खेती-किसानी के लिए मिलेगा 4600 करोड़ रुपए का ऋण, अब तक 215 करोड़ रुपए वितरित

मुख्यमंत्री ने कहा- अग्रिम रूप से खाद-बीज के उठाव के लिए किसानों को प्रेरित करें

By: Nikesh Kumar Dewangan

Updated: 05 May 2020, 06:27 PM IST

रायपुर. इस साल राज्य सरकार खरीफ सीजन में किसानों को 4600 करोड़ रुपए का ऋण बांटेगी। अब तक राज्य के 61 हजार 700 किसानों को खरीफ की खेती के लिए 215 करोड़ रुपए वितरित भी किया जा चुका है।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में पिछले दिनों हुई सहकारिता और मार्कफेड की बैठक में यह बात सामने आई। बैठक में मुख्यमंत्री ने खरीफ सीजन के लिए किसानों को अग्रिम रूप से खाद-बीज का उठाव करने के लिए प्रेरित करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि खाद-बीज के अग्रिम उठाव से किसानों को ब्याज अनुदान का भी अधिक लाभ प्राप्त हो सकेगा तथा सीजन के समय में किसानों को दिक्कत नहीं होगी।
बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा, हर साल राज्य में धान खरीदी के सीजन में असामयिक वर्षा की वजह से धान भींगता है, इससे समितियों और किसानों को नुकसान होता है। उन्होंने समर्थन मूल्य पर क्रय किए जाने वाले धान को खराब होने से बचाने के लिए सभी समितियों में पर्याप्त संख्या में चबूतरों एवं शेड का निर्माण कराया जाना चाहिए। बैठक में सहकारिता मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने बताया, राज्य के सहकारी बैंकों द्वारा 15 लाख 3 हजार किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड जारी किया गया है। राज्य की 1333 सहकारी समितियों के माध्यम से रासायनिक खाद व प्रमाणित बीज का भंडारण और वितरण भी शुरू कर दिया गया है। खरीफ के लिए राज्य में 6 लाख 35 हजार मीट्रिक टन रासायनिक खाद के वितरण का लक्ष्य है जिसके विरूद्ध अब तक 3 लाख 63 हजार मीट्रिक टन खाद का भंडारण सहकारी संस्थाओं में किया जा चुका है, जो राज्य की मांग का 57.16 प्रतिशत है। राज्य में सहकारी समितियों के माध्यम से अब तक 33 हजार 343 टन रासायनिक खाद किसानों वितरित कर दी गई है।

Nikesh Kumar Dewangan Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned