टीका संकट: रायपुर में प्रथम डोज वालों के लिए टीकाकरण बंद

Corona Vaccine in Chhattisgarh: राजधानी रायपुर समेत समूचे प्रदेश में टीका संकट गहरा गया है। रायपुर जिला प्रशासन तो टीके के कमी की देखते हुए आदेश जारी किर दिया है कि रविवार से आगामी आदेश तक पहला डोज नहीं लगेगा।

By: Ashish Gupta

Updated: 03 Jul 2021, 08:23 PM IST

रायपुर. राजधानी रायपुर समेत समूचे प्रदेश में टीका संकट गहरा गया है। रायपुर जिला प्रशासन तो टीके के कमी की देखते हुए आदेश जारी किर दिया है कि रविवार से आगामी आदेश तक पहला डोज नहीं लगेगा। कोविशील्ड और कोवैक्सीन के जितने भी डोज बचे हैं उन्हें सेकंड डोज के लिए रख दिया गया है, ताकि सेकंड डोज समय पर लग सके। मगर, यह भी चुनिंदा केंद्रों में ही होगी।

रायपुर जिला नोडल अधिकारी राजीव पांडेय ने बताया कि वैक्सीन की कमी के चलते यह निर्णय लेना पड़ रहा है। उधर, दूसरी तरफ राज्य के सेंट्रल कोल्ड स्टोरेज में वैक्सीन का सिंगल डोज भी नहीं है, जो वैक्सीन है वे केंद्रों में हैं। विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक शुक्रवार को 2.49 लाख डोज केंद्र से मिले थे और पूर्व में 1.10 लाख डोज बचे थे। शुनिवार को 1.40 लाख डोज लग गए। करीब 2.10 लाख डोज ही बचे हैं।

2 जुलाई को सबसे कम टीकाकरण
प्रदेश में कोरोना टीकाकरण की रफ्तार पर वैक्सीन की कमी आड़े आ रही है। स्थिति यह है कि 21 जून को नए बदलाव के साथ शुरू हुए टीकाकरण अभियान में 2 जुलाई को सबसे कम टीके लगे। शुक्रवार की रात 8 बजे तक कोविन पोर्टल में अपलोड हुए आंकड़ों के मुताबिक 78708 डोज ही लगे थे, जबकि 21 जून को 91172 डोज लगे थे।

जिलों के पास शुक्रवार को टीकाकरण के बाद 1.50 लाख डोज ही बचे थे, हालांकि शुक्रवार को केंद्र सरकार ने 249140 डोज की सप्लाई कर दी। यह स्टॉक भी जिलों को भेजा जा चुका है। विभागीय अधिकारियों के मुताबिक अब करीब 4 लाख डोज बचे हैं। अगर, 1 लाख डोज रोजाना लगते हैं तो 4 दिन का ही स्टॉक है।

उधर, राज्यों को हुए टीकों के बांटवारे के आधार पर छत्तीसगढ़ को जुलाई में 24 लाख डोज मिलेंगे, जिनमें 25 प्रतिशत निजी अस्पतालों दिए जाएंगे। यानी स्वास्थ्य विभाग को 75 प्रतिशत 18 लाख डोज मिलेंगे, जिनमें हेल्थ केयर वर्कर, फ्रंट लाइन वर्कर और 18 से अधिक आयुवर्ग के सभी नागरिकों को टीके लगाए जाने हैं। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर 1 करोड़ डोज की मांग की थी, यह भी कहा था कि अगर वे इतने डोज मुहैया करवा देते हैं तो एक महीने में सभी नागरिकों का टीकाकरण राज्य सरकार पूरा कर लेगी।

Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned