scriptThere is an obstacle in becoming a defect in the marriage horoscope, | विवाह में कुंडली दोष के बाधा की समस्या को हल करने समाजसेवियों ने निकाला उपाय, पढ़े पूरी खबर | Patrika News

विवाह में कुंडली दोष के बाधा की समस्या को हल करने समाजसेवियों ने निकाला उपाय, पढ़े पूरी खबर

रविवार को देवशयनी एकादशी के साथ श्रीहरि 4 महीने के लिए योग निद्रा में चल गए। अब शादियों का सीजन ख़तम हो चूका है और रिश्तों की बात चित शुरू होगी। लोग गुण दोष छोड़ कुडंली पे ज्यादा ध्यान देते हुए, लड़का या लड़की का कोई महत्व नहीं रखते। इन्ही विषयों में सामाजिक प्रतिनिधियों ने लोगों समक्ष कुछ सुझाव रखे।

रायपुर

Updated: July 12, 2022 06:20:17 pm

गौरव शर्मा@रायपुर। एकादशी से श्रीहरि 4 माह की योग निद्रा में चले गए हैं। इस दौरान शादी-ब्याह समेत सभी तरह के शुभ कार्यों पर प्रतिबंध लग जाएगा। मान्यता के मुताबिक इन चार महीनों में विवाह, सगाई, मुंडन जैसे कार्य नहीं होते हैं, लेकिन धार्मिक कार्यक्रम चलते रहते हैं। इस दौरान लोग रिश्तों की बात चित शुरू करते है। ऐसे में लोग गुण दोष छोड़ कुडंली पे ज्यादा ध्यान देते है, यानी लड़का या लड़की का कोई महत्व नहीं रह जाता। कई बार गृह नक्षत्र भी बार बार बाधा बनते हैं। रिश्ते तय नहीं होने का कारण कुंडली में बैठा मंगल या नाड़ी का दोष है। ये विषय सामाज के लिए एक चिंताजनक समस्या है। पत्रिका की ख़ास बात चित में सामाजिक प्रतिनिधियों ने लोगो से अपील की की व्यवहारिक दृष्टिकोण अपनाते हुए योग्यता पर ध्यान दे ना कुंडली दोष पर। साथ ही बेहतर जीवन के लिए सब ने कुछ सुझाव भी लोगो के सामने रखे

ll.jpg

ग्रहों के फेर में उम्रदराज हो रहे हैं युवक-युवतियां
न्यकुब्ज ब्राह्मण समाज के अध्यक्ष अरुण शुक्ला ने कहा कि ग्रह-नक्षत्रों के फेर में कई युवाओं का रिश्ता तय नहीं हो पाता। आमतौर पर देखा जाता है कि जिनकी कुंडली में मांगलिक या नाड़ी दोष है, उनकी शादी बहुत देर से होती है। कई बार तो शादी ही नहीं लग पाती। इन मान्यताओं की जड़ें इतनी गहरी हैं कि पढ़े-लिखे लोग भी इसे मानते हैं। बदलते वक्त के साथ नई सोच को अपनाना होगा। लोग ऐसी बातों पर विश्वास कर योग्य रिश्तों को न ठुकराएं, इस दिशा में समाज भी प्रयास कर रहा है। इसी विषय पर संगोष्ठियां भी करवाई गईं जिनमें खुद धर्म के विद्वानों ने एकमत होकर कहा है, मंगल जैसा कोई दोष नहीं होता।

आस्था का सम्मान है पर अज्ञानता का विरोध भी
छत्तीसगढ़ी अग्रवाल समाज के अध्यक्ष अनुराग अग्रवाल ने कहा कि सनातन धर्म में जन्म से लेकर मृत्यु के बीच 16 संस्कार की व्यवस्था है। विवाह भी इनमें से एक है। शास्त्रों में मंगल और नाड़ी दोष से इसमें समस्या होने की बात कही गई है तो कहीं न कहीं उसका समाधान भी बताया गया है। केवल मांगलिक होने की वजह से शादी टाल देना अज्ञानता से ज्यादा कुछ नहीं। इसका हम विरोध करते हैं। आस्था का सम्मान करते हुए यही कहना चाहूंगा कि ऐसी बातों को लेकर कोई शंका हो तो एक बार धर्म के किसी बड़े जानकार से चर्चा जरूर करें। ग्रह-दोष के चलते बेहतर जीवनसाथी को ठुकराने से अच्छा है कि इसके निदान पर ध्यान दें।

कुंडली देखकर की शादी स्थायी होगी, गारंटी कहां?
बदलते वक्त के साथ प्राथमिकताएं भी बदल रहीं हैं। भाग्य अलग विषय है और योग्यता अलग। पुरानी आस्था और परंपराओं को छिन्न-भिन्न न करें, लेकिन व्यवहारिक सोच तो अपना ही सकते हैं। ऐसे कई लोग हैं जिनकी शादी से पहले कुंडलियां मिलाई गईं। 32 गुण मिलने के बाद भी शादी चल नहीं सकी। तलाक हो गया। ऐसे भी कई मामले हैं जहां बिना कुंडलियां मिलाए लोग सुखद दांपत्य जीवन बिता रहे हैं। इसकी क्या गारंटी है कि कुंडली देखकर की गई शादी स्थायी और सुखमय रहेगी। दरअसल, ज्योतिषीय क्षेत्र का व्यवसायीकरण होने की वजह से ये सारी समस्याएं सामने आ रहीं हैं। लोगों को जागरूक होने की जरूरत है।

लड़कियों को उठानी पड़ रही ज्यादा परेशानी
म नवा कुर्मी समाज के प्रदेश अध्यक्ष चोवाराम वर्मा ने कहा कि कुंडली में मंगल या नाड़ी दोष होने से सबसे ज्यादा परेशानी लड़कियों को हो रही है। समाज के लोेग कई बार ऐसी समस्याएं लेकर सामने आते हैं। सबसे दुखद पहलू यह है कि योग्य होने के बावजूद शादी नहीं लग पाने की वजह से कई युवा डिप्रेशन में चले जाते हैं। स्वस्थ समाज के लिए जरूरी है कि हम ऐसी मान्यताओं में न उलझें। लड़का-लड़की को उनके आदत व्यवहार से परखें। घर के सदस्यों के व्यवहार को समझें। इन सबको देखते हुए शादी का निर्णय लें। किसी की कुंडली अच्छी है, इसका ये मतलब तो नहीं कि वह व्यक्ति भी अच्छा ही होगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar Mahagathbandhan Govt: नीतीश कुमार ने 8वीं बार ली बिहार के CM पद की शपथ, तेजस्वी यादव बने डिप्टी सीएमनाम लिए बिना PM मोदी पर नीतीश का हमला, बोले- '2014 वाले 2024 में रहेंगे तब न, विपक्ष में हमलोग आ गए हैं अब सब होगा'Bihar Political Crisis Live Updates: नीतीश कुमार ने 8वीं बार ली सीएम पद की शपथ, तेजस्वी बने डिप्टी CM, कैबिनेट विस्तार बाद मेंINS Vikrant Cheating Case: बीजेपी नेता किरीट सोमैया और उनके बेटे नील को मिली बेल, जानें क्या है आईएनएस विक्रांत चीटिंग मामलाAAP का BJP पर बड़ा आरोप- दिल्ली MCD में 6000 करोड़ रुपए का हुआ घोटाला, CBI जांच के लिए मनीष सिसोदिया ने उपराज्यपाल को लिखा पत्रMaharashtra: प्रियंका चतुर्वेदी की बड़ी भविष्यवाणी-गिर जाएगी शिंदे सरकार, फडणवीस पर भी साधा निशानाअदालत न देती दखल तो तेजस्विन शंकर नहीं जीत पाते ब्रॉन्ज मेडल, दिलचस्प है कॉमनवेल्थ गेम्स तक का सफरड्रग केस में फंसे अकाली नेता बिक्रम मजीठिया को बड़ी राहत , पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट से मिली जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.