अब खुद लौह अयस्कों का खनन करेगी राज्य सरकार, खनिज संसाधनों का सही उपयोग करने बनाएगी नियम

राज्य सरकार कांकेर जिले के अंतर्गत आरीडोंगरी लौह अयस्क परियोजना का संचालन जल्द ही शुरू करेगी

By: Deepak Sahu

Published: 19 Jan 2019, 12:03 PM IST

रायपुर. राज्य सरकार कांकेर जिले के अंतर्गत आरीडोंगरी लौह अयस्क परियोजना का संचालन जल्द ही शुरू करेगी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में खनिज विकास निगम के संचालक मण्डल की बैठक में यह फैसला लिया गया। बैठक में मुख्यमंत्री ने राज्य के विकास और हित को ध्यान में रखते हुए खनिज संसाधनों के सही ढंग से दोहन और बेहतर उपयोग करने के संबंध में अफसरों को आवश्यक निर्देश दिए।

अफसरों के मुताबिक आरीडोंगरी में पाए जाने वाला लौह अयस्क की गिनती उच्च श्रेणी के अयस्कों में की जाती है। इसके अलावा सरगुजा जिले के मैनपाट तहसील के अंतर्गत ग्राम पथराई में बाक्साइट खनिज के खनन और विपणन के संबंध में भी निर्णय लिया गया। इसी तरह कबीरधाम तथा सरगुजा जिले स्थित बाक्साइट धारित क्षेत्रों और आरीडोंगरी आयरन ओर ब्लॉक के अन्वेषण के कार्य को प्राथमिकता के आधार पर किए जाने का फैसला हुआ है।

बैठक में विभागीय कामकाज में और गति लाने के लिए अटलनगर के सेक्टर 24 में निर्मित ऑफिस कॉम्प्लेक्स में छत्तीसगढ़ खनिज विकास निगम के मुख्य कार्यालय के संचालन किए जाने के संबंध में भी चर्चा हुई। इस दौरान मुख्य सचिव सुनील कुमार कुजूर, खनिज सचिव गौरव द्विवेदी सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

Show More
Deepak Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned