राशन दुकानों में चावल के गोलमाल की शिकायत के बाद दो खाद्य निरीक्षक निलंबित, पार्षद पर नहीं हुई कार्रवाई

पीडीएस दुकानों में गड़बड़ी मिलने के कारण दो खाद्य निरीक्षकों को निलंबित किया गया है। राशन दुकानों में चावल के गोलमाल की शिकायत के बाद खाद्य विभाग के मुख्यालय की टीम द्वारा जांच की गई थी।

By: Ashish Gupta

Published: 12 Jul 2021, 12:19 PM IST

रायपुर. पीडीएस दुकानों में गड़बड़ी मिलने के कारण दो खाद्य निरीक्षकों को निलंबित किया गया है। राशन दुकानों में चावल के गोलमाल की शिकायत के बाद खाद्य विभाग के मुख्यालय की टीम द्वारा जांच की गई थी। इसके बाद निरीक्षक भारती कर्ष और मनीष यादव को निलंबित किया गया है। राशन दुकानों पर कार्रवाई करते हुए दुकानों को सस्पेंड कर दिया गया था।

जांच रिपोर्ट कलेक्टर को प्रस्तुत करने के बाद यह कार्रवाई की गई है। अधिकारियों ने माना है कि जिन खाद्य निरीक्षकों को अपने-अपने क्षेत्र में लगातार निगरानी के लिए तैनात किया गया था, उन अधिकारियों की लापरवाही की वजह से लोगों को खाद्यान्न वितरण में लापरवाही की गई।

यह भी पढ़ें: राजद्रोह का केस दर्ज होने के बाद निलंबित एडीजी चकमा देकर फरार, तलाश में लगाई 10 टीमें

बता दें कि खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग की सचिव किरण कौशल ने खाद्य अधिकारियों को सख्त निर्देश देते हुए कहा है कि वन नेशन वन कार्ड योजना के तहत वितरण की गई ई-पॉस मशीन से ही वितरण किया जाए। इसमें लापरवाही करने वालों को रियायत नहीं मिलेगी।

पार्षद पर भी नहीं हुई कार्रवाई
खाद्य विभाग और एसडीएम की टीम ने रायपुरा के वार्ड पार्षद के कार्यालय 200 राशनकार्ड जब्त किए थे। पार्षद द्वारा पर्चियों के माध्यम से वितरण करवाया जा रहा था। मामले की जांच का जिम्मा एसडीएम को दिया गया था, लेकिन अब तक पार्षद को नोटिस तक नहीं भेजा गया है।

यह भी पढ़ें: सरकार के खिलाफ षडयंत्र के आरोप में निलंबित IPS पर राजद्रोह का केस दर्ज, जल्द हो सकती है गिरफ्तारी

30 सेकंड में बांट दिया चावल, शक्कर और नमक
पत्रिका ने दो दर्जन राशन दुकानों की जांच का खुलासा किया था कि इन दुकानों से फोटो अपलोड करके चावल, शक्कर और नमक का वितरण किया था, जो कि संभव ही नहीं है। दूसरी ओर इसी तरह की लापरवाही में एपीएल कार्डधारी को एक मिनट में चावल देने पर दुकान सस्पेंड कर दिया गया था।

खाद्य नियंत्रक प्रभारी संजय दुबे ने कहा, मामले पर जांच के आधार पर दो इंस्पेक्टरों को निलंबित कर दिया गया है। आगे की कार्रवाई की जा रही है। पार्षद कार्यालय से जब्त कार्डों की जांच तहसीलदार के माध्यम से की जा रही है।

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned