48 लाख रुपए की ठगी के दो आरोपी पकड़ाए

फ्र्जी कंपनी द फ्यूचर कम्पनी के नाम देकर साफ्टवेयर तैयार कर रकम दोगुना करने का लालच देकर अलग-अलग लोगों से 48 लाख 5 हजार 980 रुपए अलग-अलग किश्तों में नगदी व पेटीएम के माध्यम से ठगी गिरोह ने धोखाधडी की।

By: ashok trivedi

Published: 27 May 2020, 05:28 PM IST

खरोरा . फर्जी कंपनी बनाकर रकम दोगुना करने का झांसा देकर ठगी करने वाले दो आरोपियों को खरोरा पुलिस को पकडऩे में सफलता पाई है। वहीं इस धोखाधड़ी में शामिल अन्य आरोपियों पोषण देवांगन एवम विकास पदमवार अभी भी फरार हैं। पकड़े गए दोनों आरोपियों को जेल भेज दिया गया है। इस संबंध में 'पत्रिकाÓ ने पैसा डबल करने 48 लाख ठगे समाचार प्रकाशित किया गया था।
खरोरा थाना प्रभारी रमेश मरकाम ने बताया कि 23 मई को एसकुमार साहू ने पुलिस अधीक्षक रायपुर में आवेदन दिया था। आवेदन व दस्तावेज को आधार मान खरोरा पुलिस ने जांच की। जहां पुलिस जांच दल को जांच के दौरान आरोपी कमलनारायण देवागंन व अन्य लोगों ने फर्जी कंपनी द फ्यूचर कम्पनी के नाम देकर साफ्टवेयर तैयार कर रकम दोगुना करने का लालच देकर अलग-अलग लोगों से 48 लाख 5 हजार 980 रुपए अलग-अलग किश्तों में नगदी व पेटीएम के माध्यम से ठगी गिरोह ने धोखाधडी की। जांच में सभी आरोपियों के आरोप सही पाए जाने के चलत आरोपियों के खिलाफ धारा 420, 34 भादवि अपराध पंजीबद्ध कर मामला विवेचना में लिया।
पुलिस के उच्च अधिकारियों के दिशा-निर्देश में टीम बना आरोपियों को पकडऩे पुलिस टीम फर्जी कम्पनी के मुखिया कमलनारायण देवागंन (36) पिता जागेश्वर देवांगन ग्राम धीवरा व कमलनारायण के सहयोगी श्रवण साहू (38) पिता विश्राम साहू ग्राम धीवरा जो बिरगांव क्षेत्र में फर्जी कम्पनी संभालता था, को गिरफ्तार कर थाना लाया गया, जहां आरोपी कमलनारायण ने बताया कि वह अपने साथियों के साथ द फ्यूचर हेल्प कम्पनी के साफ्टवेयर बनाकर आम लोगो से चैन बनाकर ईनाम का लालच देकर लोगों से प्रति पिन 1800 व 300 रुपए रजिस्ट्रेशन का लेकर स्वयं रख लेता था। आरोपियों ने अब तक रकम 15 दिन में रकम दोगुना करने का झांसा देकर 48 लाख रुपए से ज्यादा का धोखाधड़ी कर चुका है। आरोपी के इस कृत्य पर धारा 406 भादवि एवं ईनामी चीट और धन परिचालन स्कीम अधिनियम कि धारा 4,6 एवं छत्तीसगढ़ निक्षेपकों के हितों का संरक्षण अधिनियम 2005 की धारा 10 का मामला आरोपियों पर जोडा गया। पकडे गए दोनों आरोपियों से पुलिस ने लैपटाप, डेस्कटॉप, नगदी रकम एक लाख पांच हजार नौ सौ सत्तर रुपए सहित दस्तवेज बरामद कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है। वहीं अन्य आरोपी की तलाश में पुलिस जुटी हुई है।
---------------------

ashok trivedi Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned