scriptRaipur Municipal corporation carrying the burden of cattle | Raipur News: मवेशियों का बोझ उठा रहा नगर निगम | Patrika News

Raipur News: मवेशियों का बोझ उठा रहा नगर निगम

- कांजी हाउस में एक दिन में 33 क्विंटल पैरा कुट्टी के साथ कैल्शियम व चोकर

- दिसंबर से अब तक फुंडहर गोठान में आया सिर्फ 33 हजार रुपए

रायपुर

Published: January 17, 2022 12:28:16 pm

रायपुर. शहर में नगर निगम द्वारा अवारा मवेशियों को सड़क से पकडऩे से लेकर उसके देखरेख में लाखों करोड़ो रुपए फुक रहे है, लेकिन पशु मालिक अपने पशुओं को छुड़ाने के बारे में सोचता ही नही। जिसके चलते शहर के गोठानों में बिमार, बेबस होकर गोठान और कांजी हाउस में डेरा जमाकर बैठे है। प्रदेश की राजधानी रायपुर फुंडहर में अभी एक साल पहले बने गोठान में दिसंबर से अब तक करीब 550 मवेशी है, जिसमें 425 से 30 गाय व बछड़े के साथ 125 सांड है।
मवेशियों का बोझ उठा रहा नगर निगम
मवेशियों का बोझ उठा रहा नगर निगम
गोठान संचालक ने बताया गोठान में अधिकांश गाय व बछड़े बिमार के साथ दूध नही देती है। जिसके कारण पशु मालिक ले जा नही रहे है। यहा सभी मवेशियों के लिए रोजना ३३ क्विंटल पैरा कुट्टी, चुनी व चोकर के साथ कैल्शियम भी रोजना देते है। पिछले दिसंबर से अब तक के कांजी हाउस में मवेशियों की चारा में किसी प्रकार से कमी नही आया है। कांजी हाउस में बिमार मवेशी को जांक करने रोजना पशु चिकित्स आते है। पिछले दिसंबर से अब तक केवल ३३ हजार रुपए जुर्माना वसूला गया है, वो भी आसपास के गांव के लोग अपने मवेशी को ले जा रहे है। लेकिन शहर के डेरी वाले अपने मवेशी को यही छोड़कर चले गए है।
मवेशियों का बोझ उठा रहा नगर निगम
IMAGE CREDIT: Dinesh Yadu
यही हाल शहर के भाठागांव स्थित कांजी हाउस का है, इस गोठान में करीब 58 गाय, 1 सांड व दस बछड़े है। इनमें से अधिकांश गाय अच्छे नस्ल के तो है, लेकिन बिमार व कमजोर है। जिसके कारण पशु मालिक कई महीनों से छोड़कर चले गए है। इश कांजी हाउस में भी बहुत कम लोग अपने मवेशी को छुड़ाते है।
बाक्स
वही पशु मालिक कहते है, एक हजार देने के बाद अलग से २५० रुपए प्रतिदिन के हिसाब से जुर्माना लेते है। जबकि सभी गोठानों में एक सूचना लगा है , प्रथम बार पशु (गाय, भैंस) मार्ग पर पाये जाने पर एक हजार , द्वितीय बार 1 हजार 500 और तीसरी बार में मवेशी को राजसात करते हुये। नगर निगम अधिनियम के प्रावधान अनुसार निलामी / गोशाला में राजसात की कार्रवाई करने का प्रावधान है। इसके साथ कांजी हाउस में मवेशी जब तक रहेगा तब तक प्रतिदिन खुराक व्यय 250 रुपए जुर्माना वसूला जाता है। जिसके लिए हमेशा विवाद होता है।
वर्जन

कांजी हाउस से की निलामी नही करते है, लेकिन एक नियम जल्द बनायेगें। कांजी हाउस मवेशी को दू दराज के गोठान में भेजेगें। जो पशु मालिक अपने पशु को नही ले जाते उसपर भी जल्द कार्रवाई करेगें ।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

द्वारकाधीश मंदिर में पूजा के साथ आज शुरू होगा BJP का मिशन गुजरात, मोदी के साथ-साथ अमित शाह भी पहुंच रहेRajasthan: एंटी करप्शन ब्यूरो की सक्रियता से टेंशन में Gehlot Govt, अब केंद्र की तरह जांच से पहले लेनी होगी अनुमतिVIP कल्चर पर पंजाब की मान सरकार का एक और वार, 424 वीआईपी को दी रही सुरक्षा व्यवस्था की खत्मओडिशा में "भ्रूण लिंग" जांच गिरोह का भंडाफोड़, 13 गिरफ्तारमां की खराब तबीयत के बावजूद बल्लेबाजों पर कहर बनकर टूटे ओबेड मैकॉय, संगकारा ने जमकर की तारीफRenault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चदिल्ली में डबल मर्डर से सनसनी! एक की चाकू से गोदकर हत्या, दूसरे को गोली मारीEncounter In Ghaziabad: बदमाशों पर कहर बनकर टूटी पुलिस, एक रात में दो इनामी अभियुक्तों को किया ढेर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.