OMG! टॉर्च और तीन मोटर पंप के सहारे करेंगे बाढ़ CONTROL

OMG! टॉर्च और तीन मोटर पंप के सहारे करेंगे बाढ़ CONTROL
Corporation

Surya Pratap Goutam | Publish: Jun, 22 2016 11:30:00 AM (IST) Raipur, Chhattisgarh, India

राजधानी में नगर निगम ने अतिवृष्टि की स्थिति में 70 वार्ड में जलभराव होने पर लोगों को राहत देने के लिए टिकरापारा फायर ब्रिगेड कंट्रोल रूम को बाढ़ नियंत्रण टीम बनाया गया है...

रायपुर. राजधानी में नगर निगम ने अतिवृष्टि की स्थिति में 70 वार्ड में जलभराव होने पर लोगों को राहत देने के लिए टिकरापारा फायर ब्रिगेड कंट्रोल रूम को बाढ़ नियंत्रण टीम बनाया गया है। पत्रिका टीम ने मौके का जायजा लिया तो यहां तैनात कर्मचारियों के पास न तो रस्सी है न ही लाइफ सेविंग जैकेट। अगर कहीं कोई आपदा आ जाएं तो टीम के पास कोई भी पर्याप्त संसाधन का भी अभाव है। केवल एक टॉर्च और तीन डीजल पंप के सहारे राजधानी के 14 लाख लोगों को बाढ़ की स्थिति में राहत देने का दावा किया जा रहा है। रेत से भरी सौ बोरियां भी तैयार नहीं की जा सकी हैं और न ही ट्यूब। बाढ़ नियंत्रण प्रकोष्ठ कहां है, इसके लिए कोई बोर्ड भी नहीं लगा है। फायर ब्रिगेड कंट्रोल रूम में दो कर्मचारी बैठे मिले। कर्मियों ने बताया कि 12 लाइफ  जैकेट के अलावा कुछ ट्यूब हैं, लेकिन उन्हें अभी बाहर निकालकर चेक नहीं किया गया है। दमकल कर्मियों ने बताया कि बाढ़ प्रकोष्ठ में जिन अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है वे 10 दिन में एक बार यहां आए हैं।

12 दिन बाद भी नहीं आए अधिकारी

नगर निगम आयुक्त ने 10 जून को अधिकारियों की जिम्मेदारी तय की थी, लेकिन अब तक एक भी अधिकारी ने वर्कशॉप में पहुंचकर संसाधनों की जानकारी नहीं ली। निगम के अपर आयुक्त, उपायुक्त, स्वास्थ्य अधिकारी, निगम सचिव एवं कार्यपालन अभियंता को राहत सामग्री जुटाने की जिम्मेदारी दी गई है। लेकिन अभी तक कोई व्यवस्था नहीं की गई है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned