गोगांव फाटक पर अंडरब्रिज के अधूरे निर्माण को लेकर खींचतान, पीक सीजन में रेलवे नहीं ब्लाक

- हर 15 से 20 मिनट में फाटक बंद होने से भड़के लोग, सीएम को भेजा पत्र

By: Bhupesh Tripathi

Published: 01 Mar 2020, 08:18 AM IST

रायपुर. शहर की बड़ी आबादी से घिरे गोगांव फाटक पर अधूरे अंडरब्रिज निर्माण के कारण लोग परेशान हैं। दूसरी तरफ लोक निर्माण के ब्रिज डिवीजन और ठेकेदार में जोरआजमाइश का खेल चल रहा है। वहीं रेलवे साफ कर दिया है कि गर्मी के पीक सीजन में मालगाड़ी रूट पर ब्लाक देना संभव नहीं है। हैरानी की बात यह है कि पांच नोटिस जारी करने के बाद न तो ठेकेदार को निलंबित किया गया न ही निर्माण में तेजी लाने पर सख्ती बरती जा रही है। इससे परेशान फाटक के दोनों तरफ के लोगों में आक्रोश है। मोहल्ला समिति बनाकर मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर तेजी से निर्माण कराने की मांग की है।

उरकुरा से सरोना जाने वाली मालगाड़ी लाइन पर गोगांव सबसे बड़ी क्रासिंग है। इस कारण हर 15 से 20 मिनट में फाटक बंद होता है। दोनों तरफ रहवासी क्षेत्र होने से बच्चों को स्कूल जाने में सबसे अधिक दिक्कतें होती हैं। फाटक पर ट्रैफिक जाम में ही 20 से 25 मिनट फंस कर रह जाते हैं। लोगों का कहना है कि फाटक के गोगांव तरफ का क्षेत्र ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र में और दूसरी तरफ का क्षेत्र रायपुर पश्चिम क्षेत्र में आता है। इसके बावजूद कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। पिछले दो वर्षों में फाटक के गोगांव तरफ अंडरब्रिज का बॉक्स खतरनाक स्थिति में बना हुआ है। ठेकेदार उस हिस्से को खुला छोड़ दिया है। जबकि किनारे में बस्ती के लोग रहते हैं, जिससे हमेशा दुर्घटना का खतरा बना हुआ है।

संत कबीरदास वार्ड के लोगों में आक्रोश
रेलवे फाटक के आसपास का क्षेत्र संत कबीरदास वार्ड क्रमांक तीन में आता है। इस फाटक पर अंडरब्रिज ठप होने या फिर कभी-कभार कछुआ गति से चलने के कारण लोग परेशान हैं। फाटक के पास धरना-प्रदर्शन करने के बाद निर्माण में तेजी लाने के कदम नहीं उठाए गए। गोगांव के भीमकुमार साहू और लक्ष्मीनारायण साहू ने बताया कि मुख्यमंत्री को सभी मोहल्लावासियों के हस्ताक्षर से कलेक्टर को पत्र भेजा है। इसके बावजूद यदि तेजी से निर्माण शुरू नहीं किया गया तो उग्र आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे।

गोगांव रेलवे फाटक पर पिछले दो वर्षों से अंडरब्रिज का निर्माण अधूरा पड़ा है। जिसे पीडब्लयूडी को पूरा कराना है। गर्मी के पीक सीजन में मालगाड़ी रूट पर लगातार परिचालन जारी रहता है, इस वजह से ब्लॉक देना मुश्किल होता है। इस संबंध में पहले ही निर्माण विभाग को अवगत कराया जा चुका है।
शिव प्रसाद पंवार, सीनियर पब्लिसिटी इंस्पेक्टर, रेलवे

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned