दिनभर ड्रामा, कभी भूपेश-सिंहदेव नाराज तो कभी ताम्रध्वज, कोई भी डिप्टी सीएम बनने को तैयार नहीं

दिनभर ड्रामा, कभी भूपेश-सिंहदेव नाराज तो कभी ताम्रध्वज, कोई भी डिप्टी सीएम बनने को तैयार नहीं

Deepak Sahu | Publish: Dec, 16 2018 08:32:36 AM (IST) Raipur, Raipur, Chhattisgarh, India

राहुल गांधी ने यह सन्देश छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री पद के चार दावेदारों के साथ खींची गई एक तस्वीर के साथ ट्वीट किया है

रायपुर. राहुल गांधी ने यह सन्देश छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री पद के चार दावेदारों के साथ खींची गई एक तस्वीर के साथ ट्वीट किया है। विधानसभा चुनाव परिणामों की घोषणा के 72 घंटों से ज्यादा का वक्त बीत चुका है, सीएम पद के दावेदारों की पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ चार दौर की बैठक खत्म हो चुकी हैं, मगर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री का फैसला अब तक नहीं हो पाया है।

प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने दिल्ली में ऐलान किया है कि अब विधायक दल की बैठक रविवार दोपहर में 12 बजे होगी और ठीक उसी वक्त बताया जाएगा मुख्यमंत्री कौन होगा। इधर, रायपुर में मुख्यमंत्री पद की दौड़ में शामिल नेताओं के घर पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। समर्थक अपने-अपने नेताओं के घरों के बाहर जमे हुए हैं।

शुक्रवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री पद के दावेदार ताम्रध्वज साहू, टीएस सिंहदेव, भूपेश बघेल और डॉ. चरणदास महंत के बीच जब पहले दौर की बातचीत के बाद फैसला नहीं हो पाया तो शनिवार सुबह 11 बजे उन्हें फिर से बुलाया गया।

करीब दो घंटे चली दूसरे दौर की बैठक भी बिना किसी निर्णय के खत्म हो गई। इसके पहले की नेता बुक किए गए चार्टर्ड प्लेन से वापस लौटते, तीसरी बार दोपहर 3 बजे एकबार फिर उन्हें राहुल गांधी के आवास पर आने को कहा गया। पार्टी सूत्रों की माने तो लगातार होते जा रहे इस विलम्ब की वजह यह थी कि छत्तीसगढ़ में सीएम पद का कोई भी दावेदार उप मुख्यमंत्री बनने के लिए तैयार नहीं था।

इस बीच बात बनती न देख राहुल को सोनिया गांधी को वस्तुस्थिति बतानी पड़ी। करीब 4 बजे सोनिया गांधी राहुल गांधी के आवास पर पहुंची। उनकी उपस्थिति में नेताओं से बात की गई। शाम 5 बजे बैठक अभी खत्म भी नहीं हुई थी कि ताम्रध्वज सबसे पहले उठकर बाहर चले आए। इस बात की चर्चा जोरों से शुरू हुई कि ताम्रध्वज नाराज हैं।

हालांकि बाद में बैठक खत्म होने के बाद प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने कहा कि ताम्रध्वज साहू की रेगुलर फ्लाइट थी, इसलिए वो सबसे पहले चले गए। बैठक खत्म होने के बाद शाम 8.30 बजे सीएम पद के तीनों दावेदार ताम्रध्वज साहू को मनाने उनके दिल्ली स्थित निवास पर पहुंचे। इसके पहले सिंहदेव और भूपेश ने महंत के घर पर एक बैठक की।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार शाम 4.42 मिनट पर छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री पद के चारों दावेदारों के साथ एक तस्वीर ट्वीट की। अंदाज ठीक वैसा, जैसा राहुल ने राजस्थान-मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री पद के दावेदारों के साथ तस्वीर ट्वीट की थी। तस्वीर में चरणदास महंत, ताम्रध्वज साहू, राहुल गांधी, भूपेश बघेल और टीएस सिंह देव।

फोटो ट्वीट करने के बाद मप्र और राजस्थान में तो स्थिति स्पष्ट हो गई थी। छत्तीसगढ़ में भी इस फोटो का अर्थ यह निकाला जा रहा है कि चारों नेताओं को सरकार में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी मिलेगी। सीएम के नाम का ऐलान रविवार को होगा।

दो घंटे विधायकों को बैठाकर टाल दी बैठक
मुख्यमंत्री की घोषणा की औपचारिकता के लिए कांग्रेस विधायकों को शाम 4 बजे ही राजीव भवन बुला लिया गया था। विधायकों को प्रथम तल स्थित कॉन्फ्रेस हॉल में बैठाया गया। सभी को उम्मीद थी कि 5.30 बजे तक बैठक शुरू हो जाएगी। करीब 2 घंटे बैठाए रखने के बाद नेताओं के रायपुर नहीं आने और बैठक रविवार तक के लिए टल जाने की सूचना दी गई।

इन फॉर्मूलों पर बनती दिख रही बात
बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री के नामों पर उभरे गतिरोध के बाद दो फॉर्मूलों पर बात बनी है। इसमें पहला है भूपेश मुख्यमंत्री होंगे और टीएस सिंहदेव उप मुख्यमंत्री। देर शाम एक दूसरा फॉर्मूला सामने आया, जिसमें कहा गया कि भूपेश बघेल और टीएस सिंहदेव ढाई-ढाई साल मुख्यमंत्री होंगे।

ताम्रध्वज के समर्थन में सडक़ पर उतरा साहू समाज
राजधानी में ताम्रध्वज साहू के मुख्यमंत्री बनने की सूचना के बाद उत्साहित साहू समाज शाम होने के बाद नाराज हो उठा। मुख्यमंत्री पद से ताम्रध्वज का पत्ता कट जाने की सूचना के बाद समाज के कुछ पदाधिकारियों ने टिकरापारा स्थित साहू समाज के भवन में बैठक कर विरोध जताने का फैसला किया।

उसके बाद वे लोग चौराहे पर खड़े होकर नारेबाजी करने लगे। इसमें जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के कुछ नेता भी शामिल थे। समाज के पदाधिकारी मृगेंद्र साहू ने कहा, ताम्रध्वज को सीएम न बनाकर कांग्रेस ने साहू समाज का अपमान किया है। अभी तक भाजपा के साथ रहे समाज के लोग ताम्रध्वज के नाम पर ही कांग्रेस को वोट दिए हैं। एक और पदाधिकारी विद्यावती साहू ने कहा, कांग्रेस को इसका खामियाजा लोकसभा चुनाव में चुकाना होगा।

एकसाथ आने का कार्यक्रम भी बदला
कार्यक्रम बदलने के साथ ही सभी नेताओं के एकसाथ रायपुर आने की योजना भी बदल गई है। बताया जा रहा है कि जिस 16 सीटर चार्टर्ड हवाई जहाज को कांग्रेस ने शनिवार के लिए बुक किया था, वह रविवार को उपलब्ध नहीं है। उसकी जगह एक 6 सीटर हवाई जहाज मिला है।

ऐसे में मुख्यमंत्री पद के दावेदारों के साथ गए विधायक डॉ. शिव डहरिया, विकास उपाध्याय और देवेंद्र यादव सुबह 5.30 बजे की उड़ान से रायपुर के लिए रवाना होंगें। भूपेश बघेल, चरणदास महंत, ताम्रध्वज साहू, प्रभारी सचिव अरुण उरावं और चंदन यादव 6.30 बजे की उड़ान से आएंगे। वहीं, प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया, पर्यवेक्षक मल्लिकार्जुन खडग़े के साथ टीएस सिंहदेव सुबह 10 बजे विशेष विमान से रायपुर पहुंचेंगे।

छत्तीसगढ़ कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने कहा कि मुझे यह समझ में नहीं आता कि इतनी जल्दबाजी क्यों है ? राज्यपाल ने सोमवार 4.30 बजे का समय दिया है। हम रविवार 12 बजे विधायक दल की बैठक में ऐलान कर देंगे कि मुख्यमंत्री कौन होगा?

पूर्व मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश दिग्विजय सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ में सीएम पद के चारों उम्मीदवारों ने मेरे साथ काम किया है। चारों ही इस पद के योग्य हैं, राहुल तय करे इस पद के कौन ज्यादा योग्य है।

पूरे दिन माहौल रहा गर्मइधर, छत्तीसगढ़ में राजीव भवन से लेकर सीएम पद के दावेदारों के घर और उनके विधानसभा क्षेत्रों में पूरे दिन माहौल बेहद गर्म रहा। सिंहदेव के आवास पर सरगुजा और बिलासपुर के तकरीबन एक दर्जन विधायक दिन में बैठे हुए थे। वहीं, दुर्ग में जब ताम्रध्वज साहू के नाम पर संशय को लेकर साहू समाज के लोगों ने अपनी नाराजगी व्यक्त करनी शुरू दी, तब राजीव भवन में विधायकों को एक हाल में बैठने को कहा गया। उन्हें मीडिया के सामने किसी भी किस्म की बयानबाजी से बचने की हिदायत दी गई थी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned