नाबालिगों के सामने प्रोफेसर ने कर दी ये बड़ी गलती, मौका देखकर सर पर मारा तवा, फिर किया ये काम

नाबालिगों के सामने प्रोफेसर ने कर दी ये बड़ी गलती, मौका देखकर सर पर मारा तवा, फिर किया ये काम

Chandu Nirmalkar | Updated: 20 Mar 2019, 07:01:18 PM (IST) Raipur, Raipur, Chhattisgarh, India

पुलिस की पूछताछ में तीनों ने अपना अपराध कबूल कर लिया है।

रायपुर. कचना हाउसिंग बोर्ड फेस-2 के फ्लैट में एक निजी विश्वविद्यालय के कर्मचारी की हत्या की गुत्थी विधानसभा थाना पुलिस ने सुलझा ली है। मामले में 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। तीनों आरोपी नाबालिग है। वारदात में शामिल एक आरोपी दुष्कर्म के मामले में जेल भी जा चुका है। पुलिस की पूछताछ में तीनों ने अपना अपराध कबूल कर लिया है। आरोपियों के खिलाफ शिकायत मृतक राहुल सरना की मां रेखा सरना ने की थी।

सिविल लाइन स्थित कंट्रोल रूम में घटना का खुलासा करते हुए एएसपी प्रफुल्ल ठाकुर ने बताया कि कचना हाउसिंग बोर्ड स्थित फेस-2 के एमआईजी बी 2/32 में रेखा सरना अपने बेटे राहुल सरना के साथ रहती थी। वे 27 फरवरी को पारिवारिक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए लखनऊ गई थी। रेखा सरना लखनऊ से राहुल को फोन कर उसके हाल चाल लेती रहती थी।

13 मार्च से राहुल ने फोन उठाना बंद कर दिया, तो रिश्तेदारों को फोन कर राहुल के फ्लैट में भेजा। फ्लैट बाहर से बंद होने पर जब बेटे की जानकारी नहीं मिली तो वे 17 मार्च को लखनऊ से रायपुर पहुंची। घर पहुंचने के बाद जब वे गेट खोलकर अंदर गई, तो कमरे में बेटे राहुल का शव क्षतविक्षत हाल में मिला। घटना की सूचना रेखा सरना ने पड़ोसियों और पुलिस को दी। बेटे के हत्यारों का पता लगाने पीडि़ता ने विधानसभा थाने में अज्ञात आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज। पुलिस ने कचना में लगे सीसीटीवी कैमरों और मुखबिरों से मिले सुराग के आधार पर मृतक के पड़ोस में रहने वाले नाबालिग को पूछताछ के लिए उठाया। पुलिस की पूछताछ में नाबालिग ने अपने दो अन्य साथियों के साथ वारदात करने की बात स्वीकार ली।

37 हजार रुपए चुराने आरोपियों ने की हत्या

विधानसभा थाना प्रभारी अश्वनी राठौर ने बताया कि राहुल ने अपनी मां के लखनऊ जाने के बाद अपनी कार 80 हजार रुपए में बेच दी थी। कार बेचने के बाद वो आरोपियों को शराब और चिकन लाने के लिए पैसे दिया करता था। आरोपी 3 मार्च से लगातार राहुल के घर में बैठकर दावत करते थे और देर रात अपने घर जाते थे। 13 मार्च को भी राहुल ने तीनों को शराब और चिकन लाने के लिए पैसे दिए। सामान लेकर आरोपी घर पहुंचे, तो नशे में राहुल ने अलमारी में रखे पैसे गिनने के लिए आरोपियों को दे दिए। पैसे देखकर आरोपियों की नीयत बिगड़ गई और पैसे लेकर फरार होने की कोशिश करने लगे। राहुल ने विरोध किया तो आरोपियों ने तवे से ताबड़तोड़ वार किया और उसके मरने के बाद ताला बंद कर फरार हो गए।

मैट्स विवि से कुछ माह पहले ही छोड़ी थी नौकरी
जानकारी के अनुसार मृतक मैट्स यूनिवर्सिटी में कर्मचारी था। वह स्टोर कीपर का काम करता था। कुछ माह पहले ही उसने नौकरी छोड़ दी थी। उसका अब मैट्स यूनिवर्सिटी से कोई संबंध नहीं है।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned