10 महीने बाद 15 फरवरी से प्रदेश में खुल सकते हैं स्कूल, पहले 10वीं और 12वीं की लगेगी क्लास

- 13 फरवरी को प्रस्तावित राज्य मंत्रीपरिषद की बैठक के बाद जारी होगा निर्देश
- 10वीं और 12वीं की क्लास लगेगी पहले

By: Ashish Gupta

Updated: 12 Feb 2021, 09:41 AM IST

रायपुर. कोरोना काल में 10 माह बाद प्रदेश के स्कूलों (Reopening of schools in CG) में 15 फरवरी से रौनक लौटेगी। स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों की मानें तो इस संबंध में राज्य सरकार मंत्री परिषद की बैठक के बाद निर्देश जारी करेंगे। स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने प्रपोजल बनाकर शासन को दिया है। स्कूल शिक्षा विभाग के वरिष्ठ अधिकारी स्कूल खोलने को लेकर सहमति भी बना चुके है। स्कूल शिक्षा विभाग के प्रपोजल पर अंतिम मोहर मंत्री परिषद बैठक में लगेगी। स्कूल खुलने की आशंका के मद्देनजर प्रदेश में स्कूलों का संचालन करने वाले जिम्मेदारों ने तैयारी अभी से शुरू कर दी है।

10वीं और 12वीं की क्लास लगेगी पहले
स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों की मानें तो वर्तमान में बोर्ड की प्रायोगिक परीक्षा चल रही है। प्रायोगिक परीक्षा के बाद छात्रों की तैयारी कराने के मद्देनजर 10वीं और 12वीं की क्लास पहले संचालन करने का निर्देश दिया जाएगा। कोविड गाइड लाइन के तहत 50 प्रतिशत उपस्थित के साथ स्कूल संचालक स्कूल खोल सकेंगे। 10वीं और 12वीं के छात्रों की परीक्षा होने के बाद अन्य कक्षाओं के छात्रों को स्कूल बुलाने का जोर दिया जाएगा। केजी से कक्षा-5वीं तक के छात्रों को इस शिक्षा सत्र नहीं बुलाया जाएगा, ऐसा जिम्मेदारों का कहना है।

ग्रेजुएट और 12वीं पास युवाओं के लिया नौकरी का सुनहरा मौका, 100 पदों पर यहां होगी सीधी भर्ती

18 मार्च से बंद है प्रदेश के स्कूल
प्रदेश में कोरोना का पहला मामला 18 मार्च 2020 को आया था। कोरोना संक्रमित मरीज निकलने के बाद प्रदेश में स्कूलों को बंद करने का निर्देश राज्य सरकार ने जारी कर दिया था। केंद्र सरकार ने 15 अक्टूबर से स्कूल खोलने का निर्देश जारी कर दिया था। कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए प्रदेश सरकार ने स्कूल खोलने के संबंध में निर्देश जारी नहीं किया। अब प्रदेश में कोरोना संक्रमण नियंत्रित की स्थिति में है। इस स्थिति को देखते हुए प्रदेश के निजी स्कूलों के संचालकों ने स्कूल खोलने की मांग स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारी और सीएम से की थी।

मास्क और सेनिटाइजेशन होगा अनिवार्य
स्कूल खोलने से पूर्व स्कूल प्रबंधकों को कोविड गाइड लाइन का पूरा पालन करना होगा। स्कूल प्रबंधकों को अपने परिसर में सेनिटाइजेशन कराना अनिवार्य होगा। स्कूल परिसर में मौजूद शिक्षकों और छात्रों को मास्क पहनना अनिवार्य होगा। विद्यार्थियों को कक्षाओं में उचित दूरी में बिठाना होगा।

स्कूल एसोसिएशन की मेहनत लाई रंग
प्रदेश में निजी स्कूलों का प्रतिनिधित्व करने वाली छत्तीसगढ़ प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने स्कूल खोलने को लेकर सीएम, स्कूल शिक्षा मंत्री और स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों से पिछले दिनों मुलाकात की थी। मुलाकात के दौरान एसोसिएशन के जिम्मेदारों ने सभी को ज्ञापन दिया था और स्कूल खोलने का अनुरोध किया था। एसोसिएशन की मांग पर सीएम ने फरवरी माह से स्कूल खोलने का आश्वासन दिया था।

बड़ी राहत: 10 महीने बाद 12 फरवरी से पटरी पर दौड़ेगी ये स्पेशल लोकल ट्रेनें

छत्तीसगढ़ प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के अध्यक्ष राजीव गुप्ता ने कहा, सीएम, स्कूल शिक्षा मंत्री और स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों से मुलाकात कर स्कूल खोलने की मांग की थी। मंत्री परिषद की बैठक के बाद निर्देश स्कूल खोले जाने का आश्वासन सभी ने दिया है। मंत्री परिषद की बैठक का हमे इंतजार है।

स्कूल शिक्षा विभाग सचिव आलोक शुक्ला ने कहा, स्कूल खोलने के संबंध में शासन से अब तक निर्देश नहीं मिला है। शासन से निर्देश मिलने के बाद ही स्कूल खोलने के संबंध में अंतरिम निर्णय लिया जाएगा।

Show More
Ashish Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned