जंगल सफारी देखने लोगों ने दिखाई दिलचस्पी, 7 दिनों में हुआ 21 लाख कलेक्शन

जंगल सफारी ने ओपनिंग के पहले सप्ताह में ही लगभग 21 लाख रुपए एकत्र कर लिए हैं। हर दिन यहां लगभग 1400 पर्यटक पहुंच रहे हैं। पर्यटकों की खासी भीड़ को देखते हुए अब जंगल सफारी प्रबंधन एसी वाहनों की संख्या बढ़ाएगी

By: deepak dilliwar

Published: 14 Nov 2016, 09:52 PM IST

रायपुर. जंगल सफारी ने ओपनिंग के पहले सप्ताह में ही लगभग 21 लाख रुपए एकत्र कर लिए हैं। हर दिन यहां लगभग 1400 पर्यटक पहुंच रहे हैं। पर्यटकों की खासी भीड़ को देखते हुए अब जंगल सफारी प्रबंधन एसी वाहनों की संख्या बढ़ाएगी, लेकिन उसके पहले वन्यप्राणियों की जीवनचर्या प्रभावित किए बिना वाहनों के कितने फेरे लिए जा सकते हैं, इस संबंध में जू अथॉरिटी ऑफ इंडिया से गाइड लाइन ली जाएगी।

फैक्ट फाइल :
- 6 नवंबर को शुरू हुआ जंगल सफारी
- 7 दिनों तक खूला पर्यटकों के लिए
- 1400 औसतन हर दिन पहुंच रहे पर्यटक
- 21 लाख रुपए अब तक हो चुके हैं एकत्र
- 2.25 लाख रुपए औसतन हर दिन हो रहा एकत्र

अभी सिर्फ दो बसें
फिलहाल जंगल सफारी प्रबंधन के पास खुद के दो एसी बसें हैं। इन बसों के अलावा आधा दर्जन बसें किराए पर ली गई हैंं। शुरुआत में यहां 14 बसें किराए से ली गई थीं। अब पर्यटकों की बढ़ती संख्या को देखते हुुए कम से कम छह बसें और खरीदने की तैयारी हो रही है।

मांगेंगे गाइड लाइन
जंगल सफारी में बसों की जरूरत महसूस की जा रही है, लेकिन इनकी संख्या इस बात पर भी निर्भर करेगी कि दिनभर में वाहनों के कितने फेरे से वन्यप्राणियों का जनजीवन प्रभावित नहीं होगा। इस संबंध में जू अथॉरिटी ऑफ इंडिया से मार्गदर्शन मांगा जाएगा।

जू एंड जंगल सफारी के डायरेक्टर अनिल सोनी ने बताया कि पर्यटकों की अच्छी संख्या ने हमको उत्साहित किया है। हम अपनी तरफ से हर दिन अपनी व्यवस्थाओं की समीक्षा भी कर रहे हैं। बड़ी सफारी है इसलिए हर चीज सोच समझकर किया जा रहा है। नई बसों के संबंध में मार्गदर्शन लेंगे।
Show More
deepak dilliwar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned