग
गुरूवार को चिल्हर बाजार में सब्जियां थोक के मुकाबले दो से तीन गुणा की कीमत पर बिकी। डूमरतराई थोक बाजार में टमाटर 100 से 300 रुपए कैरेट यानि 4 से 12 रुपए की कीमत पर बिका, लेकिन चिल्हर में टमाटर की कीमतें 40 से 50 रुपए तक पहुंच गई। शास्त्री बाजार में हालांकि टमाटर 25 से 30 रुपए में बिका, लेकिन अन्य बाजारों में जमकर मुनाफाखोरी हुई।

यह भी पढ़ें: चैत्र नवरात्रि पर कोरोना का असर: बंद रहेंगे देवी मंदिरों के दरवाजे, नहीं जलेगी मनोकामना ज्योत

आज भी मुनाफाखोरी
रिटेल बाजारों में आज भी महंगाई का झटका लगने की आशंका है। थोक कारोबारियों का कहना है कि डिमांड की वजह से थोक की कीमतें हल्की बढ़ सकती है, लेकिन इसका फायदा चिल्हर कारोबारी फिर उठा सकते हैं। लॉक-डाउन लगने के पहले 9 अप्रैल की शाम 6 बजे के पहले तक खरीदारी होगी।

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned