स्टेशन में वेब कैमरा से टिकट चेकिंग, थर्मल स्क्रीनिंग के बाद ही प्लेटफार्म में एंट्री

कोरोना संक्रमण के कारण स्टेशन में सभी पुराने सिस्टम को बदला जा रहा है। यात्रियों के टिकट हाथ में लेकर चेक करने की जगह गेट पर ऑटोमैटिक टिकट चेकिंग और थर्मल स्क्रीनिंग करने के बाद ही प्लेटफार्म में एंट्री देना शुरू किया है। ताकि संक्रमण के खतरे से रेलवे स्टाफ और यात्रियों को बचाया जा सके।

By: Manish Singh

Published: 26 Jun 2020, 07:54 PM IST

रेलवे प्रशासन ने आदेश जारी कर साफ किया है कि 12 अगस्त तक सभी रिजर्वेशन टिकट रद्द कर यात्रियों को रिफंड किया जाएगा। अभी श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का आना-जाना लगा हुआ है। कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम के मद्देनजर रायपुर स्टेशन में टीटीई यात्रियों के टिकट जांच बिना टच किए मशीन से करा रहे हैं। उस मशीन के सामने टिकट लगाते हुए कहां से कहां तक का टिकट हैं, स्क्रीन पर आ जाता है। थर्मल स्क्रीनिंग की शुरुआत की गई है। इसी तरह के ट्रेन सें उतरकर बाहर आने और सफर करने से पहले टिकट चेकिंग की व्यवस्था लागू कर दी गई है।

जनरल थरमो चेकिंग से गुजरना पड़ता है

स्टेशन के मुख्य यात्री गेट पर पहुंचते ही यात्रियों को सबसे पहले जनरल थरमो चेकिंग के आलावा दो ऑटो थरमो चेकिंग एंड टिकट वेरिफिकेशन मशीन से गुजरना पड़ता है। जिससे कि स्टेशन परिसर में प्रवेश करने और बाहर निकलने वाले यात्रियों के टिकट और शरीर का तापमान बिना टच किए जांच लिया जाता है। दोनों मशीनें एक वेब कैमरा से लैस हैं। डीआरएम श्याम सुंदर गुप्ता ने उन्नत तकनीक अपनाए जाने पर संबंधित अधिकारियों व कर्मचारियों की सराहना करते हुए कहा कि यह तरीका यात्रियों के लिए काफी सुरक्षित है।

12 अगस्त तक के टिकट का पूरा रिफंड मिलेगा

रायपुर रेल मंडल के सीनियर पब्लिसिटी इंस्पेक्टर शिव प्रसाद पंवार के अनुसार 30 जून तक सभी एक्सप्रेस व मेल ट्रेनों के लिए पूर्व में बुककी गई टिकटों का रिफंड देना तय किया था। इसे आगे बढ़ाते हुए अब 1 जुलाई से 12 अगस्त तक के सभी टिकट रद्द कर दिए गए हैं। उसका पूरा रिफंड यात्रियों को मिलेगा।

Manish Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned