क्यों अत्यधिक रोता है आपका बच्चा, कही आप भी कारणों से अनजान तो नहीं

सभी शिशु रोते है, यह बिलकुल सामान्य बात है। अधिकांश शिशु प्रत्येक दिन कुल एक घंटे से लेकर तीन घंटे तक के समय के लिए रोते हैं

दीपक दिल्लीवार/रायपुर. सभी शिशु रोते है, यह बिलकुल सामान्य बात है। अधिकांश शिशु प्रत्येक दिन कुल एक घंटे से लेकर तीन घंटे तक के समय के लिए रोते हैं। आपका शिशु रो कर ही आपको यह बता सकता है की उसे किसी चीज की जरुरत है। आपके लिए कई बार यह पता लगाना मुश्किल हो जाता है कि आखिर शिशु रो क्यों रहा है।

जैसे जैसे आपका शिशु बढ़ता है वह आप के साथ बात चीत करने के अन्य तरीके सीख लेता है। आँखों का सम्पर्क, शोर मचाना या फिर मुस्कुराते हुए आपका ध्यान अपनी तरफ खींचना। अगर आपका शिशु रो रहा है और चुप नहीं हो रहा है तो हो सकता है वह आपसे से यह कहने की कोशिश कर रहा है। बच्चों के रोने के कारणों पर डॉ रजिंदर चौहान ने बताई कई बाते जो आपके लिए जानना भी जरूरी है।

मुझे भूख लग रही है
किसी बच्चे का छोटा सा पेट बहुत कुछ भंडार में नहीं रख सकता। इसलिए अगर आपकी संतान रोती है, तो उसे दूध पिलाने की कोशिश करें, क्योंकि वह भूखी हो सकती है ।

नैपी (लंगोट ) बदलो
कुछ शिशु अपनी नैपी बदलने की जरूरत पर बहुत ध्यान नहीं देते लेकिन कई दूसरे तुरंत ही चीख कर आपका ध्यान अपनी ओर खींचेंगे । खासकर तब, अगर उनकी कोमल त्वचा में खुजली या खुश्की हो ।
यह भी देखें कि कहीं नैपी बहुत कस कर तो नहीं बंधी है, या उसके कपड़े तो उसको परेशान नहीं कर रहे हैं ।

अधिक गर्म या अधिक ठंड का अहसास
जांच करें कि आपका शिशु अपने बिस्तर में कहीं बहुत अधिक गर्म या ठंडा तो नहीं महसूस कर रहा । इसे आप उसके पेट को छूकर पता कर सकते हैं। उसके हाथ या पैर से पता नहीं लगेगा, वे सामान्य तौर पर ठंडे होते हैं। अगर उसका शरीर अधिक गरम है, तो एक कंबल हटा दें । अगर वह ठंडा है तो एक और उढ़ा दें । मौसम के अनुसार कमरे का तापमान 22 और 25 डिग्री सेल्सियस के बीच में रखें ।

मुझे गोद में ले लो
कई बार आपका शिशु केवल दुलार चाहता है। छोटे बच्चों को शारीरिक आराम और आश्वासन की बहुत जरूरत है। यदि आप अपने बच्चे को सीने से लगा के रखेंगे तो उसे आपकी दिल की धड़कन सुनकर दिलासा मिलेगा आप शिशु को एक बेबी स्लिंग या केरीयर में भी रख सकती है जो आपके सीने या पीठ पर बंधता हो ऐसा करने से शिशु आपकी गोद में रह सकेगा और बाकी कामों के लिए आपके हाथ भी मुक्त रहेंगे ।

आराम की जरूरत है
नवजातों के लिए काफी सक्रिय रहना कठिन होता है । उसके रोने का एक मतलब होता है- बस, मेरे लिए काफी है. रोना, चिडचिड़ाना, उदास हो कर छत के ओर घूरना नींद आने के कुछ उदाहरण हैं। उसे किसी शांत और खामोश जगह ले जाएं। कुछ देर बाद आप पाएंगे कि वह सोने के लिए तैयार है ।

तबियत ठीक नहीं है
अगर वह अस्वस्थ है, वह शायद वह हमेशा की तरह न रोये। रोने का अलग ही स्वर हो सकता है, थोडा कम या अधिक या फिर चीख कर लगातार रोना। अगर आपका शिशु आम तौर पर बहुत रोता है, लेकिन असामान्य रूप से शांत हो गया है, तो यह भी एक संकेत है कि उसकी तबियत ठीक नहीं है। अगर आपका शिशु को रोते समय साँस लेने में कठिनाई हो रही है, या अगर रोने के साथ उसे बुखार, उल्टी, दस्त या कब्ज भी हो रहा हो अक्सर नवजात शिशु बीच में कुछ दिनों के लिए चिडचिडे हो जाते हैं या फिर रोते ही रहते हैं । कभी कभी यह एकदम ही चुप हो जाते हैं या फिर कभी कभी घन्टों तक रोते हैं । अक्सर यह पेट के दद की वजह से होता है ।ये कम से कम तीन दिनों के लिए, एक दिन में कम से कम तीन घंटे के लिए गमगीन रोने के रूप में प्रकट होता है ।

मेरा शिशु लगातार रो रहा है में क्या करूँ?
कई नवजात लिपटना और सुरक्षित महसूस करना पसंद करते हैं । जैसा कि वह गर्भ में रहते हैं, तो आप अपने शिशु को कंबल में लपेटें  या बेबी स्लिंग में भी उसे रख सकते हैं ताकि जान सकें कि क्या वह उसे पसंद करता है। हलाकि कुछ शिशु ऐसे भी होते हैं जिन्हें लिपटे हुए रहना बिलकुल पसंद नहीं होता ।

एक लगातार ध्वनि खोजें
गर्भ में आपका शिशु आपके दिल की धड़कन लगातार सुनता रहता है । इसलिए मधुर संगीत की आवाज या लोरी से आपके शिशु को आश्वासन मिलेगा । कई माता पिता को लगता है कि घड़ी की टिक टिक के स्थिर लय अक्सर शिशु को खामोश करते हैं और सोने में भी मदद करते हैं । बाजार से संगीत के सीडी या फिर टेप खरीद सकती है जो नन्हे शिशुओं को सुलाने में मदद देंगे

अपनी बाहों में शिशु को घुमाएँ
अधिकतर बच्चे धीरे-धीरे हिलना पसंद करते हैं, या तो आप उसे टहलाएं या गोद में लेकर एक हिलनेवाली कुर्सी मे बैठें। खासतौर पर बच्चों के लिए बनाए झूले भी कुछ बच्चों को शांत कर देते हैं, पर कई सो भी जाते हैं, जैसे ही उनको किसी कार में कहीं ले जाया जा रहा हो ।

मालिश करके देखिए
आपके शिशु को मालिश शांत कर सकती है । जिन बच्चों को पेटदर्द है वे कई बार पेट को धीरे-धीरे सहलाने पर शांत हो जाते हैं।

दूध पिलाने के लिए एक अलग स्थिति खोजें
कुछ बच्चे दूध पीते समय रोते हैं यदि आप स्तनपान करा रहीं है तो आपने देखा होगा की शिशु आराम से स्तन मुंह में लेता है जब वह शांत होता है। अगर फ़ीड के दौरान शिशु को गैस हो रहा है, तो आप ऐसी स्थिति  ढूंढे जिसमें वह थोडा और सीधा होकर दूध पी सके। दूध पिलाने के बाद शिशु को कंधे से लगाए जिससे डकार आती है। अगर आपका शिशु दूध पीने के बाद भी रोता है तो हो सकता है वह अब भी भूखा है। दोबारा से उसे दूध पिलाने की कोशिश करें ।

उसे एक गुनगुना स्नान दें
गुनगुने पानी से स्नान आपके बच्चे को शांत करने में मदद करेगा पहले पानी का तापमान की जाँच करें फिर शिशु को टब में डालें। यह बात ध्यान में रखें की अगर आपके शिशु को स्नान पसंद नहीं है तो यह तरकीब काम नहीं करेगी - उल्टा शिशु और जोर से रोने लग सकता है।
deepak dilliwar
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned