ट्रक हड़ताल के बावजूद थोक में सब्जियां सस्ती, लेकिन दुकानदार बेच रहे महंगी

ट्रक हड़ताल के बावजूद थोक में सब्जियां सस्ती, लेकिन दुकानदार बेच रहे महंगी

Deepak Sahu | Publish: Jul, 28 2018 11:12:06 AM (IST) Raipur, Chhattisgarh, India

थोक बाजार में कई सब्जियों की कीमतें धड़ाम हो गई, लेकिन इसका असर फुटकर बाजार में नहीं देखा गया।

रायपुर. छत्तीसगढ़ में ट्रक हड़ताल की वजह से थोक बाजार में एक-दो दिन पहले बड़ी मात्रा में कर्ई ट्रक सब्जियों के ऑर्डर दे दिए गए, ताकि बाजार में ऊंची कीमतें का फायदा उठाया जा सके।

बाजार में यह अफवाह गर्म रही कि हड़ताल की वजह से ट्रकों को रोका जा रहा है, जिसकी वजह से शुक्रवार को बाजार में नीलामी 50 से 70 फीसदी घट गई। इसका असर यह रहा कि थोक बाजार में कई सब्जियों की कीमतें धड़ाम हो गई, लेकिन इसका असर फुटकर बाजार में नहीं देखा गया। फुटकर बाजार में अब भी ट्रक हड़ताल को आड़ बनाकर मुनाफाखोरी की जा रही है।

बढ़ने की बजाय कम हुई कीमतें
शुक्रवार को टमाटर की कीमतें अफवाह की वजह से बढऩे की बजाय और कम हो गई। हड़ताल की वजह से टमाटर की कीमतें जहां ६०० रुपए प्रति कैरेट (25 किलो) में बिक रही थी, वहीं यह कीमतें गिरकर ५०० रुपए प्रति कैरेट यानी थोक में 20 रुपए प्रति किलो पर पहुंच गई। थोक सब्जी कारोबारियों का कहना था कि बाजार में अफवाह गर्म थी कि शुक्रवार से गाडिय़ों का आना बंद हो जाएगा, लिहाजा एक दिन पहले बाजार में ८० से १०० टन टमाटर का स्टॉक मंगा लिया गया था, लेकिन जैसी उम्मीद थी कि गाडिय़ां नहीं आएगी, इसके उलट बाजार में गाडिय़ां आनी शुरू हो गईं।

ट्रांसपोर्टरों को मिलेगी राहत
दालें थोक में 200 रुपए क्विंटल महंगी : दालें थोक में प्रति क्विंटल 100 से 150 रुपए किलो महंगी हो चुकी है। शक्कर १ रुपए किलो महंगी हो चुकी है। इसको कारण बताकर फुटकर बाजार में मुनाफाखोरी की जा रही है। दालें थोक में 200 से 300 रुपए क्विंटल व शक्कर 2 रुपए किलो बढ़ाकर बताया जा रहा है। 25 फीसदी ओवरलोड से मिलेगी राहत : हड़ताल से जहां फुटकर बाजार में महंगाई का आलम देखा जा रहा है, वहीं केंद्र सरकार द्वारा ट्रांसपोर्टरों को दिए गए 25 फीसदी ओवरलोड छूट मामले में ट्रांसपोर्टरों को राहत मिलेगी।

आवक भरपूर
डूमरतराई थोक सब्जी कारोबारियों ने ट्रांसपोर्टरों की इस हड़ताल को समर्थन दे दिया है, लेकिन प्रदेश के भीतर जिलों से आने वाली छोटी गाडिय़ों का आना जारी है। थोक सब्जी बाजार के अध्यक्ष श्रीनिवास रेड्डी ने कहा कि हमने हड़ताल को समर्थन दिया है, लेकिन लोकल आवक भरपूर है, थोक बाजार में सब्जियों की कीमतें उतनी महंगी नहीं है, जितनी कि फुटकर बाजार में बेची जा रही हैं।

सख्ती की चेतावनी
चिंतित छग मेटाडोर ट्रांसपोर्ट एवं ऑनर्स एसोसिएशन ने चेतावनी दी है कि यदि चक्काजाम जाम के बाद भी वाहन चले तो अब मालवाहक वाहन चालकों का मुंह काला किया जाएगा।

4 लाख ट्रक प्रदेश में 75 हजार ट्रक राजधानी में90 से 95 फीसदी समर्थन आंदोलन का
कीमतों पर एक नजर
थोक फुटकर
टमाटर 18-20 30-40
फूल गोभी 18-20 40-50
पत्तागोभी 10-12 20
मुनगा 20-22 40-50
करेला 20 40-60
लौकी 10-12 20
कोचई 15-18 40
खीरा 8-10 20
बैगन 18-20 40
पत्ता गोभी 10-12 20
आलू 15-18 25-30
प्याज 20-25 30

रायपुर के थोक सब्जी बाजार के अध्यक्ष, श्री निवास रेड्डी ने बताया थोक बाजार में कीमतें में उतनी महंगाई नहीं है, जितनी कि फुटकर बाजार में देखी जा रही है। हड़ताल की वजह से कारोबारियों ने बड़ी मात्रा में सब्ज्यिां मंगा ली थी, लेकिन खरीदार नहीं मिलने की वजह से कई सब्जियों की कीमतें गिर गई।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned