शंकराचार्य महाराज का बड़ा बयान, बोले- भारत में लोकतंत्र फेल है...

Chandu Nirmalkar

Publish: Jul, 13 2018 07:51:49 PM (IST)

Raipur, Chhattisgarh, India

धर्म नियंत्रित, पक्षपात विहीन, शोषण मुक्त, सर्वकल्याणकारी राजनीति ही असल राजनीति है। भारत में फिलवक्त संसद, विधानसभाएं असफल साबित हो रही हैं। ऐसा ही अमरीका में भी नजर आया। वहां जब एक व्यक्ति ऊल-जुलूल बातें कर रहा था, तभी मुझे लग रहा था कि अगर इस व्यक्ति को चुना गया, तो मानना पड़ेगा कि अमरीका बौद्धिक स्तर वाला देश नहीं। और वही हुआ। भारत में भी प्रजातंत्र नहीं चल पा रहा। आदि शंकराचार्य ने भारत की 4 धार्मिक राजधानियां बनाकर दुनिया की सर्वोच्च व्यवस्था दी थी। हम इसे नहीं संभाल पाए। अंग्रेज तो चाहते ही यह थे। वही हुआ। वे हमारे यहां से राजवंशों को समाप्त कर गए, लेकिन स्वयं के राजवंश महारानी एलिजाबेथ को पोषित करके रखे हुए हैं। जबकि हमारे राजवंशों में सुधार की जरूरत तो थी, परंतु पूरी तरह से उखाड़ फेंकने की नहीं। हमारे पास धर्म आधारित राज्य व्यवस्था के सर्वश्रेष्ठ उदाहरण हैं। हम दर्शन, व्यवहार, विज्ञान हर आधार पर मजबूत व्यवस्था के जनक हैं, तो ऐसा कोई कारण नहीं था कि धर्म उपेक्षित होता।

Ad Block is Banned