छत्तीसगढ़ में भी शुरू हुई अब चाय की खेती, इन महिलाओं ने उठाया बीड़ा

जशपुर जिले की चाय अब जिले ही नहीं बल्कि पूरे छत्तीसगढ़ के लोगों के प्याले तक पहुंच रही है।

By: Deepak Sahu

Published: 30 Dec 2018, 02:36 PM IST

जशपुरनगर/रायपुर. छत्तीसगढ़ में महिलाओं के एक समूह ने चाय उत्पादन का काम शुरू किया। पूरी मेहनत के साथ वो इस काम में लगी रही। आज उनकी मेहनत रंग ला रही है। जशपुर जिले की चाय अब जिले ही नहीं बल्कि पूरे छत्तीसगढ़ के लोगों के प्याले तक पहुंच रही है।

चाय में है ताजगी और शुद्धता
जशपुर के सारूडीह ग्राम पंचायत में खेती से उत्पादित चाय का स्वाद लोग पसंद कर रहे हैं। यहां की चाय में ताजगी और शुद्धता भी है। अब इस चाय को आकर्षक ढंग से पैक कर बाजार की दुकानों में उपलब्ध कराया जा रहा है। चाय उत्पादन के कार्य मे लगी महिला समूह की सदस्यों के चेहरे पर गजब की मुस्कान दिख रही है। उनकी मेहनत का परिणाम बाजार में उपलब्ध है और लोगों की पसंद बनती जा रही है। चाय उत्पादन से स्थानीय लोगों को रोजगार भी उपलब्ध हुआ है।

पहाड़ी की तलहटी को बना दिया आकर्षक चाय बागान
जशपुर की उर्वरा भूमि चाय के लिए अनुकूल है। यहां के मेहनतकश मजदूरों ने सारूडीह के पहाड़ी की तलहटी को आकर्षक चाय बागान का रूप दे दिया है। शासन की योजना के तहत् आधुनिक तरीके से ड्रीप सिंचाई की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। इसी प्रकार पौधों के लिए जैविक खाद बागान के अंदर ही तैयार किया जा रहा है। साथ ही चाय की पत्तियों को सुखाने के लिए सौर ऊर्जा से संचालित आधुनिक ड्रायर मशीन भी स्थापित की जा रही है।

Deepak Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned