Sex Racket के दलदल में फंसने से बची नाबालिग को डर है, दोबारा न भेज दें नरक में

मानव तस्करों ने पिछले दिनों बालिका को कोलकाता के बालआश्रम से निकालकर मुंबई भेजा। वहां देह व्यापार कराने के बाद रायपुर भेज दिया।

By: आशीष गुप्ता

Published: 28 Dec 2016, 10:43 PM IST

रायपुर. देहव्यापार के लिए कोलकाता से लाई गई 17 वर्षीय नाबालिग को डर है कि उसके परिजन आएंगे, तो उसे दोबारा बाल आश्रम में भेज देंगे। इस कारण वह उनसे बात भी नहीं करना चाहती। नाबालिग मानसिक रूप से काफी परेशान हैं। उसकी स्थिति को देखते हुए बाल कल्याण समिति (सीडब्ल्यूसी) के अधिकारी ज्यादा पूछताछ नहीं कर रहे हैं। बालिका की काउंसलिंग कराई जा रही है।


उल्लेखनीय है कि मानव तस्करों ने पिछले दिनों बालिका को कोलकाता के बालआश्रम से निकालकर मुंबई भेजा। वहां देह व्यापार कराने के बाद रायपुर खिलेश्वर देवांगन और महिला दलाल के पास भेज दिया। दो दिन बाद एक ब्यूटी पार्लर में बालिका ने शोर मचाया। इसके बाद इस पूरे रैकेट का खुलासा हुआ। खिलेश्वर और महिला जेल में हैं।


छत्तीसगढ़ का मोबाइल नंबर बालिका को रायपुर लाने वाली मुंबई की युवती का मोबाइल नंबर छत्तीसगढ़ का निकला है। आशंका जताई जा रही है कि रायपुर के कुछ लोग मुंबई में मानव तस्करी और देह व्यापार के कारोबार से जुड़े हैं। मोबाइल का अंतिम लोकेशन रायपुर रेलवे स्टेशन मिला है। इसके बाद से बंद है।


रायपुर कबीर नगर के प्रभारी एवं प्रशिक्षु डीएसपी अनुज कुमार ने बताया कि नाबालिग से सीडब्ल्यूसी के अधिकारियों ने पूछताछ की है। उनकी काउंसिलिंग भी की जा रही है। परिजन अभी नहीं पहुंचे हैं। बालिका को लाने वाली युवती का मोबाइल नंबर छत्तीसगढ़ की है। इसकी जांच की जा रही है।
Show More
आशीष गुप्ता
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned