टीचर्स ने बताए एग्जाम की तैयारी के फंडे, स्टूडेंट्स को कर रहे ऑनलाइन मोटिवेट

अब बचे हुए विषयों के पेपर 1 से 15 जुलाई के बीच होने हैं। इसके लिए जहां बच्चों खुशी जाहिर करते हुए एग्जाम की तैयारी शुरू कर दी है। बच्चों के रिजल्ट बेहतर हो और होने वाले एग्जाम में वह अधिक नंबर गेन कर सकें इसके लिए टीचर्स ने भी पूरी मेहनत कही है।

By: Yagya Singh Thakur

Updated: 24 May 2020, 01:31 AM IST

रायपुर कोविड-19 महामारी के चलते केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) बोर्ड ने 10वीं और 12वीं की जो परीक्षाएं न लेने का फैसला लिया था उसे बदलते हुए फिर से परीक्षा की डेट जारी कर दी है। अब बचे हुए विषयों के पेपर 1 से 15 जुलाई के बीच होने हैं। इसके लिए जहां बच्चों खुशी जाहिर करते हुए एग्जाम की तैयारी शुरू कर दी है। बच्चों के रिजल्ट बेहतर हो और होने वाले एग्जाम में वह अधिक नंबर गेन कर सकें इसके लिए टीचर्स ने भी पूरी मेहनत कही है। उनके द्वारा बच्चों को एग्जाम की तैयारी लॉकडाउन के दौरान घर पर रहकर कैसे करें इसकी टिप्स दी गई है। साथ ही साथ उन्हें ऑनलाइऩ बुलाकर उनकी प्रॉबलम्स को भी सॉल्व किया जा रहा है। टीचर्स और बच्चों के बीच तालमेल बना रहे इसके लिए स्कूल प्रबंधन भी रोजाना टीचर्स से चर्चा कर उनकी तैयारी और बच्चों के परफार्मेंस को लेकर जानकारी ले रहा है।
डिस्कस कर दूर कर रहे डाउट्स
श्री गुजराती इंग्लिश मीडियम हायर सेकंडरी स्कूल में कंप्यूटर पढ़ाने वाले टीचर अरविंद कुमार यादव ने कहा कि बच्चों की तैयारी बेहतर तरीके से चल रही है। उन्होंने अन्य बच्चों को भी टाइम टेबल के साथ पढ़ाई कर तैयारी करने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि बोर्ड की परिक्षा डेट जारी होने के बाद स्कूल में ऑनलाइन कोर्स शुरू किए हैं। इससे छात्र अपने को न सिर्फ बिजी रख सकेंगें बल्कि खाली समय का सदुपयोग भी कर रहे हैं। बोर्ड परीक्षार्थियों को टिप्स देते हुए बताया कि आजकल बहुत सारे वेब एप्लीकेशन वर्तमान में उपलब्ध है जिसका उपयोग ऑनलाइन रीडिंग के लिए हम कर सकते हैं। जूम, वेबेक्स जैसे कई ऐसे एप हैं जिनके जरिए बच्चे ऑनलाइन पढ़ाई करने के साथ अपने टीचर्स व एक्सपर्ट से जुड़कर डिस्कस कर सकते हैं। हम यहां के बच्चों को यह सुविधा दे रहे हैं। टीचर्स सभी बच्चों को ऑनलाइन गाइड कर रहे हैं। इससे बच्चे अलग-अलग सब्जेक्ट की प्रॉबल्म उनसे डिसकस कर दूर कर रहे हैं। इसके साथ उन्होंने कहा कि पढ़ाई के लिए टाइम टेबल बनाकर पढ़ाई करना बहुत जरूरी है।
प्रायोगिक परीक्षा हो चुकी है पहले
श्री गुजराती इंग्लिश मीडियम हायर सेकंडरी स्कूल रायपुर में हिंदी के टीचर डॉ. वीरेंद्र कुमार साहू का कहना है कि कक्षा 12वीं हिंदी (आधार) विषय की तैयारी विद्यार्थी बड़े जोर-शोर से कर रहें हैं। इसके लिए उन्हें उनके द्वारा ऑनलाइन मार्गदर्शन भी दिया जा रहा है। परीक्षा की तैयारी के लिए पर्याप्त समय मिल रहा है, जिससे वे जुलाई में होने वाली परीक्षा में शानदार प्रदर्शन कर सकेंगे और परिणाम भी बहुत अच्छा होगा। हिंदी पेपर में 20 अंक की प्रयोगिक परीक्षा पहले ही आयोजित की जा चुकी है। शेष बचे 80 अंक के लिए परीक्षा आयोजित होनी है। इसके लिए विद्यार्थी योजनाबद्ध तरीके से तैयारी कर रहे हैं। इसके लिए वे अपठित अंश और पाठ्यपुस्तक के साथ ही कार्यालयीन हिंदी और रचनात्मक लेखन पर विशेष ध्यान दे रहें हैं।

Yagya Singh Thakur
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned