इस बार ला नीनो का रहेगा प्रभाव, 3 महीने पड़ेगी कड़ाके की ठंड

कुल मिलाकर इस बार उत्तर-पूर्वी मानसून ज्यादा सक्रिय रहेगा । इस कारण से उत्तर पूर्वी हवाएं ज्यादा आने की संभावनाएं हैं, इससे ठंड में बढ़ोतरी होगी। उन्होंने बताया कि मौसम भवन नई दिल्ली से प्राप्त सूचना के अनुसार दिसंबर,जनवरी फरवरी के महीने में प्रदेश में न्यूनतम तापमान सामान्य से कम रहने की संभावना है।

By: Karunakant Chaubey

Published: 30 Nov 2020, 03:36 PM IST

रायपुर. पिछले साल की तुलना में इस बार ठंड को ज्यादा पड़ सकती है क्योंकि इस बार दिसंबर में लाइनों का प्रभाव शुरू हो जाएगा । इस कारण से राजधानी सहित प्रदेश में दिसंबर,जनवरी और फरवरी में ठंड पिछले साल की तुलना में ज्यादा पड़ेगी ।राजधानी समेत प्रदेश में ठंड अपने उफान पर जनवरी के प्रथम सप्ताह से आखिरी सप्ताह तक रहती है ।

मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा ने बताया कि प्रदेश में ठंड 15 दिसंबर 12 फरवरी तक रहता है । जबकि जनवरी में पीक पर रहता है लेकिन इस बार ठंड ज्यादा पड़ने की संभावना है । न्यूनतम तापमान में पिछले साल की तुलना में और गिरावट आएगी ।

कुल मिलाकर इस बार उत्तर-पूर्वी मानसून ज्यादा सक्रिय रहेगा । इस कारण से उत्तर पूर्वी हवाएं ज्यादा आने की संभावनाएं हैं, इससे ठंड में बढ़ोतरी होगी। उन्होंने बताया कि मौसम भवन नई दिल्ली से प्राप्त सूचना के अनुसार दिसंबर,जनवरी फरवरी के महीने में प्रदेश में न्यूनतम तापमान सामान्य से कम रहने की संभावना है। इसी तरह प्रदेश में अधिकतम तापमान 3 महीनों में सामान्य से अधिक रहने की संभावना है ।

अधिकतम और न्यूनतम तापमान में विशेष परिवर्तन होने की संभावना नहीं है, फिर भी प्रदेश में न्यूनतम तापमान में उतार-चढ़ाव के साथ तापमान गिरने का ट्रेंड रहने की संभावना है । अभी यह बता पाना मुश्किल है कि ठंड के दिनों में कितना इजाफा हो सकता है ।

latest weather update
Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned