scriptUnion bank of India's bank Cashier did scam in the name of Chhillar | चिल्हर के नाम पर कैशियर खेल गया ये बड़ा खेल, बैंक को लगाई करोड़ों रुपयों की चपत | Patrika News

चिल्हर के नाम पर कैशियर खेल गया ये बड़ा खेल, बैंक को लगाई करोड़ों रुपयों की चपत

मामला प्रियदर्शिनी नगर के यूनियन बैंक ऑफ इंडिया का है,जहां एक कैशियर सिक्कों का सहारा लेकर बड़ा खेल, खेल गया ।

रायपुर

Updated: June 07, 2022 01:02:26 pm

रायपुर. प्रियदर्शिनी नगर के यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में चिल्हर के नाम पर बैंक के कैशियर ने बड़ी राशि का गबन कर लिया । आरोपी का नाम किशन बघेल है। वह बैंक में वर्ष 2017 से प्रधान खजांची और क्लर्क के रूप से कार्यरत था। इसी दौरान उसने बैंक के पैसों में गड़बड़ करना शुरू कर दिया था।

Scam
Big scam,Big scam,Big scam

आरोपी कैशियर बैंक के कैश को सिक्कों में जमा बताकर साढ़े 5 करोड़ से ज्यादा डकार गया। बैंक अफसरों ने जब चेस्ट की जांच की। तब उतने सिक्के नहीं थे, जितना डेली इंटरनल बैलेंसशीट में दर्शाया गया था। कैशियर ने बैलेंसशीट में 5 करोड़ 59 लाख से अधिक राशि को 10 रुपए के सिक्कों के रूप में चेस्ट में होना बताया था, जबकि वास्तविक रूप में उतनी राशि नहीं थी। इसकी शिकायत पर पुलिस ने कैशियर के खिलाफ धोखाधड़ी और गबन का मामला दर्ज कर लिया है। कैशियर करीब दो माह से फरार है।

पुलिस के मुताबिक प्रियदर्शिनी नगर में यूनियन बैंक ऑफ इंडिया से 21 अप्रैल को बैंक अधिकारी करंसी चेस्ट को रेमीटेंस भेजने के लिए बैंक की नगद राशि की जांच की गई। इस दौरान नगद मिलान रजिस्ट्रर में 5 करोड़ 59 लाख 68 हजार 259 रुपए को 10 रुपए के सिक्कों के रूप में जमा बताया गया था। अधिकारियों ने स्ट्रांग रूम में सिक्कों के बॉक्स को खोला, तो उसमें उतने सिक्के नहीं थी। मतलब साढ़े पांच करोड़ से अधिक राशि को रजिस्ट्रर में सिक्कों के रूप में होना बताया गया था, लेकिन वास्तविक रूप में वो सिक्के थे ही नहीं। इससे बैंक अधिकारियों में हड़कंप मच गया। मामले की जांच में बैंक कैशियर किशन बघेल द्वारा जमा राशि को सिक्कों में होना बताकर गायब करना पाया गया।


ऐसे दिया चकमा
पुलिस के मुताबिक किशन बघेल बैंक में वर्ष 2017 से प्रधान खजांची और क्लर्क के रूप से कार्यरत था। इस दौरान बैंक में जमा होने वाली राशि को नगद मिलान रजिस्टर में 10 के सिक्कों के रूप में बढ़ाकर जमा दर्शाता था। डेली बैलेंसशीट में नोटों की जांच हो जाती थी, सिक्कों की गिनती नहीं हो पाती थी। सिक्कों को स्ट्रांग रूम में बॉक्स में रखा होना मान लिया जाता था। इस कारण इस फर्जीवाड़े पर आसानी से किसी का ध्यान नहीं गया। जैसे कि 24 मार्च को बैंक में नकदी शेष राशि 4 करोड़ 80 लाख 58 हजार 988 मात्र थी, जो 25 मार्च को बढकर 6 करोड़ 23 लाख 10 हजार 663 हो गई थी। सिक्कों के रूप में शेष राशि 24 मार्च को 3 करोड़ 46 लाख 59 हजार 348 थी, जो 25 मार्च को 5 करोड 61 लाख 10 हजार 333 थी। पूरी बढ़ोत्तरी 10 रुपए के सिक्कों के रूप में हुई थी। अंत में जांच करने पर स्ट्रांग रूम में केवल 1 लाख 39 हजार 099 के 39704 सिक्के ही मिले थे। कुल 5 करोड 59 लाख 88 हजार 259 रुपए के सिक्के नहीं थे।


सात खातों में जमा हुई राशि
कैशियर ने सात संदेहास्पद बैंक खातों में लाखों रुपए जमा किया था, इनमें जमा पर्ची में जमाकर्ता के हस्ताक्षर नहीं थे। जमा पर्ची में राशि नगद में थी और नगद मिलान रजिस्ट्रार में वही राशि सिक्कों के रूप में दर्शायी गई थी। इसके अलावा आरोपी ने अपनी रिश्तेदार रूपाली बघेल के बैंक खाते में 1 करोड़ 3 लाख रुपए से ज्यादा राशि जमा की थी। इसके अलावा दो अन्य खातों में साढ़े 10 लाख रुपए भी जमा किया है। बैंक अधिकारियों ने इन खातों को फ्रीज करा दिया है। आरोपी ने अपने सहयोगियों के माध्यम से एनईएफटी, पेटीएम व अन्य माध्यम से राशियों को निकाला है।

बिना सूचना के गायब है कैशियर
कैशियर किशन 25 मार्च से बैंक नहीं आ रहा है। बैंक अधिकारियों ने उससे संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन उसने अपना मोबाइल भी बंद कर दिया है और बैंक में भी किसी तरह की कोई सूचना नहीं दी है। इस बीच 21 अप्रैल को बैंक के लेन-देन का मिलान करने पर फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ।

रायपुर सीएसपी राजेश चौधरी ने कहा बैंक की जमा राशि को सिक्कों में दर्शा कर फर्जीवाड़ा किया गया है। साढ़े पांच करोड़ से अधिक का गबन होने की शिकायत पर कैशियर के खिलाफ अपराध दर्ज कर विवेचना में लिया गया है। आरोपी फरार है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: महा विकास अघाड़ी सरकार को बड़ा झटका, शिंदे खेमे में शामिल होंगे उद्धव के 8वें मंत्रीRanji Trophy Final: मध्य प्रदेश ने रचा इतिहास, 41 बार की चैम्पियन मुंबई को 6 विकेट से हरा जीता पहला खिताबBypoll results 2022 LIVE: UP की दोनों सीटों पर बीजेपी का कब्जा, झारखंड की मांडर सीट पर कांग्रेस को मिली जीतअगरतला उपचुनाव में जीत के बाद कांग्रेस नेताओं पर हमला, राहुल गांधी बोले- BJP के गुड़ों को न्याय के कठघरे में खड़ा करना चाहिएKarnataka: नाले में वाहन गिरने से 9 मजदूरों की दर्दनाक मौत, सीएम ने की 5 लाख मुआवजे की घोषणाSangrur By Election Result 2022: मजह 3 महीने में ही ढह गया भगवंत मान का किला, किन वजहों से मिली हार?सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद, फिर से सामने आया कनाडाई (पंजाबी) गिरोहMumbai News Live Updates: शिवसेना सांसद संजय राउत ने बागी विधायकों को जिंदा लाश बताया
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.