बैंक मैनेजर खाताधारक के नाम से फर्जी फर्म बनाकर विदेश से करोड़ों का लेनदेन, ऐसे हुआ खुलासा

- ईडी के नोटिस के बाद खुलासा: प्रिटिंग करने वाले के खाते में जमा हुए करोड़ों रुपए तब हुआ शक.

By: Bhupesh Tripathi

Published: 06 Feb 2021, 05:49 PM IST

रायपुर । बैंक अधिकारियों ने खातेदार के नाम से फर्जी फर्म खोलकर विदेश से करोड़ों रुपए का लेन-देन करने वालों के खिलाफ पुलिस ने अपराध दर्ज कर लिया है। खाते में करोड़ों रुपए जमा और आहरण होने से प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) को शक हुआ। प्रवर्तन निदेशालय ने खातेदार को समन भेजा। इसके बाद मामले का खुलासा हुआ। खातेदार की शिकायत पर बैंक अधिकारियों के खिलाफ अपराध दर्ज कर विवेचना में लिया है।

पुलिस के मुताबिक पुरानीबस्ती निवासी अजय कुमार यदु प्रिटिंग का काम करते हैं। वर्ष 2011 में उन्होंने कृष्णा कॉम्पलेस स्थित इंडसइंड बैंक में मां सम्बलेश्वरी ऑफसेट प्रिंटर्स के नाम से खाता खेला था। उस दौरान असिस्टेंट बैंक मैनेजर मनीष कदम को सभी जरूरी दस्तावेज दिए गए थे। कुछ दिनों बाद उन्होंने यह खाता बंद करा दिया। इस बीच उनके दस्तावेजों के आधार पर मनीष ने कन्हैया सेल्स फर्म के नाम से खाता खोल दिया और उस खाते के जरिए विदेशों से करोड़ों रुपए के घरेलू प्रोडक्ट व अन्य सामान खरीदा।

इसमें करोड़ों रुपए पर प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) की नजर पड़ी। वर्ष 2019 में उन्होंने खातेदार अजय कुमार को नोटिस जारी किया। इसके बाद अजय को उस खाते के संबंध में जानकारी हुई। उन्होंने बैंक और पुलिस में शिकायत की और मामले की जांच की मांग की। पुलिस जब कन्हैया सेल्स फर्म की तलाश शुरू की, तो कहीं नहीं मिला। इस तरह फर्जी फर्म खोलकर आरोपियों ने करोड़ों रुपए की धोखाधड़ी की। इसकी शिकायत पर पुलिस ने आरोपी मनीष कदम और बैंक के अन्य लोगों के खिलाफ अपराध दर्ज कर लिया है।

कई लोगों से ठगी
इसी तरह आरोपियों ने हेमंत कुमार साहू के फोटो, ड्राइविंग लाइसेंस, केवायसी डिटेल के आधार पर पंडरी कपड़ा मार्केट (pandri cloth store) में केशव होम एम्लाएंस खोलकर करोड़ों रुपए का लेन-देन किया है। उसके दस्तावेजों का भी दुरुपयोग किया गया है। आरोपी मनीष कदम वर्तमान में बैंक की नौकरी छोड़कर भाग गया है। मौदहापारा पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ अपराध दर्ज कर विवेचना में लिया है।

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned