राशनकार्ड धारकों को बड़ा झटका, कम कीमत पर चावल मिलना हुआ मुश्किल, जानिए वजह

राशनकार्ड धारकों को बड़ा झटका, कम कीमत पर चावल मिलना हुआ मुश्किल, जानिए वजह

Ashish Gupta | Publish: Aug, 08 2019 05:59:54 PM (IST) Raipur, Raipur, Chhattisgarh, India

Ration Card Renewal: 7 लाख हितग्राहियों को अपने राशन कार्ड (Ration Card) बनवाने के लिए करीब 1 माह का और इंतजार करना होगा।

रायपुर. Ration card Renewal: सामान्य श्रेणी की आयकर दाता और गैर आयकर दाता वर्ग के करीब 7 लाख हितग्राहियों को अपने राशन कार्ड बनवाने के लिए करीब 1 माह का और इंतजार करना होगा। इससे सामान्य श्रेणी के हितग्राहियों को 2 माह तक राशन दुकानों से कम कीमत पर चावल मिलना मुश्किल हो जाएगा।

दरअसल, राशन कार्ड के नवीनीकरण की प्रक्रिया के बाद खाद्य विभाग इसकी जांच में जुटा है इसके लिए अलग-अलग टीम बनाई गई है। माना जा रहा है कि इस प्रक्रिया को पूरी करने के बाद अगस्त के अंत तक सामान्य श्रेणी की राशन कार्ड बनाना शुरू हो जाएंगे। वर्तमान में सामान्य श्रेणी के लगभग तीन लाख राशन कार्ड है।

लोक सेवा आयोग की भर्ती में ये कैसी गड़बड़ी, जो परीक्षा में नहीं बैठा वो पास हो गया

बताया जाता है कि नए राशन कार्ड बनवाने के लिए एक पन्ने की आवेदन पत्र में जानकारी देनी होगी। साथ ही परिवार की मुखिया की दो पासपोर्ट फोटो, आधार कार्ड और बैंक खाते की फोटो कॉपी लगेगी।

राशन दुकानों में होने वाली गड़बडिय़ों को रोकने के लिए राज्य सरकार ने राशन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक करने का फैसला लिया था इसके बाद भी करीब 18 लाख से अधिक आधार कार्ड लिंक राशन कार्ड से नहीं हो सका है। इसे देखते हुए राज्य सरकार ने आधार कार्ड को लिंक करने की तिथि सितंबर तक बढ़ा दी है।

आधी रात सुनसान सड़क पर अचानक हुई एेसी हरकत पलट गई कार और...

गौरतलब है कि प्रदेश में राशन कार्डों के नवीनीकरण से पहले प्रदेश में 58 लाख 54 हजार राशन कार्ड प्रचलित थे। इसके तहत कुल सदस्यों की संख्या दो करोड़ 14 लाख से अधिक थी। इनमें से एक करोड़ 96 लाख के पास आधार कार्ड है। इनमें से करीब 18 लाख लोगों का आधार कार्ड लिंक नहीं हो सका है।Ration Card Renewal

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned