आउटडोर स्टेडियम से हटेगा साई सेंटर, राज्य सरकार से मांगी आधुनिक सुविधायुक्त दूसरी जगह

राजधानी के बूढ़ापारा स्थित आउटडोर स्टेडियम में संचालित एकमात्र भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) की आवासीय अकादमी को अव्यवस्था के कारण अब दूसरी जगह स्थानांतरित किया जाएगा। गुरुवार को यह फैसला रायपुर पहुंची साई की रिजिनल डायरेक्टर मंजूश्री दयानंद ने किया।

By: Dinesh Kumar

Updated: 22 Jan 2021, 01:37 AM IST

रायपुर पहुंची साई की रिजिनल डायरेक्टर मंजूश्री सेंटर की अव्यवस्था पर भड़की

कहा-दूसरी जगह मिलने पर ही दोबारा शुरू होगा सेंटर

रायपुर. राजधानी के बूढ़ापारा स्थित आउटडोर स्टेडियम में संचालित एकमात्र भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) की आवासीय अकादमी को अव्यवस्था के कारण अब दूसरी जगह स्थानांतरित किया जाएगा। गुरुवार को यह फैसला रायपुर पहुंची साई की रिजिनल डायरेक्टर मंजूश्री दयानंद ने किया। निरीक्षण के दौरान आउटडोर में संचालित साई सेंंटर में खिलाडिय़ों के ठहरने और सुरक्षा की अव्यवस्था को देखकर वह भड़क उठीं और सेंटर को दूसरी जगह शिफ्ट करने का निर्णय कर लिया। उनका कहना है कि यहां खिलाडिय़ों के रहने लायक व्यवस्था नहीं है। सेंटर को शिफ्ट करने के लिए राज्य सरकार से आधुनिक और सर्वसुविधायुक्त वाले अधोसंरचना की मांग की गई है। अब नई जगह मिलने पर ही रायपुर में साई सेंटर दोबारा शुरू किया जाएगा। जब तक सेंटर के लिए नए स्थान का फैसला नहीं होगा, तब तक सेंटर को दोबारा नहीं शुरू किया जाएगा। साई की रिजिनल डायरेक्टर मंजूश्री प्रदेश में नए सेंटर खोलने की स्वीकृति मिलने के बाद अधोसंरचना के निरीक्षण के लिए छत्तीसगढ़ के दौर पर आई हुईं हैं। उल्लेखनीय है कि रायपुर साई सेंटर में तीरंदाजी और वालीबॉल खेलों की आवासीय अकादमी संचालित है। कोरोनाकाल में खिलाडिय़ों को उनके घर वापस भेज दिया गया है।

नए सिरे से होगा राज्य सरकार से एमओयू
साई की आरडी मंजूश्री दयानंद नेे बताया कि सेंटर के लिए दूसरी जगह मिलने पर राज्य सरकार से नय एमओयू साइन किया जाएगा, जिसमें मैदान समेत कई अधिकार साई के पास होंगे।

इन स्थानों पर स्थानांतरित हो सकता है सेंटर

स्वामी विवेकानंद अंतरराष्ट्रीय एथलेटिक्स स्टेडियम कोटा, रायपुर
सुभाष स्टेडियम, रायपुर
फुंडहर गल्र्स हॉस्टल, रायपुर

गंदगी और अव्यवस्था देखकर भड़कीं डायरेक्टर
आउटडोर स्टेडियम के साई सेंटर में खिलाडिय़ों के रहने की जगह पर फैली गंदगी

बाथरूम और वाशिंग एरिया कई जगह से टूटे-फूटे होने पर
कई जगह से सीवेज सिस्टम खराब होना

फायर सिस्टम की व्यवस्था न होना और आग जैसी दुर्घटना होने पर खिलाडिय़ों के बाहर निकलने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था न होना
खेल मैदान कई जगहों से उबर खाबड़ होना।


खेलो इंडिया के फंड से बनेगा हिन्द स्पोर्टिंग मैदान

लाखेनगर स्थित हिन्द स्पोर्टिंग मैदान में सिंथेटिक फुटबॉल मैदान बनाया जाएगा। इस मैदान को साई खेलो इंडिया फंड से निर्माण कराएगा। इसके लिए गुरुवार को साई की रिजिनल डायरेक्टर ने हिन्द स्पोर्टिंग मैदान का भी निरीक्षण किया।

आदिवासी खिलाडिय़ों को दी जाएगी प्राथमिकता
साई की आरडी मंजूश्री दयानंद का कहना है कि अब रायपुर सेंटर में खिलाडिय़ों की भर्ती के लिए नए सिरे से ट्रायल कराया जाएगा, जिसमें प्रतिभावान आदिवासी खिलाडिय़ों को प्राथमिकता दी जाएगी। खिलाडिय़ों के चयन के लिए भोपाल से विशेषज्ञ बुलाए जाएंगे, जो उनकी खेल प्रतिभा को देखकर उसी खेल के लिए तैयार करेंगे। इसके अलावा रायपुर सेंटर में अब उन्हीं खेलों को जगह दी जाएगी, जिन खेलों के खिलाड़ी ट्रायल के दौरान चयन किए जाएंगे।


बिलासपुर में एक्सीलेंस सेंटर खोलने में होगी देरी

बिलासपुर के बहतराई स्थित राज्य प्रशिक्षण केंद्र में साई ने तीन खेल एथलेटिक्स, कुश्ती और तैराकी का एक्सीलेंस सेंटर खोलने की स्वीकृति प्रदान की है। साई की आरडी मंजूश्री दयानंद ने बिलासपुर में अधोसंरचना का निरीक्षण किया, जिसमें उन्होंने कई तकनीकी खामियां पाई है। उन्होंने मैदान को खेल विभाग को ठीक करने के लिए कहा है, इसके लिए भोपाल सेंटर से तकनीकी विशेषज्ञ आएंगे। अब मैदान ठीक होने के बाद ही बिलासपुर में एक्सीलेंस सेंटर की शुुरुआत होगी।

Dinesh Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned