scriptvillagers extracting gold from river in kanker chhattisgarh | सदियों से चल रहा यहाँ नदी से सोना निकालने का काम, KGF मूवी की बाद मशहूर हुआ ये गाँव | Patrika News

सदियों से चल रहा यहाँ नदी से सोना निकालने का काम, KGF मूवी की बाद मशहूर हुआ ये गाँव

इस गाँव के लोग बरसात भर खेती किसानी करतें हैं फिर जिअसे ही बरसात खत्म होता है वे नदी के रेत से सोना निकलने के लिए चले जाते है. वैज्ञानिको का कहना है की नदी अलग अलग चट्टानों और पहाड़ो से होकर गुजरती है जिससे घर्षण पैदा होता है. जिसके कारन रेत में सोने के कर्ण दिखाई देते है.

रायपुर

Updated: September 20, 2022 09:54:49 am

कांकेर. छत्तीसगढ़ के नदी भी उगल रही सोना... छत्तीसगढ़ के कांकेर जिला में कोयलीबेड़ा ब्लॉक कोटरी संगम में कुछ ऐसा ही हो रहा है जहाँ संगन नदी पर यहाँ के ग्रामीण सोना निकलते हैं. इस संगन नदी के रेत में सोना देखा जा सकता है. इस सोने को निकालकर कर आस पास के ग्रामीणों का घर चलता है. यह देश की एकमात्र नदी सैकड़ों वर्षों से सोना उगल रही है.

KGF मूवी के बाद आया चर्चा में
इस गाँव के लोग बरसात भर खेती किसानी करतें हैं फिर जिअसे ही बरसात खत्म होता है वे नदी के रेत से सोना निकलने के लिए चले जाते है. वैज्ञानिको का कहना है की नदी अलग अलग चट्टानों और पहाड़ो से होकर गुजरती है जिससे घर्षण पैदा होता है. जिसके कारन रेत में सोने के कर्ण दिखाई देते है जिसे ग्रामीण छान कर अलग निकल लेते है. यह गाँव फिल्म KGF के बाद बहुत प्रचलित हो गया. और हर जहग चर्चा का विषय बन गया.

सेकड़ों सालो से चलते आ रहा ये काम
इस गाँव में ग्रामीण पिछले सेकड़ों सालों से यह सोना निकालने का काम जारी रखे हुए हैं. ग्रामीण नदी में पाए जाने वाले मिट्टी और रेत को लकड़ी के बर्तन में धोते हैं. फिर धुलाई के बाद सोने के छोटे छोटे कर्ण को इकट्ठा किया जाता है. फिर सोने को पिघला कर रूप और आकार दिया जाता है. उसे क्वारी सोना कहा जाता है. क्वारी सोना सबसे शुद्ध सोना कहा जाता है. यह सोना निकालने का काम कैसे वर्षों से किया जा रहा है.

नहीं है ग्रामीणों को ज्यादा जानकारी
इस काम में जुटे ग्रामीणों को सोने से जेवरात बनाने की जानकारी नहीं है. नदी से जो सोना निकलता है वो बहुत ही High quality का सोना होता है. परन्तु ग्रामीणों को ज्यादा जानकारी न होने के कारण वे इसे मामूली दाम में बेच देते है. सोना बिक्री रोज़ के खर्चो के लिए किया जाता है. गाँव वालो को अधिक फायदा नहीं होता है.

kgf.jpg

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए KN त्रिपाठी का नामांकन पत्र रद्द, मल्लिकार्जुन खड़गे और शशि थरूर में मुकाबलाBihar News: बिहार में और सख्त होगी शराबबंदी, पहली बार शराब पीते पकड़े गए तो घर पर चस्पा होंगे पोस्टर, दूसरी और तीसरी बार में मिलेगी ये सजाMaharashtra: उद्धव ठाकरे के करीबी मिलिंद नार्वेकर क्या थामेंगे शिंदे गुट का दामन, सीएम ने दी पहली प्रतिक्रियाINDW vs SLW, Asia Cup 2022: भारत ने श्रीलंका को 41 रन से हराया, जेमिमा रॉड्रिग्ज की शानदार पारीOMG! शुरू हो चुका है तीसरा विश्वयुद्ध, अमरीकी राष्ट्रपति के पूर्व सलाहकार की चेतावनीPFI की हिटलिस्ट में शामिल RSS के 5 नेताओं को मिली Y श्रेणी की सुरक्षा, अब CRPF के कमांडो रहेंगे साथचीन के खिलाफ दिल्ली में तिब्बती युवाओं का प्रदर्शन, मांगी आजादीकांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए KN त्रिपाठी का नामांकन पत्र रद्द, मल्लिकार्जुन खड़गे और शशि थरूर में मुकाबला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.