500 और 1000 रुपए के नोट खपाने के लिए रोज खोजे जा रहे नायाब तरीके

500 और 1000 रुपए के नोट खपाने के लिए रोज खोजे जा रहे नायाब तरीके

Ashish Gupta | Publish: Nov, 17 2016 12:20:00 PM (IST) Raipur, Chhattisgarh, India

कालेधन को सफेद करने के लिए रोज नए तरीके ईजाद किए जा रहे हैं। सरकार ने जितने तरीके कालेधन को खत्म करने के लिए बनाए, लोगों ने उतने ही छिपाने के उपाय भी ढूंढ निकाले।

रायपुर. राजधानी के बैंकों में 500-1000 रुपए के नोट बदलवाने और जमा करने को लेकर लाइन रोज लंबी होती जा रही है। कालेधन को सफेद करने के लिए रोज नए तरीके ईजाद किए जा रहे हैं। रियल इस्टेट सेक्टर में पॉवर ऑफ अटार्नी देकर बुकिंग राशि लेकर प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री मार्च के बाद कराने की योजना पेश की जा रही है, तो कहीं ज्यादा कीमत पर सोना खरीदकर कालेधन को ठिकाने लगाया जा रहा है। सरकार ने जितने तरीके कालेधन को खत्म करने के लिए बनाए, लोगों ने उतने ही छिपाने के उपाय भी ढूंढ निकाले।

बैंकों ने भी पेश की योजनाएं
राष्ट्रीयकृत बैंक भी लोगों को लुभाने में पीछे नहीं है। बैंकों ने 90 दिन के लिए 7.50 फीसदी ब्याज दर पर फिक्स डिपॉजिट (एफडी), कैशलेस मार्केटिंग आदि की योजनाएं पेश की है। इससे पहले मल्टीस्टोर्स 500 और 1000 रुपए के नोट के साथ खरीदारी के लिए ऑफर पेश कर चुके हैं।

आयकर विभाग ने कसा शिकंजा
आयकर विभाग ने ऐसे संदिग्ध संस्थानों की लिस्ट तैयार की है, जहां कालेधन की आशंका सबसे ज्यादा है। सूचनाओं के आधार पर शहर में छापेमारी भी शुरू हो चुकी है।

... और सफेद बनाने के लिए अपनाए जा रहे तरीके
1- प्रॉपर्टी की बुकिंग कर राशि का अग्रिम भुगतान ठेकेदार, मजदूर और अन्य कर्मचारियों को किया जा रहा है, रजिस्ट्री मार्च के बाद।
2- सोना बेचने पर डेढ़ गुना अधिक राशि का ऑफर, राजधानी में यह ऑफर शुरू।
3- उद्योगों, स्कूलों, कोचिंग सेंटरों व निजी क्षेत्र के अन्य संस्थानों में कर्मचारियों को एडवांस में तनख्वाह।
4- अपने ही कर्मचारियों के खाते में डलवाए 1 से 2.50 लाख रुपए, बाद में कुछ राशि देकर लेंगे वापस।
5- अफसरों ने अपने कर्मचारियों को भरोसे में लेकर उनके अकाउंट का सहारा लिया।
6- मजदूरों को 300-400 रुपए देकर उनके अकॉउंट में जमा कराए जा रहे हैं 500-1000 के नोट।
7- एयरपोर्ट-रेलवे में रातोंरात बुकिंग, विदेश यात्रा और टूर पैकेज के जरिए कालेधन को सफेद बनाने की कोशिश। 

शिकंजा कसने के लिए सरकार का यह तरीका
1- एक्सचेंज के लिए एक दिन में 4500 रुपए की लिमिट।
2- एटीएम से एक बार में 2500 से ज्यादा नहीं निकाल सकते।
3- 2.50 लाख से अधिक के डिपॉजिट पर रहेगी आयकर की नजर।
4- जन-धन खातों में जमा होंगे सिर्फ 50 हजार।
5- एक दिन में सिर्फ एक बार नोट एक्सचेंज हो सके, इसके लिए ऊंगली पर स्याही का निशान।
6- डिपॉजिट पर सबूत पेश नहीं कर पाए तो पेनाल्टी के साथ 200 गुणा जुर्माना।
7- रुपए जमा करने व नोट बदलवाने के साथ आईडी प्रूफ, आरबीआई को हर दिन की ऑनलाइन रिपोर्टिंग।

लोगों को हो रही ये परेशानी
1- अस्पताल, बाजार और सार्वजनिक स्थानों के साथ राशन के लिए करनी पड़ रही है जद्दोजहद।
2- एक हफ्ते में सिर्फ 24 हजार रुपए की लिमिट, प्राइवेट सेक्टर में कर्मचारियों को पेमेंट करना मुश्किल।
3- बाजार में चिल्हर की समस्या, 2000 रुपए के नोट के नहीं मिल रहे छुट्टे।
4- शहर के आधे से ज्यादा एटीएम बंद, एक-दो घंटे में खत्म हो रही राशि।
5- मकानों के लोन की प्रक्रिया अटकी, पूरा नहीं हो पा रहा है घर का सपना।
6- एटीएम बंद, बाजार में उधारी में लेना पड़ रहा सामान।
7- शादियों की तैयारियां अटकी, नहीं की जा सकी है जरूरी खरीदारी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned