रायपुर : अन्तर्राष्ट्रीय दिव्यांग दिवस-२०१९ : स्मार्ट फोन और स्मार्ट केन पाकर दृष्टिबाधित डिकेश्वर और देवेन्द्र हुए खुश

९९२ के बाद से ही दुनियाभर में विश्व विकलांग दिवस मनाया जा रहा है। विकलांग दिवस, विकलांग व्यक्तियों के प्रति करुणा, आत्म-सम्मान और उनके जीवन को बेहतर बनाने के समर्थन के उद्देश्य से मनाया जाता है।

By: Shiv Singh

Published: 03 Dec 2019, 09:17 PM IST

रायपुर.अन्तर्राष्ट्रीय दिव्यांग दिवस पर नारायणपुर मुख्यालय में दिव्यांग बच्चों के खेलकूद आयोजित किए गए, जिसमें दिव्यांग बच्चों ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। खेल में ट्रायसायकिल रेस़, कुर्सी दौड़, बॉल फेंक और दौड़ के साथ ही अन्य खेलकूद के कार्यक्रम आयोजित किए गए। कलेक्टर श्री पी. एस. एल्मा ने बच्चों को पुरस्कृत किया। इस अवसर पर डिप्टी कलेक्टर निधी साहू, जिला सूचना अधिकारी जे.मिंज, जिला रोजगार अधिकारी श्मजीत राम, जिला शिक्षा अधिकारी गिरधर मरकाम, जिला समन्वयक राजीव गांधी शिक्षा मिशन भवनीशंकर रेड्डी सहित अन्य अधिकारी और बच्चे उपस्थित थे ।
कलेक्टर एल्मा के हाथों दृष्टिबाधित दिव्यांग डिगेश्वर मानिकपुरी और देवेन्द्र कुमार स्मार्ट मोबाईल और स्मार्ट केन पाकर बहुत खुश हुए। उन्होंने प्रतिक्रिया में बताया कि अब वे मोबाईल के सहारे अपने दोस्तों, रिश्तेदारों आदि से बात कर सकेंगे। कलेक्टर ने नि:शक्तजन विवाह प्रोत्साहन योजनान्तर्गत तीन लोगों को ५०-५० हजार रूपए के चैक प्रदान किए। इसके साथ ही १७ दिव्यांग बच्चों को ट्रायसायकल और वैशाखी, ५ बच्चों को कैलीपर्स, दो बच्चों को कृृत्रिम पैर के साथ ही चार बच्चों को कृृत्रिम हाथ और २५ को श्रृवण यंत्र दिए गए। इसके साथ ही एम.आर किट भी प्रदान की गई ।
कलेक्टर एल्मा ने कहा कि राज्य और केन्द्र सरकार द्वारा दिव्यांगों की मदद के लिए कई सरकारी योजनाएं संचालित की जा रही है। शासन द्वारा दिव्यांगों को दिव्यांग प्रमाण पत्र भी मुहैया कराया जाता है। जिन्हें सरकारी सुविधाओं का लाभ मिलता है। उनके लिए नीतियां भी बनाई गई है। उन्हें सरकारी नौकरियों, अस्पताल, रेल, बस सभी जगह आरक्षण की भी सुविधा दी गई है। उनकी सुविधाओं के लिए भीड़ वाले स्थानों पर अलग से लाइन एवं काउंटर भी अलग से संचालित है। इसके साथ ही अब सरकारी कार्यालयों और मतदान केन्द्रों में रैंप की भी सुविधा मुहैया कराई जा रही हैं ।
मालूम हो कि हर साल ३ दिसंबर को दुनिया भर में विश्व विकलांगता दिवस मनाया जाता है। इस दिन को मुख्य रूप से दिव्यागों के प्रति लोगों के व्यवहार में बदलाव लाने और उन्हें उनके अधिकारों के प्रति जागरुक करने के लिए मनाया जाता है। १९९२ के बाद से ही दुनियाभर में विश्व विकलांग दिवस मनाया जा रहा है।

Shiv Singh Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned