अद्भुत है छत्तीसगढ़ का कंकाली तालाब जहां पर सदियों से तालाब में डूबे हैं भगवान शिव, पढ़ें पूरा इतिहास

अद्भुत है छत्तीसगढ़ का कंकाली तालाब जहां पर सदियों से तालाब में डूबे हैं भगवान शिव, पढ़ें पूरा इतिहास

Akanksha Agrawal | Updated: 22 Jul 2019, 07:02:00 AM (IST) Raipur, Raipur, Chhattisgarh, India

छत्तीसगढ़ का ह्दय कहे जाने वाले पुरानी बस्ती में स्थित है कंकाली तालाब, जहां कंकाली माता का भव्य मंदिर भी स्थित है। इस जगह पर तंत्र-मंत्र करने वाले नागा साधूओं ने यहां पर कंकाली माता के मंदिर और शिवलिंग का निर्माण करवाया।

आकांक्षा अग्रवाल@रायपुर. सावन का महीना शुरू होते ही हर कोई शिव भक्त भगवान शिव की पूजा अर्चना करना चाहता है। पर छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में एक ऐसा शिवलिंग है, जहां पर चाह कर भी कोई शिवलिंग के दर्शन नहीं कर सकता। क्योंकि यह शिवलिंग करीब 30 फुट गहरे तालाब में स्थित है और इस तालाब में लबालब पानी भरा हुआ है।

छत्तीसगढ़ का ह्दय कहे जाने वाले पुरानी बस्ती में स्थित है कंकाली तालाब, जहां कंकाली माता का भव्य मंदिर भी स्थित है। बताया जाता है कि लगभग 600 साल पहले तक यह जगह जो आज पूरी तरह भरी हुई है, बिल्कुल वीरान जंगल और श्मशान हुआ करती थी। इस जगह पर तंत्र-मंत्र करने वाले नागा साधूओं ने यहां पर कंकाली माता के मंदिर और शिवलिंग का निर्माण करवाया।

काफी समय तक इस मंदिर में नागा साधू भगवान शिव की पूजा अर्चना करने आते थे, पर अचानक यहां पर ऐसा चमत्कार हुआ कि धरती से पानी की धारा फूट पड़ी और मंदिर पूरी तरह से तालाब में डूब गया। इसके बाद कई बार तालाब के पानी को निकाल कर भगवान के मंदिर को लोगों के लिए दोबारा खुलवाने की कोशिश की गई, पर आज तक इस मंदिर का पानी नहीं सूखा।

kankali mata mandir

यहां कंकाली माता की पूजा के बाद होती है भगवान शिव की पूजा
यहां के पंडितों का मानना है कि यहां पर सदियों से कंकाली माता की पूजा भगवान शिव से पहले की जाती है। इसके बाद ही तालाब के ऊपर से ही भगवान शिव की अराधना की जाती है। बताया जाता है कि महंत कृपाल गिरी महाराज ने एक सपने के आधार पर इस मंदिर का निर्माण करवाया था।

भीषण गर्मी में भी नहीं सूखता तालाब
गर्मी के समय जब राजधानी के नदी व तालाब सूखने लगते हैं तब भी छत्तीसगढ़ का ये चमत्कारी कंकाली तालाब हमेशा की तरह लबालब भरा रहता है। इसी कारण आज तक कोई भी इस तालाब में डूबे मंदिर के दर्शन नहीं कर पाया है।

तालाब में डूबकी लगाने से मिलती है रोगों से मुक्ति
यहां के लोगों का मानना है कि इस तालाब के पानी में ऐसी शक्ति है कि यहां पर स्नान करने से कई प्रकार की गंभीर बीमारियों से राहत मिलता है। इस तालाब के पानी में स्नान करने से चर्मरोग और खुजली जैसी समस्याओं का निवारण तुरंत हो जाता है। इसके अलावा इस तालाब के पानी में कई प्रकार के औषधीय गुण पाया जाता है।

Chhattisgarh Unique story पढ़ने के लिए क्लिक करें यहां

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..

LIVE अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News

एक ही क्लिक में देखें Patrika की सारी खबरें

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned