रायपुर में किराए के कमरे में छापे 8 करोड़ के जाली नोट जब्त, रातभर 30 कर्मचारी नोट की गिनती करते रहे

ओडिशा-आंध्रप्रदेश बॉर्डर में एक कार में मिले 8 करोड़ के जाली नोट की छपाई नवा रायपुर में की गई थी। मामले में जांजगीर चांपा के इंजीनियर समेत तीन गिरफ्तार आरोपियों ने यह चौंकाने वाली जानकारी दी है। ओडिशा पुलिस तीनों आरोपियों को लेकर रायपुर आ रही है। इन जाली नोटों को आंध्र में पंचायत चुनाव में खपाने की तैयारी चल रही थी।

By: Dhal Singh

Updated: 04 Mar 2021, 02:20 AM IST

रायपुर. ओडिशा के कोरापुट जिले में सोमवार को ओडिशा-आंध्र प्रदेश बॉर्डर पर पुलिस को एक कार की तलाशी के दौरान 7.90 करोड़ रुपए के नकली नोट मिले हैं। गाड़ी नंबर (सीजी 04 एलएस 0545) में 04 सूटकेस में 5 सौ रुपए के 1580 बंडल जाली नोट लेकर विशाखापट्टनम की ओर जा रहे थे। तभी सुनकी पुलिस थाने की जांच टीम के हत्थे चढ़े। पुलिस की पूछताछ में आरोपियों ने बताया है कि वे इस नोट को रायपुर में छपवाया था और इसे कोरापुट से होते हुए विशाखापट्टनम लेकर जा रहे थे, यहां के एक व्यक्ति को यह पैसे सौंपने थे। पकड़े गए तीन आरोपियों में एक इंजीनियर बताया जा रहा है। एसपी वरुण गुंटुपल्ली ने कहा कि हमने इस मामले में जांच तेज कर दी है। आरोपियों ने रायपुर से यात्रा करते हुए कई चौकियों और पुलिस स्टेशनों को पार किया था। ओडिशा बॉर्डर पर सुनकी आखिरी पुलिस चौकी थी। पुलिस को संदेह था कि वो मादक पदार्थ की तस्करी करने की कोशिश कर रहे है, लेकिन तलाशी में नकली नोट मिल गए।

पुलिस के रोकने पर नहीं रुके, 5 किमी गाड़ी दौड़ाकर पकड़ा
एसपी ने बताया कि जब यह गाड़ी सुनकी में बैरिकेट लगाकर जांच में जुटे जवानों ने जब इन्हें गाड़ी रोकने कहा तो वे बात को दरकिनार कर वहां से भाग खड़े हुए। पुलिस को शक हुआ। तुरंत अपनी गाड़ी में आरोपियों की गाड़ी का पीछा करना शुरू किया। करीब पांच किमी दूर आरोपियों के गाड़ी को ओवरटेक करने के बाद उनकी कार तक पहुंचे। जांच में कार के सामने वाली सीट पर दो ट्रेवलर बैग और पीछे में दो ट्रेवल बैग मिला। खोलने पर जाली नोट पाया।

रातभर 30 कर्मचारी नोट की गिनती करते रहे
एसपी ने बताया कि नकली नोट का जखीरा बरामद करने के बाद पुलिस की एक टीम जहां आरोपियों से पूछताछ में जुटी हुई थी। वहीं दूसरी टीम नोट की गिनती करने में जुटी रही। नोट की जांच केलिए पुलिस के &0 जवानों का लगाया गया था। जो रातभर इस काम में लगे रहे। वहीं नोट नकली होने की शिनाख्त स्थानीय बैंक के मैनेजरों से कराया गया। इसके बाद रातभर 30 कर्मचारी नोट गिनने के काम में लगे रहे।

आंध्र के पंचायत चुनाव में खपाने की थी तैयारी
सुनकी पुलिस सूत्रों की माने तो आरोपी इस पैसे को विशाखापट्टनम लेकर जा रहे थे। जिन तक यह पैसे पहुंचाने थे। वह आंध्र के पंचायत इलेक्शन में इसका उपयोग करने वाले थे।

Dhal Singh Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned