scriptvillager do not go to hospital in fear of elephants, more than 6 died | हाथियों का खौफ इतना कि गांव में कोई बीमार पड़ा तो डर से नहीं जाते अस्पताल | Patrika News

हाथियों का खौफ इतना कि गांव में कोई बीमार पड़ा तो डर से नहीं जाते अस्पताल

- बारिश के दिनों में टापू जैसी हो जाती है स्थिति, हाथियों ने आधा दर्जन से ज्यादा छीनी है जिंदगी.

रायपुर

Published: April 16, 2022 04:43:53 pm

रायपुर/ अम्बिकापुर/ प्रतापपुर. प्रतापपुर वन परिक्षेत्र के 10 किलोमीटर दूर पर स्थित ग्राम सिंघरा दशकों से हाथियों का उत्पात झेल रहा है। गज आतंक की दहशत कुछ ऐसी है कि अगर गांव में कोई बीमार पड़ गया तो उसे इलाज के लिए अस्पताल ले जाने से भी लोग कतराते हैं, क्योंकि जिस जंगल के रास्ते से गुजरना होता है, वहां हाथियों का डेरा रहता है। सबसे अधिक परेशानी बारिश के मौसम में होती है। इस मौसम में रात में तो लोगों का आवागमन पूरी तरह से बंद रहता है।

hathi.jpg

सूरजपुर जिले के प्रतापपुर मुख्यालय से लगे ग्राम सिंघरा की आबादी 1200 के करीब है। यह गांव चारों ओर से जंगल से घिरा है। इस कारण यह हाथियों का प्रमुख विचरण क्षेत्र है। दिन में तो इस गांव के लोग थोड़ी राहत से रहते हैं, लेकिन शाम ढलते ही हाथियों का दल भोजन की तलाश में गांव की ओर रुख करता है। इसकी वजह से यहां कई बार हाथी-मानव द्वंद्व की घटनाएं सामने आती हैं। ग्रामीणों के अनुसार पांच साल के अंदर 6 लोगों को हाथियों ने मार डाला है।

इलाज में होती है दिक्कत
सिंघरा में महिलाओं की डिलीवरी व किसी के अत्यंत बीमार पडऩे पर उन्हें धरमपुर या प्रतापपुर जाना पड़ता है। ऐसे में हाथियों का जिस दिन जंगलों में डेरा रहता है, मरीजों को अस्पताल ले जाने में काफी परेशानी होती है। कई लोग डर से अस्पताल नहीं जाते हैं। ग्राम सिंघरा में उप स्वास्थ्य केंद्र आधा अधूरा ही बना है।

बरसात में पड़ती है दोहरी मार
ग्रामीणों को सबसे अधिक परेशानी बरसात के मौसम में होती है। आसपास के नदी-नाले उफान पर होने व हाथियों के उत्पात से स्थानीय निवासी दोहरी मार झेलते हैं। हाथियों के खौफ से जंगल के रास्ते आवागमन पूरी तरह से बंद हो जाता है व नदी-नाले के उफान पर रहने के कारण गांव पूरी तरह से टापू बन जाता है।

यह ग्राम काफी दशकों से हाथियों का उत्पात झेल रहा है। आए दिन यहां हाथियों द्वारा फसलों का नुकसान और जानमाल का नुकसान किया जा रहा है।
- देवली आयाम, सरपंच, सिंघरा

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

सेना का 'मिनी डिफेंस एक्सपो' कोलकाता में 6 से 9 जुलाई के बीचGujrat कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का विवादित बयान, बोले- मंदिर की ईंटों पर कुत्ते करते हैं पेशाबRajya Sabha Election 2022: राजस्थान से मुस्लिम-आदिवासी नेता को उतार सकती है कांग्रेस'तुम्हारे कदम से मेरी आँखों में आँसू आ गए', सिंगला के खिलाफ भगवंत मान के एक्शन पर बोले केजरीवालसमलैंगिकता पर बोले CM नीतीश कुमार- 'लड़का-लड़का शादी कर लेंगे तो कोई पैदा कैसे होगा'Women's T20 Challenge: वेलोसिटी ने सुपरनोवास को 7 विकेट से हरायानवजोत सिंह सिद्धू को जेल में मिलेगा स्पेशल खाना, कोर्ट ने दी अनुमतिSSC घोटाले के बाद अब बंगाल में नर्सों की नियुक्ति में धांधली, विरोध प्रदर्शन के बीच पुलिस और स्टूडेंट्स में हुई झड़प
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.