scriptRisk of prostate cancer increases if not drink milk in right portion | सही मात्रा में दूध नहीं पीने वालों में बढ़ जाता है प्रोस्टेट कैंसर का खतरा, हड्डियों के टूटने का भी रहता है रिस्क | Patrika News

सही मात्रा में दूध नहीं पीने वालों में बढ़ जाता है प्रोस्टेट कैंसर का खतरा, हड्डियों के टूटने का भी रहता है रिस्क

दूध हमारे लिए फायदेमंद तो है लेकिन अगर हम उसकी मात्रा को नियंत्रित नही करते हैं तो दूध पीने से गंभीर बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है।

रायपुर

Updated: September 24, 2021 01:36:55 pm

रायपुर. बचपन से हमें बताया गया कि दूध पीने से हमारी हड्डियां मजबूत होती हैं। रोज हम ऐसे विज्ञापन देखते हैं जिनमे दूध पीने के हजारो फायदे बताये जाते हैं। दूध के गुणों के कारण ही हम इसकी तुलना अमृत से करते हैं। दूध में कैल्शियम , प्रोटीन और विटामिन डी जैसे जरूरी पोषक तत्व पाए जाते हैं। ज्यादतर लोगों के डाईट में किसी न किसी रूप में दूध शामिल होता है।

सही मात्रा में दूध नहीं पीने वालों में बढ़ जाता है प्रोस्टेट कैंसर का खतरा, हड्डियों के टूटने का भी रहता है रिस्क
सही मात्रा में दूध नहीं पीने वालों में बढ़ जाता है प्रोस्टेट कैंसर का खतरा, हड्डियों के टूटने का भी रहता है रिस्क

लेकिन बीते कुछ सालों में हुए स्टडीज में ये पाया गया कि दूध हमारे लिए फायदेमंद तो है लेकिन अगर हम उसकी मात्रा को नियंत्रित नही करते हैं तो दूध पीने से गंभीर बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। अगर दूध से हड्डियाँ मजबूत होती तो जिन देशों में सबसे अधिक मात्रा में दूध की खपत हैं उनमें गठिया और हिप फ्रैक्चर की दर सबसे अधिक नहीं होती।

Weight Loss Tips: बर्फ खाने से वजन कम करने में मिल सकती है मदद, जानें सेवन का तरीका

कैंसर होने का खतरा

साल 2007 में अमेरिकन इंस्टिट्यूट फॉर कैंसर रिसर्च की एक रिपोर्ट में ये बात सामने आई कि दूध और दूध से बने उत्पाद की अधिक मात्रा में उपयोग करने वाले लोगों में प्रोस्टेट कैंसर होने की सम्भावना काफी बढ़ जाती है। डेयरी उत्पाद की खपत के कारण एंडोमेट्रियल कैंसर की भी संभावना बनी रहती है। दूध में पाए जाने वाले लैक्टोज में एक खास तरह की शुगर होती है जिसकी अधिकता होने पर महिलाओं में ओवेरियन कैंसर का भी जोखिम बढ़ जाता है।

हड्डियां होती हैं कमजोर

द अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लिनिकल न्यूट्रीशन में प्रकाशित एक अन्य अध्ययन के अनुसार, पुराने वयस्कों में ऑस्टियोपोरोसिस के कारण हड्डी के फ्रैक्चर उन देशों में अधिक हैं जहां के लोग सबसे अधिक डेयरी, पशु प्रोटीन और कैल्शियम का उपभोग करते हैं। दूध में डी-गैलेक्टोज नामक शर्करा और लैक्टोज पाया जाता है जिसके कारण ऑक्सीडेटिव तनाव बढ़ जाता है जिसके कारण अंगों में सुजन की सम्भावना बनी रहती है। जिसके कारण हमें गंभीर बीमारियों का खतरा भी बना रहता है।

हृदय रोग और उच्च रक्तचाप

दूध में संतृप्त वसा और सोडियम पाया जाता है। ऐसे में अगर आप अधिक मात्रा में दूध पीते हैं तो उच्च रक्तचाप और हृदय रोग का जोखिम बहुत बढ़ जाता है। नियमित 3 गिलास या इससे अधिक दूध पीने वाले लोगों में पुरुषों में हृदय रोग के कारण मौत का खतरा 10 प्रतिशत तक बढ़ जाता है।

मोटापा

दूध में पर्याप्त मात्रा में लैक्टोज,सोडियम और फैट पाया जाता है जिसके कारण मोटापे की समस्या हो सकती है इसीलिए लोगों को फुल क्रीम मिल्क के बजाय लो फैट मिल्क या उससे बने उत्पाद के उपयोग करने की सलाह दी जाती है।

कितनी मात्रा होती है सुरक्षित

प्रतिदिन लगभग 250 मिलीलीटर दूध उन लोगों के लिए पर्याप्त है जो रोजाना पनीर या दही का सेवन करते हैं। इससे अधिक दूध या डेरी उत्पाद का उपयोग करने से बचना चाहिए ।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

Thailand Open: PV Sindhu ने वर्ल्ड की नंबर 1 खिलाड़ी Akane Yamaguchi को हराकर सेमीफाइनल में बनाई जगहIPL 2022 RR vs CSK Live Updates: शतक बनाने से चूके मोईन अली, चेन्नई ने राजस्थान को जीत के लिए दिया 151 रनों का लक्ष्यसुप्रीम कोर्ट में अपने लास्ट डे पर बोले जस्टिस एलएन राव- 'जज साधु-संन्यासी नहीं होते, हम पर भी होता है काम का दबाव'ज्ञानवापी मस्जिद केसः सुप्रीम कोर्ट का सुझाव, मामला जिला जज के पास भेजा जाए, सभी पक्षों के हित सुरक्षित रखे जाएंशिक्षा मंत्री की बेटी को कलकत्ता हाई कोर्ट ने दिए बर्खास्त करने के निर्देश, लौटाना होगा 41 महीने का वेतनOla-Uber की मनमानी पर लगेगी लगाम! CCPA ने अनुचित व्यवहार के लिए भेजा नोटिस, 15 दिन में नहीं दिया जवाब तो हो सकती है कार्रवाईHyderabad Encounter Case: सुप्रीम कोर्ट के जांच आयोग ने हैदराबाद एनकाउंटर को बताया फर्जी, पुलिसकर्मी दोषी करारInflation Around World : महंगाई की मार, भारत से ज्यादा ब्रिटेन और अमरीका हैं लाचार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.