scriptThe issue of water crisis was burning, then why 13 councilors were cut | ज्वलंत जल संकट का मुद्दा ​​फिर क्यों कन्नी काट गए 13 पार्षद ... प​ढिए पूरी खबर | Patrika News

ज्वलंत जल संकट का मुद्दा ​​फिर क्यों कन्नी काट गए 13 पार्षद ... प​ढिए पूरी खबर

रायपुर. शहर में जल संकट जैसे मसले पर भी भाजपा पार्षद एकजुटता का प्रदर्शन करने में पीछे हैं।

रायपुर

Published: April 26, 2022 11:32:25 am

राजनीतिक गलियारे में ये चर्चा गर्म है कि जब पहले से निगम मुख्यालय में पानी को लेकर जोरदार विरोध दर्ज कराना था, ताकि पेयजल आपूर्ति व्यवस्था को निगम प्रशासन गंभीरता से ले। इसके बावजूद 29 में से केवल 16 पार्षद ही शामिल हुए था, बाकी 13 कन्नी काट गए थे।
nagar nigam raipur chhattisgarh
ज्वलंत जल संकट का मुद्दा ​​फिर क्यों कन्नी काट गए 13 पार्षद ... प​ढिए पूरी खबर
हालांकि, निगम में नेता प्रतिपक्ष मीनल चौबे ने 22 अप्रैल को निगम मुख्यालय में जोरदार प्रदर्शन कर पानी समस्या का निराकरण कराने के लिए विपक्ष की मौजूदगी का एहसास कराया। उस दौरान सुरक्षा सुरक्षा जवानों के साथ उनकी झूमाझटकी भी हुई, परंतु वे पीछे नहीं हटी। बल्कि छह महिला और 10 पुरुष पार्षदों के साथ जल संकट की समस्या को महापौर एजाज ढेबर के सामने प्रमुखता से रखीं और अमृत मिशन योजना के तहत चल रही लेटलतीफी पर सवाल उठाया। परंतु ऐसे मौके पर 13 पार्षदों का गैरहाजिर रहना निगम के गलियारे में एक बिखरे हुए विपक्ष के रूप में चर्चाएं गर्म हैं। यह भी सवाल है कि जब पहले से जल संकट जैसे मुद्दे पर विरोध प्रदर्शन करने की तारीख तय थी। इसके बावजूद गैरहाजिर रहना बिखराव की ओर संकेत करता है।
एक दिन पहले हुई थी बैठक

नेता प्रतिपक्ष मीनल चौबे के साथ एक दिन पहले भाजापा पार्षद दल की संयुक्त रूप से भाजपा दल की बैठक हुई और उसमें रणनीति तय की गई थी कि जोरदार तरीके से समस्याओं को उठाया जाना है। इस बैठक में पूर्व नेता प्रतिपक्ष सूर्यकांत राठौर मौजूद थे, लेकिन प्रदर्शन के दिन नजर नहीं आए। उनके अलावा 12 और पार्षद शामिल नहीं हुए थे। सवाल उठ रहा है कि 13 पार्षदों की गैरहाजिरी को भाजपा पदाधिकारी किस रूप में लेते हैं, इसे आगे देखना होगा।
क्या कहते है पूर्व और वर्तमान नेता प्रतिपक्ष

जिस दिन भाजपा पार्षद दल का निगम मुख्यालय में प्रदर्शन था, उस दिन मैं कोर्ट में था। सभी पार्षद शहर की समस्याओं को लेकर एकजुट हैं। खीचंतान जैसी कोई बात नहीं।
सूर्यकांत राठौर, पूर्व नेता प्रतिपक्ष एवं पार्षद

000000

भाजपा पार्षद दल शहर की समस्याओं को लेकर हमेशा एकजुट है। हम लोगों के लिए कभी पीछे नहीं हटेंगे। जहां तक 13 पार्षदों के शामिल नहीं होने का सवाल है तो, वो लोग पारिवारिक कारणों की वजह से नहीं आए थे।
मीनल चौबे, नेताप्रतिपक्ष, निगम

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Maharashtra: महाराष्ट्र से बड़ी खबर, देवेंद्र फडणवीस आज शाम 7 बजे लेंगे मुख्यमंत्री पद की शपथPresidential Election 2022: लालू प्रसाद यादव भी लड़ेंगे राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव! जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस के निवास पहुंचे एकनाथ शिंदेMaharashtra Political Crisis: उद्धव के इस्तीफे पर नरोत्तम मिश्रा ने दिया बड़ा बयान, कहा- महाराष्ट्र में हनुमान चालीसा का दिखा प्रभावप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने MSME के लिए लांच की नई स्कीम, कहा- 18 हजार छोटे करोबारियों को ट्रांसफर किए 500 करोड़ रुपएDelhi MLA Salary Hike: दिल्ली के 70 विधायकों को जल्द मिलेगी 90 हजार रुपए सैलरी, जानिए अभी कितना और कैसे मिलता है वेतनMaharashtra Politics: बीजेपी और शिंदे गुट के बीच नहीं आएगी शिवसेना, लेकिन निभाएगी विरोधी की भूमिका, जानें संजय राउत ने क्या कहा?Kangana Ranaut ने Uddhav Thackeray पर कसा तंज, कहा- 'हनुमान चालीसा बैन किया था, इन्हें तो शिव भी नहीं बचा पाएंगे'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.