ये है छत्तीसगढ़ में पाए जाने वाले सबसे खतरनाक सांप, अगर कांट लिया तो समझो...

आज हम आपको बताने जा रहे हैं, सांपों की कुछ ऐसी दुर्लभ प्रजातियों के बारे में जो देश के केवल कुछ ही जगहों पर पाई जाती हैं।

By: bhemendra yadav

Updated: 24 May 2020, 07:33 PM IST

सांपों का नाम सुनते ही हमारे अंदर रोचकता आ जाती है, पर रोचकता के साथ-साथ सांप का नाम सुनते ही हमारे अंदर डर भी पैदा हो जाता है। सांपों को सबसे खतरनाक जीवों में से एक माना जाता है। देशभर में कई प्रकार के सांपों की प्रजातियां पाई जाती है। जिनमें से कुछ सांप जहरीले और कुछ बिना जहर वाले होते हैं। इनमें सांपों का जहर इतना खतरनाक होता है कि अगर इसने एक बार किसी इंसान या जीव को डंस लिया तो उसका मरना तय है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं, सांपों की कुछ ऐसी दुर्लभ प्रजातियों के बारे में जो देश के केवल कुछ ही जगहों पर पाई जाती हैं।

इंडियन कोबरा

इंडियन कोबरा देश के सबसे जहरीले सांपों में से एक हैं। इस कोबरा को तक्षक कोबरा के नाम से भी जाना जाता है। इन सांपो की प्रजातियां ज्यादातर छत्तीसगढ़ के जंगली इलाकों में पाई जाती है। इन सांपों को छत्तीसगढ़ में आम भाषा में नाग भी कहते हैं।

किंग कोबरा

किंग कोबरा दक्षिण पूर्व एशिया के सबसे जहरीले सांपों में से एक है। ऐसा माना जाता है कि अगर किंग कोबरा किसी को डस ले, और उसे इलाज न मिले तो आधे घंटे के अंदर उस इंसान की मौत हो जाएगी। किंग कोबरा दुनिया का सबसे लंबा और विषैला सांप है। किंग कोबरा उदंती सीतानदी अभ्यारण्य और कांगेर वैली नेशनल पार्क के आसपास मुख्य रूप से पाया जाता है। वन्यजीव संरक्षण अधिनियम 1972 के तहत सांप को मारने के लिए दोषी इंसान को 6 साल तक की कैद हो सकती है।

अजगर

अजगर को दुनिया का सबसे सुस्त सांप माना जाता है। अजगर ज्यादातर नम या कीचड़ वाली जगहों पर पाए जाते हैं। छत्तीसगढ़ में पाए जाने वाले अजगर गहरे रंग के होते हैं।

रसेल वाइपर

ये सांप खुली जगहों पर घूमते हैं इसलिए सांप के काटने के ज्यादातर मामलों के लिए ये सांप ही जिम्मेदार होते हैं। ये सांप भारत के चार सबसे बड़े प्रजाती के सांपों में से एक हैं। इन सांपों की प्रजातियां छत्तीसगढ़ में कवर्धा जिले में पाई जाती है।

करैत

यह भारत के सांपों के परिवार के सबसे खतरनाक सांपों के सदस्य में से एक हैं। काम के दौरान अक्सर लोग इन सांपों का शिकार बन जाते हैं। क्योंकि इन सांपों को खेतों, कम झाड़ी वाले जंगलों और आबादी वाले क्षेत्रों में घूमना पसंद है। इन सांपों का जहर इंसानों पर बहुत जल्दी असर करता है।

रैट सांप

रेट स्नेक जिसे आम भाषा में धामन सांप भी कहा जाता है। यह सांप भारत के बहुत कम हिस्सों में पाया जाता है, जिनमें से छत्तीसगढ़ एक है। इस सांप का जहर बहुत जल्दी लोगों के शरीर में फैलता है पर यह सांप शांत स्वभाव के होते हैं। यह सांप तब तक लोगों पर प्रहार नहीं करता जब तक उसे कोई छेड़े ना। यह सांप आबादी वाले शहरों के ओर पाए जाते हैं।

लाल मूंगा

यह सांपों की सबसे दुर्लभ प्रजातियों में से एक है। यह सांप मूंगे की तरह दिखता है इसका रंग लोगों को इस सांप की ओर आकर्षित करता है। पर यह सांप दिखने में जितना खुबसुरत है उतना ही खतरनाक भी होता है।

बैंडेडक्रेट

इस सांप की गिनती दुनिया के सबसे जहरीले सांपों मे से एक है। इस सांप को आम भाषा में अहिराज भी कहा जाता है। एक शोध के अनुसार इस सांप का जहर 60 लोगों की जान ले सकता है। यह सांप जंगलों और नमी वाले स्थानों में पाए जाते हैं।

सॉ-स्केल्ड वाइपर

इस सांप की लंबाई छोटी होती है पर इसकी फुर्ती, तेजी और आक्रामक वृत्ति इसे खतरनाक बना देती है और इसका असर भी घातक और जान लेवा होता है। इसके काटने से तकरीबन 5000 लोगों की सालाना मौत हो जाती है।

bhemendra yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned