Unlock-01 में चार गुनी हो गयी है कोरोना संक्रमण की रफ्तार, आंकड़ों के जाल ने उड़ाई सरकारी तंत्र की नींद

पं. जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज रायपुर के पीएसएम विभाग की रिपोर्ट में भी दावा किया गया था कि आने वाले छह महीने में प्रदेश में 50 हजार लोग संक्रमित होंगे, बसरते टेस्टिंग बढ़ाई जाए। वर्तमान में मौजूदा क्षमता के मुताबिक रोजाना 3 हजार के करीब सैंपल जांचे जा रहे हैं।

By: Karunakant Chaubey

Updated: 22 Jun 2020, 07:09 PM IST

रायपुर. प्रदेश में कोरोना वायरस फैलाव उन सभी एनालिसिस को करीब-करीब सच साबित कर रहा है, जो इसे लेकर बीते दो माह से लगाए जा रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की 7 जून को आई एक अंदरूनी रिपोर्ट के मुताबिक प्रदेश में कोरोना की रफ्तार 103 मरीज प्रतिदिन बताई गई थी। मगर, 1 जून के बाद प्रदेश में रोजाना 80 मरीज मिल रहे हैं यानी रिपोर्ट से 23 मरीज कम। मगर, 80 मरीज भी अप्रैल-मई तक सुरक्षित कहे जा रहे राज्य के लिए बहुत बड़ा आंकड़ा है। अगर, रोजाना 80 मरीज भी मिले तो आने वाले 8 दिन में तीन हजार का आंकड़ा पार हो सकता है। आंकड़ों के इन जाल ने समूचे सरकारी तंत्र की नींद उड़ाए दी है।

इसके पहले पं. जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज रायपुर के पीएसएम विभाग की रिपोर्ट में भी दावा किया गया था कि आने वाले छह महीने में प्रदेश में 50 हजार लोग संक्रमित होंगे, बसरते टेस्टिंग बढ़ाई जाए। वर्तमान में मौजूदा क्षमता के मुताबिक रोजाना 3 हजार के करीब सैंपल जांचे जा रहे हैं। जबकि रिपोर्ट में कहा गया है कि 10 हजार सैंपल की रोजाना जांच होनी चाहिए, तब ज्यादा से ज्यादा संक्रमित मरीजों की पहचान हो सकेगी।

अन-लॉकडाउन लेकर आया मुसीबत-

1 जून के बाद कोरोना की बढ़ती रफ्तार की वजह ही अन-लॉकडाउन है। क्योंकि सभी बाजार, दुकानें और उद्योग खुल चुके हैं। लोग बाजारों में बगैर मॉस्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किए निकल रहे हैं। ये संक्रमण लेकर घर पहुंच रहे हैं और परिजनों को संक्रमित कर रहे हैं। इनमें हर तबके के लोग हैं।

विदेश से आने वाले मिल रहे पॉजिटिव-

पूर्व में स्वास्थ्य मंत्री ने 'पत्रिका' से बातचीत में कहा था कि पहले विदेश से कोरोना आया, फिर तबलीगी जमाती और फिर दूसरे में फंसे हमारे मजदूर लौटे, जिनमें वायरस मिला है। अब स्थिति यह है कि वायरस स्थानीय स्तर पर तो एक से दूसरे और दूसरे से तीसरे को तो फैल ही रहा है, मगर एक बार फिर से विदेश से लोगों की वापसी शुरू हो चुकी है। वहीं दूसरे राज्यों से आ रहे लोग भी बड़ी संख्या में संक्रमित पाए जा रहे हैं। सभी हमारे देश और प्रदेश के नागरिक हैं, उनकी वापसी नहीं रोकी जा सकती है। क्योंकि वे मुसीबत में हैं। यही प्रदेश में कोरोना का चौतरफा हमला है।

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned