upsc2020: वालीबॉल स्टेट प्लेयर रह चुके हैं 94 रैंकर आकाश

यूपीएससी में कवर्धा के आकाश् श्रीश्रीमाल को रुरल प्रोजेक्ट में काम करते वक्त लगा कि प्रशासन में काम करना चाहिए

By: Tabir Hussain

Published: 25 Sep 2021, 10:02 AM IST

ताबीर हुसैन @ रायपुर । यूपीएससी 2020 के नतीजों में दो एनाईटियन ने सफलता का परचम लहराया है। इसमें एनआईटी रायपुर से पासआउट कवर्धा के आकाश श्रीश्रीमाल ने देशभर में 94वीं रैंक हासिल की है। वे दिल्ली में रहकर तैयारी कर रहे थे। 5 बहनों में सबसे छोटे आकाश को यूपीएससी की प्रेरणा इंजीनियरिंग के दौरान रुरल प्रोजेक्ट पर वर्क करते हुए मिली थी। आकाश का यह दूसरा प्रयास था। उनके पिता गुलाब श्रीश्रीमाल किसान हैं और मम्मी लीला जैन एलआईसी एजेंट हैं। आकाश को वालीबॉल पसंद है वे स्टेट प्लेयर रह चुके हैं। इसी इंस्टीट्यूट से पासआउट महासमुंद के आकाश शुक्ला ने 427 रैंक प्राप्त की। वे हाल ही में सीजीपीएससी के जारी नतीजों में 9वें स्थान पर थे। हालांकि दोनों अभ्यर्थियों को आईएएस मिलने की उम्मीद कम है क्योंकि वे जनरल कैटिगरी से हैं।

ग्रुप डिस्कशन: मिनिमम मटेरियल और मैग्जिमम आउटपुट

स्ट्रैटजी पर श्रीश्रीमाल ने बताया, टॉपर्स के नोट्स और वीडियोज देखकर अपने हिसाब से स्ट्रैटजी बनाई। मैंने प्री और मेंस कम्बाइन तैयारी की। जनवरी के अंत तक मैं मेंस की तैयारी पूरी करना चाहता था। फरवरी में प्री की तैयारी शुरू की। कोविड के चलते प्री की तारीख 4 महीने आगे बढ़ी तो मैंने उस टाइम को अच्छे तरीके से यूटिलाइज किया। मेरा मेन फोकस प्रैक्टिस पर होता था। स्टडी के लिए मैंने मटेरियल कम यूज किए। दोस्तों संग ग्रुप डिस्कशन का फायदा मिला। इस तरह मिनिमम मटेरियल और मैग्जिमम आउटपुट मेरा फंडा था।

रुरल एरिए में प्रोजेक्ट किया तब मिली एडमिनिस्ट्रेशन की इंस्प्रिशन

इंस्प्रिशन के सवाल पर श्रीश्रीमाल ने कहा, एनआईटी में पहले साल के दौरान एडमिनिस्ट्रेशन की तरफ जरा भी रुझान नहीं था। यूएस से आई एनआईटी की एलुमिनी टीम के साथ मुझे रुरल इलाकों में जाने का मौका मिला। वहां से मुझे प्रशासन में काम करने की प्रेरणा मिली। उस प्रोजेक्ट से मैं खुश था इसलिए फाइनल ईयर में आते तक मैंने यूपीएससी क्रैक करने का ठान लिया।

इंटरव्यू में पूछे गए स्टार्टअप, सोशल और रुरल डेवलपमेंट पर सवाल

इंटरव्यू में डिटेल एप्लिकेशन फॉर्म के मुताबिक सवाल पूछे जाते हैं। मुझसे इंडिया में स्टार्टअप कल्चर, सोशल और रुरल डेवलपमेंट, अर्बन इलाके में एग्रीकल्चर माइग्रेन को कैसे कम करेंगे जैसी लाइन पर सवाल थे।

महासमुंद पटेवा के आकाश ने नालंदा लाइब्रेरी में पढ़कर पाया मुकाम

महासमुंद पटेवा के आकाश शुक्ला को एआईआर 427 मिली है। वे रायपुर में रहकर यूपीएससी की तैयारी कर रहे थे। उन्होंने बताया, पिता च्वाइस सेंटर चलाते हैं। बारहवीं तक की पढ़ाई नवोदय विद्यालय सराईपाली से हुई। इसके बाद 2015 में एनआईटी से बीटेक किया। डेढ़ साल एनआईटी में ही टीचिंग असिस्टेंट की जॉब की। हाल में जारी सीजीपीएससी के नतीजों में उनकी रैंक नौवीं थी।

upsc2020: वालीबॉल स्टेट प्लेयर रह चुके हैं 94 रैंकर आकाश
Tabir Hussain Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned