स्कूल एसोसिएशन पदाधिकारियों की बैठक, मोहल्ला क्लास की तर्ज पर स्कूल खोलने की तैयारी

- सरकार से चर्चा करने से पूर्व छत्तीसगढ़ प्रायवेट स्कूल एसोसिएशन पदाधिकारियों की बैठक, मोहल्ला क्लास की तर्ज पर स्कूल खोलने की तैयारी, 9 वीं से 12 वीं तक के छात्रों को पढ़ाने की करेंगे मांग .

By: Bhupesh Tripathi

Published: 08 Oct 2020, 10:53 PM IST

रायपुर। पड़ोसी राज्यों के तर्ज पर प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था पटरी पर आ सके, इसलिए दत्तीसगढ़ प्रायवेट स्कूल एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने सरकार से मांग करने से पूर्व बैठक का आयोजन किया।

बैठक में एसोसिएशन से संबद्धता रखने वाले निजी स्कूलों के संचालक उपस्थित हुए और सबने एक राय में केंद्र की गाइड लाइन के तर्ज पर कक्षा- 9 वीं से 12 वीं तक की क्लास स्कूल में संचालन करने और अन्य छात्रों की कक्षा ऑनलाइन संचालन करने की मांग की। एसोसिएशन से संबद्धता रखने वाले निजी स्कूलों के संचालकों ने कहा, कि शासकीय स्कूलों की तरह उन्हें भी मोहल्ला क्लास संचालन करने का निर्देश जारी किया जाए, ताकि छात्रों का सिलेबस पूरा हो और स्कूलों की आर्थिक व्यवस्था पटरी पर आ सके। मामलें में स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों का कहना है, कि अब तक हमारे पास किसी भी तरह की मांग नहीं आई है। मांग आने पर मामलें में विचार किया जाएगा।


मार्च माह से स्कूल है बंद

प्रदेश में पहले लॉकडाउन के बाद राज्य सरकार के निर्देश पर स्कूलों को बंद कर दिया गया था। छात्रों का सिलेबस पूरा हो सके, इसलिए स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने स्कूलों को ऑनलाइन क्लास लगाकर सिलेबस पूरा कराने का निर्देश दिया था। स्कूलों ने बच्चों को ऑनलाइन क्लास में पढ़ाए, लेकिन फीस जमा नहीं होने के चक्कर में कई स्कूल बंद होने की कगार पर आ गए है। बंद होने की कगार पर आए स्कूलों को केंद्र सरकार के कक्षा ९वीं से १२वीं तक क्लास स्कूल में संचालन करने के निर्देश ने संजीवनी देने का काम किया है। निजी स्कूल जल्द सीएम से मुलाकात करके स्कूल खोलने की मांग करेंगे।

ऑनलाइन क्लास का कर रहे मूल्यांकन

निजी स्कूलों के जिम्मेदारों ने बताया, कि छात्रों की ऑनलाइन क्लास लगाने का साथ ही उनका ऑनलाइन मूल्यांकन किया जा रहा है। ऑनलाइन क्लास ने स्कूलों का खर्च बढ़ा दिया है। शिक्षकों को सामग्री मुहैय््या करानी पड़ी है। ऑनलाइन क्लास लगाने के बावजूद पालक शुल्क देने में आनाकानी कर रहे है, जिस वजह से व्यवस्था धीरे-धीरे चौपट हो रही है।


जिस तरह से शासकीय स्कूल मोहल्ला क्लास चला रहे है, उस तरह से हमे भी अपने छात्रों को पढ़ाने का निर्देश जारी किया जाएगा। दूसरे राज्यों की तरह ९वीं से १२वीं तक स्कूल संचालन का इजाजत मिल सके, इसलिए सीएम से मुलाकात करेंगे। पढ़ाई व्यवस्था पटरी पर आए, इसलिए राज्य सरकार को मामलें मंे पहल करनी चाहिए।
राजीव गुप्ता, अध्यक्ष, छत्तीसगढ़ प्रायवेट स्कूल एसोसिएशन

निजी स्कूलों की मांग अब तक हमारे पास नहीं पहुंची है। मांग सामने आने पर मामले में विचार किया जाएगा।
आलोक शुक्ला, सचिव, स्कूल शिक्षा विभाग

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned