MURDER के शक में पुलिस ने दो बेगुनाहों को जबरन पीटा, अब शासन देगा 25-25 हजार जुर्माना

MURDER के शक में पुलिस ने दो बेगुनाहों को जबरन पीटा, अब शासन देगा 25-25 हजार जुर्माना

Chandu Nirmalkar | Publish: Jul, 21 2019 08:34:18 PM (IST) Raipur, Raipur, Chhattisgarh, India

MURDER case: जिससे वे बुरी तरह से घायल (Raipur News) हो गए थे। इसकी शिकायत जशपुर एसपी के (State human rights commission) समक्ष भी की गई।

रायपुर. मर्डर के शक (Murder case) में पुलिस ने बेगुनाह व्यक्ति की जमकर पिटाई कर दी। राज्य मानवाधिकार आयोग के फैसले के बाद अब (Raipur news) शासन पीडि़त को 25 हजार रुपए जुर्माना देगा।

आदेश के अनुसार राज्य मानवाधिकार आयोग (State human rights commission) में ग्राम नीमटोला जशपुर की पुष्पा कुजूर और जुनस तिर्की ने शिकायत की। इसमें 2015 में उसके घर के कुएं से एक व्यक्ति का शव मिला। मामले में शक के आधार पर थाना प्रभारी उषा सौधिया, मुंशी मार्बल और गोविंद यादव ने उनकी जमकर पिटाई कर दी। जिससे वे बुरी तरह से घायल हो गए थे।

इसकी शिकायत जशपुर एसपी के समक्ष भी की गई। इस बीच जुनस तिर्की, अर्चना कुजूर, अलेकसियुस कुजूर, अबनार कुजूर व प्रेम मिंज ने भी गवाही देते हुए पुलिसकर्मियों द्वारा पीडि़तों को जबरन पीटे जाने की बात कही। जिसके बाद थाना प्रभारी सौधिया और प्रधान आरक्षक मार्बल को नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया। जिसमें पुलिस द्वारा उसकी पिटाई की बात से लगातार इनकार किया जाता रहा।

शासन से की मुआवजे की अनुशंसा

राज्य मानवाधिकार आयोग के सचिव दिलीप भट्ट ने आदेश के अनुसार बताया कि प्रकरण में उपलब्ध मेडिकल दस्तावेज, गवाहों के कथन से पुलिस कर्मियों द्वारा अवैध रूप से मारपीट किया जाना पाया गया, जो आहत व्यक्तियों के मानवाधिकार का उल्लंघन है। मामले की गंभीरता को देखते हुए आयोग ने शासन से पीडि़त अर्चना और अबनार को 25-25 हजार रुपए देने की अनुशंसा की है।

 

...और भी है ऐसे ढेरों खबरें

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned