scriptThere is neither fan nor water for the complainants in the Tehsil offi | तहसील कार्यालय में फरियादियों के लिए न पंखा है न पानी | Patrika News

तहसील कार्यालय में फरियादियों के लिए न पंखा है न पानी

छत्तीसगढ़ गरियाबंद जिला का प्रमुख शहर राजिम के तहसील कार्यालय में पहुंचने वाले फरियादियों को गर्मी से बेहाल होने पड़ रहा है। वहीं उन्हें पीने के पानी की तलाश में इधर-उधर भटकना पड़ रहा है। लोग तपती धूप में आकर पेड़ के छांव के नीचे कुछ समझ सुस्ताने के बाद जैसे ही दफ्तर में प्रवेश करते हैं वहां न तों उन्हें हवा नसीब हो रही और न ही पीने का पानी।

रायपुर

Published: April 30, 2022 07:17:18 pm

राजिम. छत्तीसगढ़ गरियाबंद जिला का प्रमुख शहर राजिम के तहसील कार्यालय में पहुंचने वाले फरियादियों को गर्मी से बेहाल होने पड़ रहा है। वहीं उन्हें पीने के पानी की तलाश में इधर-उधर भटकना पड़ रहा है। लोग तपती धूप में आकर पेड़ के छांव के नीचे कुछ समझ सुस्ताने के बाद जैसे ही दफ्तर में प्रवेश करते हैं वहां न तों उन्हें हवा नसीब हो रही और न ही पीने का पानी। हालांकि तहसील दफ्तर में बैठने के लिए कुर्सियों जरूर लगी हुई है। ऊपर छत पर मात्र एक पंखा है जो बंद पड़ा हुआ है।
जबकि इस परिसर में अलग-अलग जगह करके चार से पांच पंखे लगाए जा सकते हैं और फरियादियों के लिए पंखे के अलावा कूलर की भी व्यवस्था की जा सकती है। ताकि यहां आकर वह रिलैक्स महसूस करें। परंतु ऐसा कुछ नहीं है और तो और ठंडे पानी की भी कहीं व्यवस्था नहीं देखी गई। लोगों को पानी के लिए इधर उधर होटलों या फिर अन्य जगह जाना पड़ता है।
कुछ साल पहले यहां बोरिंग की भी व्यवस्था थी, लेकिन उसे बंद कर दिया गया। ठंडे जल एवं पंखे की व्यवस्था नहीं होने से लोगों में नाराजगी है। परंतु इस बात को तहसीलदार साहब के पास पहुंचाए तो पहुंचाए कौन। नतीजा लोगों को ही परेशानियों से जूझना पड़ रहा है।
सरकारी दफ्तरों में ठंडे पानी एवं आम जनता के लिए पंखे की व्यवस्था नितांत आवश्यकता है, परंतु दोनों नहीं होने से जनता कभी अपने साथ में पकड़े गमछा से ही हवा झेलने का काम करते हैं तो कोई पेड़ के छांव के नीचे बैठकर धूप से बचने का प्रयास करते हैं। कुछ भी हो इस बार की गर्मी ने हाल बेहाल करके रख दिया है। चिपचिपी पसीने एवं घमोरिया आम हो गई है। इस पर डॉ लगातार सावधानी बरतने की नसीहत जरूर दे रहे हैं।
दोपहर होते ही सड़कें हो जाती हैं सूनी
उल्लेखनीय है कि शहर में गर्मी का पारा 43 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है। सुबह से ही गर्मी का एहसास होना शुरू हो जाता है देखते ही देखते 12 बजे तक तो सड़क से ही सीधे सर पर लू पड़ती है। दोपहर 1 बजे के बाद सड़के सूनी हो जा रही है। वैसे अभी शादी सीजन चल रहा है। इस लिहाज से सामान खरीदने के लिए लोगों की रेलम पेल भी है, लेकिन दोपहर होते तक दुकानों से भी ग्राहक नदारद हो जाते हैं।
तहसील कार्यालय में फरियादियों के लिए न पंखा है न पानी
तहसील कार्यालय के बरामदे में लगा एक मात्र पंखा कई दिनों से बंद पड़ा हुआ है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठाLiquor Latest News : पियक्कडों की मौज ! रात एक बजे तक खरीदी जा सकेगी शराबशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफMorning Tips: सुबह आंख खुलते ही करें ये 5 काम, पूरा दिन गुजरेगा शानदारDelhi Schools: दिल्ली में बदलेगी स्कूल टाइमिंग! जारी हुई नई गाइडलाइनMahindra Scorpio 2022 का लॉन्च से पहले लीक हुआ पूरा डिजाइन और लुक, बाहर से ऐसी दिखती है ये पावरफुल कारबैड कोलेस्‍ट्राॅल और डिमेंशिया को कम करके याददाश्त को बढ़ाता है ये लाल खट्‌टा-मीठा फल, जानिए इसके और भी फायदेAC में लगाइये ये डिवाइस, न के बराबर आएगा बिजली बिल, पूरे महीने होगी भारी बचत

बड़ी खबरें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी टोक्यो पहुंचे, भारतीय प्रवासियों ने किया स्वागत, जापानी बच्चे के हिन्दी बोलने पर गदगद हुए PMदिल्ली-NCR में सुबह आंधी और बारिश से कई जगह उखड़े पेड़, विमान सेवा प्रभावितज्ञानवापी मामले के बीच गोवा के सीएम का बड़ा बयान, प्रमोद सावंत बोले- 'जहां भी मंदिर तोड़े गए फिर से बनाए जाएं'BJP को सरकार बनाने के लिए क्यों जरूरी है काशी और मथुरा? अयोध्या से बड़ा संदेश देने की तैयारीबेल्जियम, पहला देश जिसने मंकीपॉक्स वायरस के लिए अनिवार्य किया क्वारंटाइनएशिया कप हॉकी: पहले ही मैच में भिड़ेंगे भारत और पाकिस्तान, ऐसा है दोनों टीमों का रिकॉर्डआख़िर क्यों असदुद्दीन ओवैसी बार-बार प्लेसेज ऑफ़ वर्शिप एक्ट की बात कर रहे हैं, जानें क्या है यह एक्टकपिल देव के AAP में शामिल होने की चर्चा निकली गलत, सोशल मीडिया पर पूर्व कप्तान ने खुद साफ की स्थिति
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.