सेक्स सीडी कांड: FSL रिपोर्ट में सामने आए कुछ और संदेहियों के नाम, नए तथ्यों की तलाश में CBI

सेक्स सीडी कांड: FSL रिपोर्ट में सामने आए कुछ और संदेहियों के नाम, नए तथ्यों की तलाश में CBI

Deepak Sahu | Publish: Feb, 15 2018 01:51:23 PM (IST) | Updated: Feb, 15 2018 01:57:25 PM (IST) Raipur, Chhattisgarh, India

सीबीआई के आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इस मामले की सिलसिलेवार कडिय़ों को जोड़ा जा रहा है। इसके साथ ही गोपनीय रूप से जुटाए गए इनपुट को भी खंगालने का काम

सीबीआई की टीम को सेक्स सीडी कांड में नए तथ्यों की तलाश

रायपुर . मंत्री की कथित सेक्स सीडी कांड में नए तथ्यों की एक बार फिर तलाश करने में जुट गई है। बुधवार को तीन लोगों से पूछताछ की गई। इसमें एक कारोबारी और दो उसके सहयोगी बताए जा रहे हैं। एफएसएल रिपोर्ट मिलने पर कुछ और संदेहियों के नाम भी सामने आने की जानकारी मिली है। इसके आधार पर नई प्रश्रावली भी तैयार की गई है।

READ MORE: वैलेंटाइन डे पर कपल के साथ दर्दनाक हादसा: पत्नी की मौत, पति की हालत गंभीर
सीबीआई के आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इस मामले की सिलसिलेवार कडिय़ों को जोड़ा जा रहा है। इसके साथ ही गोपनीय रूप से जुटाए गए इनपुट को भी खंगालने का काम चल रहा है। गौरतलब है कि मामला हाइप्रोफाइल होने के कारण सावधानी बरती जा रही है।
अधिवक्ता से सलाह
सीबीआई द्वारा अपने अधिवक्ता के साथ सलाह मशविरा के बाद गवाहों की सूची में १५ अन्य लोगों के नाम भी शामिल किए जाने की जानकारी मिली है। ज्ञात हो कि सीबीआई द्वारा चालान पेश नहीं किए जाने पर कोर्ट ने विनोद वर्मा को जमानत पर रिहा कर दिया था। लेकिन, कोर्ट ने नियमानुसार उन्हे हर महीने प्रथम सप्ताह में सीबीआई के समक्ष अपनी उपस्थिति दर्ज कराने का निर्देश दिया था।

यह है मामला

अश्लील सीडीकांड में पुलिस ने २७ अक्टूबर २०१७ को उत्तरप्रदेश के गाजियाबाद स्थित इंदिरापुरम कालोनी में दबिश देकर विनोद वर्मा को गिरफ्तार किया था। उसके घर से डायरी, लैपटाप, पेन ड्राइव, सीडी सहित अन्य दस्तावेज जब्त करने का दावा किया था। हालांकि इस मामले में आरोपी बनाए गए वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा ने पूरे मामले को फर्जी बताते हुए साजिश के तहत फंसाया का आरोप लगाया था। वहीं उनके अधिवक्ता ने कोर्ट में साक्ष्य के साथ छेड़छाड़ करने की आशंका भी जताई थी।

Ad Block is Banned