रायपुर : विद्यार्थियों के समग्र विकास के लिए समय के अनुरूप उच्च शिक्षा में परिवर्तन की जरूरत : राज्यपाल उइके

कार्यक्रम में श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय के पत्रिका का विमोचन भी किया गया। साथ ही राज्यपाल और अन्य अतिथियों को प्रतीक चिन्ह भी दिया गया। इस अवसर पर संत श्री रावतपुरा सरकार, कुलपति अंकुर अरूण कुलकर्णी सहित विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपति और शिक्षक उपस्थित थे।

By: Shiv Singh

Published: 06 Jan 2020, 09:32 PM IST

रायपुर. राज्यपाल अनुसुईया उइके सोमवार को श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय रायपुर में 'उच्च शिक्षा (Higher Education) में नई पहल विषय पर आयोजित सम्मेलन में शामिल हुई। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि उच्च शिक्षा में नई पहल आज की आवश्यकता है। विद्यार्थियों के समग्र विकास के लिए समय के अनुरूप उच्च शिक्षा में परिवर्तन की सदैव जरूरत रहती है। छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में उच्च शिक्षा में गुणवत्ता लाने के लिए ठोस प्रयास किये जा रहे हैं। साथ ही नैक (NAAC) में अच्छी ग्रेडिंग (Grading) के लिए कार्य योजना बनाने और विश्वविद्यालय में रिक्त शैक्षणिक पदों को भरने के लिए कहा गया है। राज्यपाल ने कहा कि वे स्वयं सभी विश्वविद्यालय में निरीक्षण के लिए जाएंगी और यह देखेंगी कि वहां किस प्रकार की कमियां है, उसे पूरा करने के लिए हरसंभव प्रयास किया जाएगा। इस सेमिनार से निकले निष्कर्ष प्रदेश ही नहीं पूरे देश में उच्च शिक्षा (Higher education ) में गुणवत्ता लाने में उपयोगी सिद्ध होंगे।
विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) के अध्यक्ष धीरेन्द्रपाल सिंह (DP Singh) ने कहा कि विश्वविद्यालय-महाविद्यालयों को बच्चों के सर्वांगीण विकास पर ध्यान देना चाहिए। यह हमेशा प्रयास करें कि बच्चों को ऐसी शिक्षा दें, जो उनको बौद्धिक विकास, भावनात्मक विकास के साथ उनके आध्यात्मिक विकास पर भी केन्द्रित हो। उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानन्द, महात्मा गांधी जैसे समस्त मनीषियों ने विद्यार्थियों के अन्तर्निहित विकास पर जोर दिया।

Show More
Shiv Singh Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned