समितियों में शेष धान का हो त्वरित निराकरण : सीएम

मुख्यमंत्री ने राज्य में उपार्जित धान के निराकरण तथा कस्टम मिलिंग की समीक्षा की
खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में 92 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी

By: lalit sahu

Published: 20 Apr 2021, 08:18 PM IST

रायपुर. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राजधानी स्थित अपने निवास कार्यालय में आयोजित बैठक में राज्य में खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में उपार्जित धान के निराकरण और कस्टम मिलिंग की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने इस दौरान समितियों में शेष धान के त्वरित निराकरण के लिए आवश्यक निर्देश दिए। साथ ही समितियों में निराकरण हेतु शेष धान के उचित रख-रखाव के लिए भी निर्देशित किया।
गौरतलब है कि खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में उपार्जित कुल 92 लाख मीट्रिक टन धान में से 47.37 लाख मीट्रिक टन धान डी.ओ. के माध्यम से मिलर्स को प्रदाय किया जा चुका है तथा 19.68 लाख मीट्रिक टन धान टी.ओ. के माध्यम से संग्रहण केन्द्रों को प्रदाय किया गया है। आज तक नीलामी के माध्यम से 4.59 लाख मीट्रिक टन धान का विक्रय किया जा चुका है। इस तरह समितियों में वर्तमान में 20.36 लाख मीट्रिक टन धान निराकरण हेतु शेष है।
इस अवसर पर मुख्य सचिव अमिताभ जैन, अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, मुख्यमंत्री के सचिव सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी तथा मार्कफेड के प्रबंध संचालक अंकित आनंद उपस्थित थे।

प्रदेशवासियों को रामनवमी की दी शुभकामनाएं
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेशवासियों को 21 अप्रैल को रामनवमी के अवसर पर बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। बघेल ने कहा है कि छत्तीसगढ़ के कण-कण में मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान श्रीराम बसे हैं। यह हम सबके लिए गर्व और हर्ष की बात है कि छत्तीसगढ़ भगवान श्रीराम का ननिहाल रहा है और उन्होंने अपने वनवास का अधिकांश समय यहां बिताया। वनवास काल के दौरान श्रीराम छत्तीसगढ़ में जिस मार्ग से गुजरे थे, उसे राज्य सरकार 'राम वन गमन पर्यटन परिपथ' के रूप में विकसित कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि जिस तरह श्रीराम ने संयम और सहनशीलता से 14 वर्षों का वनवास पूरा किया और संसाधनों तथा सेना के कम होते हुए भी लंका नरेश रावण पर विजय प्राप्त की। विश्वव्यापी कोरोना महामारी के संकट के इस समय में उसी तरह हमें उनके आदर्शों का पालन करते हुए उतने ही संयम से लॉकडाउन का पालन करते हुए कोरोना को हराना है। बघेल ने रामनवमी के अवसर पर प्रदेशवासियों के लिए सुख, समृद्धि, खुशहाली और अच्छे स्वास्थ्य की कामना की है।

lalit sahu Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned