कोरोना वायरस से है बचना, छोड़ दें थूक का इस्तेमाल करना

कोरोना वायरस तो अभी आया है, बल्कि थूक और लार से तो कई तरह की बीमारी टीबी व अन्य (विशेषकर श्वसनतंत्र की बीमारियां ) के संक्रमण का खतरा रहता है। डॉ. मीरा बघेल, सीएमएचओ, रायपुर का कहना है कि थूकने से भी कोरोना का संक्रमण फैलता है।

By: Karunakant Chaubey

Published: 26 Jun 2020, 06:07 PM IST

रायपुर. कोरोनाकाल में सामान्य दिखने वाली क्रियाओं के प्रति सजग करने के लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने थूक का इस्तेमाल नहीं करने की सलाह दी है। एम्स के पूर्व अधीक्षक डॉ. करन पीपरे का कहना है कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए हमें हर स्तर पर सावधानी बरतनी चाहिए।

कोरोना वायरस तो अभी आया है, बल्कि थूक और लार से तो कई तरह की बीमारी टीबी व अन्य (विशेषकर श्वसनतंत्र की बीमारियां ) के संक्रमण का खतरा रहता है। डॉ. मीरा बघेल, सीएमएचओ, रायपुर का कहना है कि थूकने से भी कोरोना का संक्रमण फैलता है। लोगों के जागरूक होने पर ही इस बीमारी पर अंकुश लगाया जा सकता है।

छोटी मगर काम की जानकारी

रोजाना हम कुछ गलतियां करते हैं जो जानलेवा भी साबित हो सकती हैं पर थोड़ी सतर्कता बरतते हुए ना सिर्फ हम जानलेवा बीमारी से बच सकते हैं बल्कि खुद और समाज को भी बचा सकते हैं।

- नोट गिनते समय, खेलते समय गेंद पर थूक नहीं लगाकर, बाजार में सब्जी लेते समय पॉलिथीन बैग पर थूक का इस्तेमाल ना करने दें। बेहतर हो कि घर से थैला लेकर जाएं।

- रेलवे टिकट काउंटर, बस टिकट काउंटर या फिर स्टेशनरी की दुकान पर टिकट, लिफाफे या अन्य सामान बेचते समय थूक का प्रयोग न करें।

- लिफाफे पर टिकट चिपकाते समय थूक का इस्तेमाल न करें।

- तंबाकू और गुटका का सेवन न करें। यदि करते हैं तो भी जगह-जगह पर न थूकें।

COVID-19
Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned