बारिश के बाद सब्जियों के दाम छू रहे आसमान, गरीबों की थाली से हरी सब्जी गायब

Vegetable Price Hike: हरी सब्जियों के दाम में अचानक आई तेजी (Vegetable Price Rise) से मध्यम और गरीब परिवारों की थाली में सब्जी लगभग गायब सी हो गई है।

By: Ashish Gupta

Published: 20 Jul 2019, 07:15 PM IST

रायपुर/धरसींवा. वैसे तो महंगाई की मार से हर कोई परेशान है। लेकिन इन दिनों जिस तरह से सब्जी के दामों में बढ़ोतरी हो रही है इससे गरीबों की थाली से हरी सब्जी गायब हो गई है। वहीं इस बढ़ोतरी से घरों का बजट भी बिगड़ता चला जा रहा है।

गौरतलब है कि पिछले दो सप्ताह से सब्जी के दामों में अचानक उछाल देखने को मिल रहा है। इसके चलते आमलोग काफी परेशान नजर आ रहे हैं। वैसे तो बरसात के मौसम में सब्जी के दाम में इजाफा तो होता ही है लेकिन इस साल जिस तरह से अचानक दाम में बढ़ोतरी हुई है इससे लोग थोड़ा चिंतित जरूर है।

राशनकार्ड के नवीनीकरण को लेकर मिल रही ये सुविधा, कार्डधारक जरूर पढ़ें ये खबर

लोग आलू प्याज के सहारे
हरी सब्जियों के दाम में अचानक आई महंगाई से मध्यम और गरीब परिवारों की थाली में सब्जी लगभग गायब सी हो गई है। लोग आलू प्याज के सहारे पेट भरने पर मजबूर हैं। आमतौर पर हरी सब्जी जो 10 से 15 किलो मिल जाती थी, लेकिन वहीं अब 50 से 60 रुपए से नीचे नहीं मिल रही है।

किलों की जगह अब पांव से ही संतुष्ट
बरसात का मौसम आमतौर पर हरी सब्जियों में महंगाई तो लेकर आती है। लेकिन इस बार की महंगाई का असर रसोई तक पहुंच गई है। 10 से 5 रुपए किलो में मिलने वाला टमाटर 50 रुपए किलो बिक रहा है। कल तक एक-एक किलो टमाटर खरीदने वाले लोग अब पांव से ही खुद को संतुष्ट कर रहे हैं।

राशन दुकान में धांधली का बड़ा खुलासा, वीडियो में देखिए एेसे होता है पूरा खेल

बाजार में कम हुए खरीददार
जहां महंगाई ने रसोई में आग लगाई है वहीं अधिकांश लोग सब्जियों के दाम पूछ कर ही संतोष कर ले रहे हैं। सब्जी में बढ़ती महंगाई के कारण अब बाजारों में लोगों की भीड़ कम हो रही है। एक ओर भरपूर खरीददार ना मिलने के कारण सब्जी व्यापारियों की सब्जियां भी पड़े पड़े खराब हो रही है। सब्जी महंगाई का कारण बताया जा रहा है कि ग्रामीण क्षेत्र में उगने वाली सब्जियां बाजार में नहीं पहुंच रही है। ग्रामीण किसान जो सब्जियां उगाते हैं, वे खरीफ फसल की जुताई बुआई आदि में व्यस्त हैं। vegetable Price Hike

Show More
Ashish Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned