बेकाबू भीड़ ने किए सारे नियम ध्वस्त, धरी रह गई सोशल डिस्टेंसिंग की कवायद

कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन के बीच सोमवार से राज्य में शराब दुकानों से शराब की बिक्री प्रारंभ की गई।

By: dharmendra ghidode

Published: 05 May 2020, 05:46 PM IST

बलौदाबाजार. कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन के बीच सोमवार से राज्य में शराब दुकानों से शराब की बिक्री प्रारंभ की गई। इसी के तहत सोमवार को जिला मुख्यालय बलोदा बाजार समय समूचे जिले की शराब दुकानों में शराब की बिक्री चालू हो गई। राज्य शासन ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए शराब बिक्री के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग और अन्य नियमों का पालन किए जाने के निर्देश दिए थे। परंतु शराब दुकान खुलते ही शराब खरीदने पहुंचे ग्राहकों की भीड़ ने सारे नियम ध्वस्त कर दिए। सोमवार दोपहर होते होते जिले की शराब दुकानों में शराब खरीदने के लिए लंबी कतार
लगी रहे।
चंद रोज पूर्व दो टाइम भोजन का प्रबंध न होने दाने-दाने को मोहताज होने वाले लोग, जो शासन-प्रशासन से भोजन प्राप्त करने की गुहार लगाने वाले तथाकथित निर्धन लोग सोमवार को शराब खरीदने की कतार में खड़े नजर आए। सामाजिक संस्था तथा अन्य लोगों से भोजन प्राप्त करने के लिए कतार में खड़े रहने वाले लोग सोमवार को शराब खरीदने के लिए कतार में खड़े नजर आए। शराब खरीदने की कतार में कई ऐसे लोग भी नजर आए जिन्हें नियमित रूप से निर्धन सहायता पेंशन तथा निराश्रित पेंशन मिलती है। शराब खरीदने के लिए पैसे की बाबत जब इनसे पूछताछ की गई तो इन्होंने किसी भी प्रश्न का जवाब देने से स्पष्ट रूप से मना कर दिया।
विदित हो गए सोमवार से राज्य शासन के निर्देशानुसार जिले में शराब दुकानों से शराब की बिक्री प्रारंभ हो गई। शराब दुकानों में कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु एहतियातन रूप से कुछ पुलिसकर्मियों की ड्यूटी भी लगाई गई थी परंतु शराब खरीदने पहुंचे ग्राहकों की भीड़ के आगे पुलिसकर्मी भी बेबस नजर आए। सोमवार सुबह नगर के रिश्ता रोड स्थित अंग्रेजी शराब दुकान की पड़ताल की गई तो शराब दुकान के सामने लगभग 200 लोगों की भीड़ शराब खरीदने के लिए कतार में खड़ी नजर आई। यहां यह बताना लाजमी है कि सोमवार को बलौदा बाजार का तापमान 41 डिग्री के आसपास था बावजूद इसके लोग शराब खरीदने के लिए भरी दोपहर में शराब दुकान के सामने डटे नजर आए।
किसी नियम का पालन नहीं
जिला प्रशासन ने शराब बिक्री के दौरान कतार में खड़े रहने दो ग्राहकों के बीच निश्चित दूरी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने और चेहरे को मास्क या गमछे से पूरी तरह ढ़के रहने का निर्देश दिया था बावजूद इसके शराब खरीदने के लिए उत्साही ग्राहकों में इन नियमों का कहीं कोई असर नजर नहीं आया। अधिकांश ग्राहक भीड़ की शक्ल में शराब दुकान के सामने डटे रहे वहीं बहुतेरे ग्राहकों ने मास्क भी नहीं लगाया था। इस प्रकार कुछ लोगों की लापरवाही शेष नगरवासियों तथा क्षेत्रवासियों के लिए बहुत भारी पड़ सकती है।

dharmendra ghidode
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned