scriptThe deities rejoice in courtyard where ascetics perform parana | देवता उस आंगन में खुशी मनाते हैं जहां तपस्वी पारणा करते हैं: संत प्रवीण ऋषि | Patrika News

देवता उस आंगन में खुशी मनाते हैं जहां तपस्वी पारणा करते हैं: संत प्रवीण ऋषि

locationरायपुरPublished: Aug 17, 2023 11:54:18 am

Submitted by:

Khyati Parihar

Raipur News: संत प्रवीण ऋषि ने कहा, तीर्थंकर जहां तपस्या करते हैं, देवता वहां खुशियां नहीं मानते। तीर्थंकर परमात्मा जिस आंगन में पारणा करते हैं, उस आंगन में देवता ख़ुशी मानते हैं।

The deities rejoice in courtyard where ascetics perform parana
संत प्रवीण ऋषि
Chhattisgarh News: रायपुर। संत प्रवीण ऋषि ने कहा, तीर्थंकर जहां तपस्या करते हैं, देवता वहां खुशियां नहीं मानते। तीर्थंकर परमात्मा जिस आंगन में पारणा करते हैं, उस आंगन में देवता ख़ुशी मानते हैं। देवता वहां बधाई देते हैं जहां तपस्वी पारणा करते हैं। उन्होंने कहा 1 अट्ठाई की छोड़िए, सैकड़ों अट्ठाईयों का पारणा यहां होने वाला है। कई तपस्वी रायपुर पहुंचेंगे, छत्तीसगढ़ ही नहीं महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश सहित कई राज्यों के तपस्वियों का आगमन होने वाला है।
Copyright © 2023 Patrika Group. All Rights Reserved.