scriptramkothi me anaj rkhate he, jarurat ke samay logo ki madad karte he | लोक संस्करीति : गंवई गांव के बैंक ‘रामकोठी’ | Patrika News

लोक संस्करीति : गंवई गांव के बैंक ‘रामकोठी’

पहली के समे म कोनो-कोनो गांव म पइसा कौड़ी अउ अनाज के इंतजाम बर रामकोठी बनाय जात रिहिस। कोनो गांव म आज तको ले रामकोठी के बेवस्था चले आवत हे। राजिम के तीर बेलटुकरी गांव म रामकोठी के अनाज बैंक गजब दिन ले चले रिहिस हे।

रायपुर

Published: March 21, 2022 04:56:36 pm

पहली के समे म कोनो-कोनो गांव म पइसा कौड़ी अउ अनाज के इंतजाम बर रामकोठी बनाय जात रिहिस। कोनो गांव म आज तको ले रामकोठी के बेवस्था चले आवत हे। राजिम के तीर बेलटुकरी गांव म रामकोठी के अनाज बैंक गजब दिन ले चले रिहिस हे।
रामकोठी ह एक परकार के अनाज के बैंक होथे। ऐला चलाय बर गांव के जिम्मेदार मनखेमन के एकठिन समिति बनाय जाथे। गांव के कोनो भी मनखे ह रामकोठी म अनाज जमा कर सकत हे। ये जमा अनाज ल बरोबर रखे खातिर एकठन गोदाम बनाय जाथे। तेला ढाबा घलो कहिथें। ये गोदाम के रखरखाव ल समिति ह करथे। रामकोठी म जमा अनाज ल गांव के कोनो भी मनखे ह अपन जरूरत के मुताबिक उठा सकत हे। ऐहा कमती ब्याज म मिल जाथे। सुलभ करजा के रूप म मिले ये अनाज ल खाय अऊ बीज बर उपयोग करे जाथे। कोनो-कोनोमन ह ऐला बेच के दूसर सामान लेथें। कोनोमन बर-बिहाव अउ मंगल काम म खरचा करथे।
अभी के बेरा म ये तरीका ह अड़बड़ उपयोगी हो सकथे। कोरोना जइसे महामारी म जब गांव वालामन के आवाजाही कम होगे हे, त ये बेरा म रामकोठी ह बहुत ठौकलगहा होही। अभी के सरकार ह छत्तीसगढ़ के देहाती बेवस्था ल बहुत धियान देवत हे- जइसे गोठान, गोधन, पौनी-पसारी आदि। ऐकर ले गांव के जन-जीवन ह सरलता से चलथे। रोजगार के बढ़ोतरी होथे। रामकोठी जइसन छोटे-छोटे बैंक बर गांव के सेवानिवृत कर्मचारीमन ल जिम्मेदारी सौंपे जाय। फेर, बैंक ह बड़े रूप म चले लगय तो गांव के पढ़े-लिखे बेरोजगार लइकामन ल काम-बुता दे जाय। बड़े गांव म सरकारी बैंक अउ निजी बैंक के शाखा होथे। जिहां करजा मिलथे। फेर, वो बैंक म गजब कागज- पत्तर के कार्यवाही होथे। करजा पाय के तरीका अड़बड़ पेरूक होथे, त बैंकमन के वसूली घलो कड़ाई ले होथे। अइसन बड़े बैंक ल चलाय बर करमचारी, भवन, ईंधन आदि म बड़ खरचा होथे। रामकोठी ल चलाय बर कोनो खास खरचा नइ होवय। करजा दे अउ वसूली करे म घलो सहूलियत होथे।
ऐकर सेती बिना झंझट के आसानी ले रामकोठी ल चलाय जा सकत हे। गांव म लोक-लाज के डर के मारे रामकोठी के करजा ल लोगनमन झटकुन पटा देथें। गांव के मन बदनामी ल डरथे। लोगनमन मिलजुर के रहिथें। आपसी संबंध ह बने रहिथे। ते पाय के धोखाधड़ी के संसो नइ रहय। रामकोठी ल आत्मनिरभर बनाय बर चाही।
लोक संस्करीति : गंवई गांव के बैंक ‘रामकोठी’
लोक संस्करीति : गंवई गांव के बैंक ‘रामकोठी’

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

आंध्र प्रदेश में जिले का नाम बदलने पर हिंसा, मंत्री का घर जलाया, कई घायलपंजाब के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री के OSD प्रदीप कुमार भी हुए गिरफ्तार, 27 मई तक पुलिस रिमांड में विजय सिंगलारिलीज से पहले 1 जून को गृहमंत्री अमित शाह देखेंगे अक्षय कुमार की 'पृथ्वीराज', जानिए किस वजह से रखी जा रहीं स्पेशल स्क्रीनिंगGujrat कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का विवादित बयान, बोले- मंदिर की ईंटों पर कुत्ते करते हैं पेशाबIPL 2022, Qualifier 1 RR vs GT: मिलर के तूफान में उड़ा राजस्थान, गुजरात ने पहले ही सीजन में फाइनल में बनाई जगहRajya Sabha Election 2022: राजस्थान से मुस्लिम-आदिवासी नेता को उतार सकती है कांग्रेस'तुम्हारे कदम से मेरी आँखों में आँसू आ गए', सिंगला के खिलाफ भगवंत मान के एक्शन पर बोले केजरीवालसमलैंगिकता पर बोले CM नीतीश कुमार- 'लड़का-लड़का शादी कर लेंगे तो कोई पैदा कैसे होगा'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.