यहां गाड़ी पार्किंग का किराया है 2 हजार रुपए, पुलिस वाले खुद करते हैं वसूली, किसी ने मना किया तो..

यहां गाड़ी पार्किंग का किराया है 2 हजार रुपए, पुलिस वाले खुद करते हैं वसूली, किसी ने मना किया तो..

Chandu Nirmalkar | Publish: Sep, 08 2018 06:19:30 PM (IST) | Updated: Sep, 08 2018 07:25:49 PM (IST) Raipur, Chhattisgarh, India

यहां गाड़ी पार्किंग का किराया है 2 हजार रुपए, पुलिस वाले खुद करते हैं वसूली, किसी ने मना किया तो..

जितेन्द्र दहिया@रायपुर. छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के ट्रैफिक पुलिस का एक नया चेहरा पर्दाफाश हुआ है। यातायात नियमों का पाठ पढ़ाने वाली पुलिस अब खुद क्राइम करने में उतारू हो गई है। आपको जानकार हैरानी होगी कि ये सब ऑन रिकार्ड कैमरे में कैद हुआ। वर्दी का धौंस जमाते हुए ट्रैफिक पुलिस ने कानून के सभी नियमों का खुलेआम धज्जियां उड़ाया और भारी भरकम रुपए की वसूली की।

पूरा देखिए वीडियो

 

आपको बात दें कि शहर के रिंग रोड नंबर-2 की जमीन किराए में मिल रही है। चौंंकिए नहीं ये बिल्कुल सच है। दरअसल सच यह है कि टाटीबंध इलाके में ट्रैफिक पुलिस ने रिंग रोड को पार्र्किंग के लिए ट्रक मालिकों को 1500 से 2 हजार रुपए मासिक किराए पर दे दिया है।

यातायात पुलिस उन्हीं ट्रकों चालकों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है, जिसने पुलिस के इन नियमों की ना फरमानी की है। जब इसकी शिकायत पत्रिका टीम से की तो मौके पर मामले की जांच की गई। एक ट्रक चालक के साथ यातायात पुलिस के इस खेल को कैमरे में कैद किया। टीम को जानकारी मिली कि यातायात पुलिस द्वारा कुछ ट्रकों के पेपर चालकों से छीन लिए गए हैं।

 

CG News

ऐसे हो रही वसूली
चालक की सूचना पर जब टीम मौके पर पहुंची तो चालक ट्रक का टायर फिट कर रहा था। चालक ने पत्रिका को बताया कि सुबह 11 बजे यातायात पुलिस द्वारा उसकी पंचर गाड़ी से कागजात निकाल लिया गया। कागज देने के एवज में 2000 रुपए की मांग की जा रही थी।

इसके बाद ट्रक के क्लीनर के साथ 'पत्रिका' रिपोर्टर टाटीबंध यातायात थाना पहुंचा। थाने के बाहर ही कुछ जवान और पुलिस वाहन में थाना प्रभारी ईश्वर लाल हरदेव कुछ वाहनों के दस्तावेज की जांच कर रहे थे। क्लीनर ने यहां खड़े यातायात जवान, जो कि थाना प्रभारी के हमराह राजकुमार भट्ट से गाड़ी का कागज वापस मांगा। इसपर जवान ने थाना प्रभारी के सामने ही लेन-देन की बात शुरू कर दी। 1200 में सौदा तय हुआ। थाना प्रभारी को इशारा करते हुए जवान क्लीनर को थाने के भीतर उसने 1200 रुपए लिए और ट्रक के दस्तावेज वापस कर दिए। जिसके बदले कोई रसीद नहीं दी गई।

 

CG News

धारा-144 का भी लिहाज नहीं
राष्ट्रीय राजमार्ग 53, 30 एवं रिंग रोड एक, दो और तीन तथा उसकी सर्विस रोड में धारा-144 लागू कर दी गई है। वाहनों की अवैध पार्किग से यातायात अव्यवथित होने के साथ ही सड़क हादसे बढ़ रहे हैं, जिसे देखते हुए कलक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी ने इन मार्गो व उसकी सर्विस रोड में अवैध पार्किंग को प्रतिबंधित करते हुए धारा 144 को लागू कर दिया है। इसके बाद भी यातायात पुलिस द्वारा मासिक किराया लेकर ट्रकों के खड़े होने की छूट दे रहे हैं।

चौक और रिंग रोड में रोज हो रही हैं दुर्घटनाएं
टाटीबंध चौक पर अव्यवस्था का आलम आए दिन देखा जा सकता है। यहां वाहनों के चौतरफा दबाव होने की वजह से हर मिनट जाम लग रहा है। इसके अलावा रोज दुघटनाएं होती रहती हैं। रिंग रोड के शहर के भीतर आ जाने की वजह से यातायात का यह दबाव अब और खतरनाक हो चुका है। बावजूद इसके इस चौक पर जवान ट्रैफिक व्यवस्था संभालने के लिए तो नहीं सिर्फ वसूली करते ही नजर आते हैं।

थाना प्रभारी ईश्वर लाल हरदेव ने कहा कि मैं वीडियो देखकर ही कुछ कह पाउंगा, अभी इस संबंध में मुझे कोई जानकारी नहीं है।

पुलिस अधीक्षक अमरेश मिश्रा ने कहा कि आपके द्वारा वीडियो मिला है। उसके आधार पर थाना प्रभारी और सिपाही को तलब किया जाएगा। मामले की जांच कर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

Ad Block is Banned